हमें चाहने वाले मित्र

02 अक्तूबर 2020

,हाथरस में बलात्कार के बाद ,, हत्या की शिकार दलित पीड़िता के शव को आधी रात को , री पोस्टमार्टम के डर से , पुलिस की गुंडागर्दी से ग़ैरक़ानूनी तरीके से ,

खास रिपोर्ट,,,,हाथरस में बलात्कार के बाद ,, हत्या की शिकार दलित पीड़िता के शव को आधी रात को , री पोस्टमार्टम के डर से , पुलिस की गुंडागर्दी से ग़ैरक़ानूनी तरीके से ,, अंतिम संस्कार कर देने का राज़ अब समझ में आया जब ,फोरेंसिक जांच रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं होने का शगूफा चला है ,, बात साफ़ है ,योगी सरकार आरोपियों को फांसी की सज़ा से बचाने की जुगाड़ में है ,क्योंकि सभी जानते है ,,के बलात्कार के बाद हत्या मामले में ,, निर्भया की तर्ज़ पर ,, अभियुक्तों को फांसी की सज़ा ही एक मात्र विकल्प है , आखिर कोन है , आरोपी , आरोपियों का भाजपा से ,भाजपा के नेताओं से , अधिकारीयों से क्या संबंद्ध है ,पत्रकार तो इस मामले में जांच नहीं करेंगे , क्योंकि यह पब्लिक है जानती है ,,, इसके पहले भी योगी सरकार एक विधायक को बचाने की कोशिश में रही , आखिर गवाह की मोत हुई ,इसके पूर्व एक मंत्री सांसद जी के खिलाफ बलात्कार की फरियादिया को ही आरोपी बनाकर , गिरफ्तार कर लिया गया ,, ऐसी कई घटनाये है ,जिसमे पुलिस और अपराधी की सांठ गाँठ के कई किससे है , भाजपा की सोशल मीडिया की वेतन भोगी टीम , और मिडिया से सांठ गाँठ वाले प्रवक्ता ,,,उत्तरप्रदेश की बेटियों के अत्याचार ,फिर उनके गवाहों पर हमले ,,रिपोर्ट नहीं लिखकर उलटे धमकाने के मामलों की बात तो नहीं करते ,, ऐसे गंभीर मामलों में बेटियों के हक़ की बात नहीं करते ,सिर्फ नैतिकता बेच कर ,,पार्टी बाज़ी कर , कांग्रेस , कांग्रेस , राहुल राहुल ,प्रियंका प्रियंका , करने लगते है , लेकिन देश ऐसे बेटियों के बलात्कार , हत्या के बावजूद भी बेशर्मी दिखाने वालों के चेहरे देख रहे है ,ऐसे वेतन भोगी लोग ,चाहे ,दुष्कर्मियों की ,दुष्कर्मी की पैरोकार सरकार ,,की पैरवी कर ,, लाखों करोडो रूपये कमा ले , लेकिन ज़रा अपने घर पर अपनी माता जी से ,बहन जी से ,भाभी जी से ज़रूर राय कर लेना के वोह इस तरह से कुतर्कों के माध्यम से उत्त्तर प्रदेश की योगी सरकार का पाप छुपाने , उसे भटकाने ,,के प्रयासों में जुटे है ,,यक़ीनन वोह तृम्हें गालियां बकेंगी ,,अरे थोड़ा सुधरो ,, बेटियों न दलित होती है ,न हिन्दू मुस्लिम होती है , ,इनके साथ अत्याचार करने वाले ,,न हिन्दू होते है , न मुस्लिम होते है ,सिर्फ राक्षस होते है ,यह न भाजपा के है ,न कांग्रेस के ,न किसी दूसरी पार्टी के ऐसे लोग जो बेटियों को ,,प्रताड़ित कर ,बलात्कार कर ,मार देते है ,उनके साथ किसी हमदर्दी ,,आप हो ,में रहूं ,कोई भी रहे सभी को एक राय होकर ऐसे लोगों को सज़ा दिलवाना चाहिए ,अरे उत्तरप्रदेश में सबूत नष्ट करने के लिए बलात्कार की शिकार , हत्या जिनकी हुई है , आधी रात को उनके शव जलाकर सुबूत नष्ट करने वाली योगी सरकार के चमचों ,, बेटी का दर्द जानो ,, बेटियों के साथ इन्साफ के बारे में सोचो , खेर तुमन से नैतिकता की क्या बात करे ,तुम तो कुर्सी के लिए कुछ भी करोगे , ;लेकिन बात बेटियों की इज़्ज़त , अस्मत ,भारत की अस्मिता ,ससंकृति , मान सम्मान की है ,प्लीज़ ,,अंदर के इंसान को जगाओ ,, एक बार सिर्फ्र एक बार ,उत्तर प्रदेश की बेटियों के अत्याचार के क़िस्से देखो ,,विधायक जी जिन्होंने ,बेटी के परिवार के गवाह की हत्या करवा दी ,,बेटी पर हमले करवाए , सांसद मंत्री जी ,जिन्होंने पीड़िता को ही मुल्ज़िम बनवा कर गिरफ्तार करवा दिया ,,,कोई भी राजय हो ,राजस्थान हो ,छत्तीसगढ़ हो ,बिहार हो ,दिल्ली हो ,महाराष्ट्र हो ,,उत्तरप्रदेश हो ,कर्नाटक हो ,बेटियां तो सुरक्षित होना ही चाहिए ,, कांग्रेस भाजपा की गुलामी करते रहना ,, पेड़ वर्कर , बनकर , वेतनभोगी बनकर ,, सोनिया , प्रियंका ,राहुल के लिए बकवास करते रहना ,, लेकिन बेटियों की अस्मत का सवाल है प्लीज़ अपने ज़मीर को टटोलो ,,, घर पर ही भाभी जी ,बेटियों , अम्मीजान से पूंछ लीजिये क्या आप ,,योगी के इस कृत्य की पैरवी कर बेटियों के नाइंसाफी नहीं कर रहे ,, इलज़ाम ,राहुल ,प्रियंका ,,राजस्थान क्यों नहीं आते ,अरे राजस्थान आपके लिए खुला है न ,योगी ने आधी रात को दो दलित पीड़िताओं के शवों का अंतिम संस्कार किया , योगी का कलेक्टर पीड़िता के परिवार को धमका रहा है ,योगी की पुलिस राहुल गांधी ,, प्रियंका पर लाठीचार्ज कर रही है ,, फोरेंसिक रिपोर्ट में बलात्कार से इंकार किया जा रहा है ,, क्या ऐसा राजस्थान में हुआ ,अगर हुआ है तो भाजपा के पच्चीस सांसद राजस्थान से है ,,,,,,पूर्व मुख्यमंत्री महिला है ,,,प्रतिपक्ष नेता है ,, लोकसभा अध्यक्ष ,,आधा दर्जन केंद्रीय मंत्री , मंत्री दर्जा ,पूर्व केंद्रीय मंत्री है ,,भाजपा के प्रभारी है ,,राष्ट्रिय महासचिव , उपाध्यक्ष ,है ,वोह क्यों पीड़ित महिलाओं के पक्ष में सबूतों के साथ आगे नहीं आते ,,, क्योंकि ऐसा कोई मामला है ही नहीं सिर्फ ,एक मामला कोटा में अलबत्ता है जिसमे ,, पीड़िता के मुक़दमा दर्ज होते ही , आपकी पार्टी के लोग ,ज़मीन आसमान नापने लगे ,और आखिर में उस पीड़िता की आवाज़ एक एफ आर के नाम पर दबा कर ही दम लिया ,हिम्मत है तो कोटा ,हाड़ोती ,राजस्थान ,पुरे देश में ऐसे हज़ारों हज़ार मामले है जिनमे पीड़िता की तरफ से बलात्कार की शिकायत होती है ,और आप जैसे प्रभावशाली ठेकेदार ऐसी बेटियों की आवाज़े समझौते के नाम पर ,रिश्तों के नाम पर ,,खरीद फरोख्त के नाम पर ,,दबा देते है ,हज़ार मामले दर्ज होते है ,,तो 950 से भी अधिक मामलों में या तो एफ आर लगती है , या फिर अदालत में लड़की को अपने बयानों से मुकरने पर मजबूर होना पढ़ता है ,,यह परम्परा हमे हमारे देश की बदलना होगा ,,, अदालतों में ऐसे मामलों की सुनवाई , फरियादिया द्वारा रिपोर्ट लिखकर ,बयांन बदलने के कारणों , लोभ , लालच , प्रलोभन , धमकियों के मामलों के बारे में खोज करके ऐसे मामले बनाने वालों को सज़ा दिलवाना होगी ,,दोस्तों ,देश के बारे में सोचो ,, देश वासियों ,के बारे में सोचो ,समाज के बारे में सोचो ,संस्कृति के बारे में सोचो ,यह नहीं के सोशल मीडिया पर टीम बनाकर ,वेतनभोगी , बनकर ,थोड़ा सा लाभ लेकर ,प्रतिपक्ष की महिला नेताओं के लिए मानमर्दन करने की बकवासबाजी खुले रूप से करते रहो ,,ज़रा अपने ज़मीर को झिंझोड़ो , , लोट आओ हमारे देश की संस्कृति , महिलाओं के सम्मान , संरक्षण की परम्परा की तरफ ,, पार्टियों का क्या ,सरकारों का क्या , आती है , जाती है ,,लेकिन किसी भी महिला के सम्म्मान से बढ़ी कोई पार्टी ,,कोई सरकार , कोई भी पुरस्कार हरगिज़ , हरगिज़ नहीं हो सकता ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...