हमें चाहने वाले मित्र

25 जुलाई 2021

कभी हार नही मानने वाले युवा पत्रकार बद्री प्रसाद गौतम का है आज जन्म दिन

 

कभी हार नही मानने वाले युवा पत्रकार बद्री प्रसाद गौतम का है आज जन्म दिन के डी अब्बासी कोटा जुलाई। मंगलवर्धनी समाचार पत्र समहू के चेयरमैन, हाड़ौती पत्रकार संघ के अध्यक्ष व अखिल भारतीय गुजर्रगौड महासभा के युवा राष्ट्रीय प्रवक्ता बद्रीप्रसाद गौतम का आज जन्मदिन है जिसे बड़ी धूम धाम से उनके निवास पर मनाया जा रहा है। बद्रीप्रसाद गौतम को पत्रकार साथी,सामाजिक कार्यकर्ता, राजनीतिक, पुलिस के अफसर और राज्य कर्मचारी,व्यापारी
बधाई
देकर उनकी लम्बी आयु की कामना कर रहे है। युवा पत्रकार बद्रीप्रसाद गौत्तम यारो के यार और दोस्तो के दोस्त है। गौतम अपने दोस्तों और चाहने वालो पर जान कुर्बान करने वाले है। पत्रकार बद्रीप्रसाद गौतम बड़े दिल के मालिक है अपने मित्रों पर दिल खोल कर खर्च करते है। पत्रकार गौतम अपने मित्रों के अलावा भी और कोई उनके पास पहुंच जाए तो भी वह किसी भी काम के लिये इनकार नही करते है। पत्रकार बद्रीप्रसाद गौतम कभी भी अपने मित्रों को पीठ नही दिखाते है । वह हमेशा अपने मित्रों के साथ खड़े नजर आते है। बद्रीप्रसाद गौतम यू तो कई खूबियों के मालिक है लेकिन उनकी एक खूबी लोगो को खूब भाती है और वह खूबी है कि वह कभी भी किसी भी कीमत पर अपनी हार नही मानते है और अपने मुकाम को हर हाल में हासिल करते है। पत्रकार बद्रीप्रसाद गौतम दिल के राजा है वह अपने मन मे किसी के प्रति कोई दुर्भावना नही रखते है लेकिन जो बात उनको बुरी लगती है उसको तुरन्त सबके सामने कहने में भी नही चूकते है। बद्रीप्रसाद लोगो को सम्मान भी खूब देते है वह हर खुशी में लोगो को सम्मान देने का काम करते है इसलिये उनकी पहचान पुलिस अफसर,व्यापारियो, समाजिक कार्यकर्ताओ, राजनेताओ में है। बद्रीप्रसाद पत्रकारों के हर काम के लिये तैयार रहते है।
उनके जन्मदिन पर वरिष्ठ पत्रकार और लेखक डॉक्टर पी के सिंघल, स्वतन्त्र पत्रकार के डी अब्बासी, भारत की महिमा के प्रधान संपादक डी एन गांधी, संपादक बृजराज सिंह सोलंकी, सहायक संपादक कादर खान, एवन न्यूज़ चैनल के ब्यरो चीफ प्रणय विजय, ओमेंद्र सक्सेना , दैनिक राष्ट्र के वाचन के सम्पादक और प्रेस क्लब अध्यक्ष गजेंद्र व्यास, दैनिक जांबाज पत्रिका के संपादक सलीमुर्रहमान खिलजी,वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार अनिल भारद्वाज, कोटा ब्यरो के सम्पादक कय्यूम अली, वरिष्ठ पत्रकार एडवोकेट अख्तर खान अकेला, न्यूज़ 18 के ओम प्रकाश, वरिष्ठ पत्रकार ओम कटारा, दैनिक कलम का अधिकार कोटा संकरण के सम्पादक के एल जैन,वरिष्ठ पत्रकार धीरज गुप्ता तेज, वरिष्ठ पत्रकार ओम कटारा, दैनिक राष्ट्रदूत के स्थानीय संपादक श्याम रोहिड़ा, वरिष्ठ और स्वतंत्र पत्रकार सुनील माथुर, वरिष्ठ और स्वतंत्र पत्रकार सुबोध जैन,वरिष्ठ पत्रकार सुधींद्र गोड, चम्बल की गोद के संपादक सुभाष देवड़ा, यंग एचीवर न्यूज़ के पत्रकार यतीश व्यास, दैनिक राजमार्ग के स्थानीय संपादक योगेश सेन,नफा नुकसान के स्थानीय संपादक नीलेश शर्मा, दैनिक समाचार जगत के कोटा ब्यरो चीफ चन्द्र प्रकाश चंदू,दैनिक इवनिग न्यूज़ के संपादक मनोहर पारीक , टीवी 18 के ब्यरो चीफ शाकिर अली, वरिष्ठ पत्रकार और दैनिक सांध्य ज्योति दर्पण के ब्यरो चीफ योगेंद्र योगी, एवन न्यूज़ चनेल के रामगंज मंडी के रिपोर्ट साबिर भाई,न्यूज़ न्यूज़ नेशन और आर भारत न्यूज़ चैनल के ब्यरो चीफ न्याज मोहम्मद, पत्रकार यतीश व्यास सहित सभी सेकड़ो कलमकार ने
बधाई
और मुबारकबाद दी है।

स्मार्ट सिटी के साइकिल फ़ॉर चेंज कार्यक्रम में सूचना केंद्र के अफसर उप निदेशक हरिओम चेंदल ने साइकिल चलाकर उत्साह से भाग लिया

 

स्मार्ट सिटी के साइकिल फ़ॉर चेंज कार्यक्रम में सूचना केंद्र के अफसर उप निदेशक हरिओम चेंदल ने साइकिल चलाकर उत्साह से भाग लिया
कोटा जुलाई।
कोटा स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा इंडिया साइकिल फॉर चेंज चैलेंज के अंतर्गत आज प्रात 7 बजे सूचना केंद्र से माला फाटक को जोड़ने वाली माला रोड पर साइकिल रैली के रूप में ट्रायल किया। जिसमे शहर के नागरिकों ने उत्साह पूर्वक भाग लेकर साइकलिंग ट्रक निर्माण के लिए सुझाव दिए।*स्मार्ट सिटी के साइकिल फ़ॉर चेंज कार्यक्रम में सूचना केंद्र के अफसर उप निदेशक हरिओम चेंदल ने भी साइकिल चलाकर उत्साह से भाग लिया
नगर निगम, कोटा दक्षिण के उपमहापौर पवन मीणा व स्मार्ट सिटी कोटा के अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी एवं आयुक्त नगर निगम उत्तर वासुदेव मलावत द्वारा रैली में भाग लेकर प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन किया। उप महापौर ने कहा कि शहर के नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं, स्वस्थ्य एवं शिक्षा से सम्बंधित विकास कार्य प्राथमिकता से लिये जा रहे है।
आयुक्त मालावत ने कहा कि शहर के नागरिकों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक करना, पर्यावरण संरक्षण के लिए पहल करना स्मार्ट सिटी का पार्ट है। उन्होंने कहा कि आम नागरिकों की भागीदारी से स्मार्ट सिटी के कार्यों को त्वरित गति से पूरे किई जाने का कार्य लगातार जारी है, उन्होंने बताया कि साइकिल शेयरिंग को बढ़ावा देने के लिए भी लोगों को प्रेरित किया जाएगा।
उप नगर नियोजक भूपेश मालव द्वारा गतिविधि के बारे नियमित साइकलिंग करने वालो को जानकारी देकर रेली पूर्ण होने पर साइकिल ट्रैक के लिए प्रस्तावित विकास के सम्बंध में सुझाव प्राप्त किए।
रैली में शहर की विभिन्न साइकिल संस्थाओं, कोटा के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट चैप्टर एवं 5 वर्ष से लेकर 60 वर्ष तक आयु सीमा के साइकिल सवारों द्वारा बढ़ चढ़कर भाग लिया। अधिशासी अभियंता के एम शर्मा ने बताया कि साइकलिंग स्मार्ट सिटी का एक पार्ट है, इसको बढ़ावा देने के लिए साइकिल ट्रैक का शीघ्र ही कार्य शुरू करवाया जाएगा।

गुरु पूर्णिमा का त्यौहार का जश्न हो , गुरुओं से शिष्य आशीर्वाद ले रहे हों , ऐसे वक़्त में , गुरुओं के गुरु , राजेंद्र सिंह सिसोदिया का जन्म दिन पारिवारिक माहौल में हो , तो इस सादगी कार्यक्रम की छाप अलग ही हो जाती है

 गुरु पूर्णिमा का त्यौहार का जश्न हो , गुरुओं से शिष्य आशीर्वाद ले रहे हों , ऐसे वक़्त में , गुरुओं के गुरु , राजेंद्र सिंह सिसोदिया का जन्म दिन पारिवारिक माहौल में हो , तो इस सादगी कार्यक्रम की छाप  अलग ही हो जाती है ,, जी हाँ दोस्तों , भाई राजेंद्र सिंह सिसोदिया , जो यूँ तो , वर्तमान में , विज्ञानं नगर सीनियर गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में प्रिंसिपल पद पर कार्यरत है ,, कोटा में ही संभ्रांत , राजपूत परिवार में जन्म लेकर , कोटा में शिक्षा प्राप्त कर , यहां अध्यापक बने , परमोशन लेकर , सुल्तानपुर ब्लॉक में अतिरिक्त ब्लॉक शिक्षा का कार्यभार संभाला , राजेंद्र सिंह सिसोदिया , कोटा विज्ञाननगर , सीनियर गर्ल्स स्कूल में कुशल प्रशासक , प्रबंधक व्यवस्था के साथ , हर दिल अज़ीज़ प्रिंसिपल के पद पर कर्यरत है , इनकी इसी माह 31 जुलाई को सेवानिवृत्ति हो रही है ,, राजेंद्र सिंह सिसोदिया ,, अध्ययन , अध्यापन में ,सर्वश्रेष्ठ रहे , इनके अध्यापन कार्यकाल में , परीक्षा परिणाम हमेशा सर्वश्रेष्ठ रहा ,, इनके द्वारा पढ़ाये गए छात्र छात्राएं , आज खुद प्रतिभावान होने की वजह से , कोटा , राजस्थान के महत्वपूर्ण पदों पर तैनात है , कुशल व्यवसायी है , वोह इनके चरण स्पर्श कर , इनकी शिक्षा की गुरुदक्षिणा देते है ,, छात्रों को मनोवैज्ञानिक तरीके से , पढ़ाई के लिए , प्रतिभावान बनने के लिए ,किस तरह से मोटिवेट किया जाए , इसका हुनर गुरु जी ,राजेंद्र सिंह सिसोदिया के पास बखूबी रहा है , ,, राजेंद्र सिंह सिसोदिया निर्विवाद तरीके से , अपने कामकाज के अलावा किसी विवादित मामलों में कोई हस्तक्षेप भी नहीं करते है ,, इनके लिए , स्टाफ के सभी सदस्य पारिवारिक सदस्य की तरह है , वोह सबसे प्यार से बात करते है , उनकी दुःख तकलीफों में , परिवार का मुखिया बनकर , शामिल रहते  है , उनकी मदद करते है , लेकिन ज़रूरत पढ़ने पर , वोह कुशल प्रशासक के रूप में , जो भी ज़िम्मेदारियाँ उनके अधीनस्थ स्टाफ की है वोह पूरी तरह से उनसे , कर्तव्य निष्ठां के साथ , पूरा करवाने का हुनर रखते है , ना काहू से दोस्ती , ना काहू से बेर ,, के सिद्धांत पर , , महिला स्टाफ के साथ भी पारिवारिक सम्मानजनक माहौल में , निर्विवाद , विनम्र स्वभाव के साथ , सभी ज़िम्मेदारियों के साथ , काम करने का इनका अपना अनूठा प्रशासनिक उदाहरण है , राजेंद्र सिंह सिसोदिया ,, रेस्मा शिक्षक संघ में प्रिंसिपल संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष भी है , वोह , शिक्षकों के हक़ के लिए भी संघर्षों में , शामिल रहे है , उनके संघर्ष के लिए उन्होंने आंदोलन भी किये है ,, वर्तमान में विज्ञाननगर गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में , कोरोना काल में , कोरोना की जाँच सेंटर सहित कई ज़िम्मेदारियाँ होने के साथ , मोबाईल ऐप के ज़रिये , छात्राओं के अध्ययन , अध्यापन की व्यवस्था , उनके सर्वेक्षण , उनके होमवर्क , , उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा ,,, सरकारी योजनाओं का लाभ  उन तक सीधा पहुंचाना , बहुत मुश्किल था , लेकिन इस मुश्किल काम को , उन्होंने  स्टाफ की लीडरशिप के साथ , आसान कर दिखाया है ,, राजेंद्र सिंह के परिवार में इनके वालिद , अधिकारी वर्ग से थे , इनके बढे भाई , जज के पद से सेवानिवृत होकर , सहकारिता विभाग में विशेषाधिकारी है , इनके पुत्र , वकील है , और ज़िम्मेदार पद पर है ,, राजेंद्र सिंह सिसोदिया को , उनके जन्म दिन पर बधाई , ,मुबारकबाद , साथ ही ,बेदाग छवि के साथ , इसी माह , 31 जुलाई को , जवानी में ही , सरकारी सिस्टम के चलते , उनकी सेवानिवृत्ति , यानि , राजकीय सेवाओं से आज़ादी के साथ , समाजसेवा क्षेत्र में आज़ादी के साथ , मददगार बनने के बढ़ते क़दम के लिए ,, उन्हें बधाई , मुबारकबाद ,  अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

अल्लाह ही पूज्य है, उसके सिवा कोई पूज्य नहीं। वह जीवन्त है, सबको सँभालने और क़ायम रखनेवाला

 

24 जुलाई 2021

अपने मन में छुपे पूण्य के उदगार , सेवा समर्पण , बेज़ुबान पशु पक्षियों की सेवा के लिये उजागर रखने वाले भाई उजागर सिंह , प्रदेश पदाधिकारी अल्पसंख्यक , अधिकारी कर्मचारी महासंघ को उनकी सालगिराह पर बधाई

 अपने मन में छुपे पूण्य के उदगार , सेवा समर्पण , बेज़ुबान पशु पक्षियों की सेवा के लिये उजागर रखने वाले भाई उजागर सिंह , प्रदेश पदाधिकारी अल्पसंख्यक , अधिकारी कर्मचारी महासंघ को उनकी सालगिराह पर

बधाई
, मुबारकबाद , अपने राजकार्य को पूर्ण महनत लगन से करने के साथ साथ बेज़ुबान परिंदो की भूख प्यास की परवाह करने वाले उजागर सिंह यूँ तो एम बी एस मेडिकल कॉलेज कोटा में रेडियोलॉजिस्ट प्रभारी के बाद , अब जे के लोन कोटा में है,, लेकिन उनकी पहचान समाज में सेवा समर्पण कार्यो से बनी हुई है ,उजागर सिंह अल्पसंख्यक कर्मचारी ,,अधिकारी महासंघ में भी , हारून खान की टीम में, प्रदेश पदाधिकारी होने के नाते ,कर्मचारियों के दुःख दर्द से सीधा नाता रखते है ,,उजागर सिंह ने कोटा एम बी एस मेडिकल कॉलेज में जब चार वर्ष पूर्व कार्यभार संभाला तो अव्यवस्थाओ के चलते वाहन प्रति दिन पचास एक्सरे ,,पच्चीस सोनोग्राफी ,,आठ एम आर आई,, पांच सीटी स्केन ,,का रिकॉर्ड था ,,मरीज़ परेशांन थे ,लेकिन उजागर सिंह ने कार्यभार संभालने के बाद कामकाज को व्यवस्थित किया ,,समयबद्ध किया ,,पहले वहां छह मशीने और आठ का स्टाफ था ,, लेकिन वर्तमानं में पंद्रह का स्टाफ है ,, कामकाज की अधिकता देखते हुए ,,उजागर सिंह खुद ,,अपने निर्धारित ड्यूटी समय से दो घंटे प्रतिदिन अधिक काम करते है ,,,वर्तमानं में यहां एक्स रे जांच ,,एम आर आई ,,सी टी स्केंन व् अन्य रेडियोलॉजी जांचे ,,लाखो रूपये प्रतिदिन की होने लगी है ,,मेडिकल कॉलेज में मरीज़ो की सुविधानुसार तुरंत जाँच हो रही है जबकि मेडिकल कॉलेज को इन जांचो से अब तक करोडो रूपये की आमदनी भी हो चुकी है ,जबकि वरिष्ठ नागरिक ,,बी पी एल वगेरा की जांचे अलग है ,,अपने व्यस्त समय में से उजागर सिंह रोज़ आधा घंटा बेज़ुबान परिंदो के लिए निकालते है ,, इनके निवास की छत पर रोज़ सुबह सवेरे कई सालों से दाने पानी के हक़ में ,,परिंदे आ धमकते है और ची ची करके अपना हक़ जताते है ,,उजागर सिंह प्रतिदिन सुबह सवेरे पांच किलो बाजरा छत पर डालते है जिसे चुगने के लिए दो हज़ार से भी अधिक परिंदे छत को खुशनुमा बना देते है ,,इनकी छत पर तोते ,मोर ,,कबूतर ,,कोयल ,,चिड़िये सहित कई दुर्लभ पक्षी भी रोज़ आते है ,,इतना ही नहीं उजागर सिंह अपने क्षेत्र में भूख से बिलखते कुत्तो को नियमित रूप से दो किलो दूध प्रतिदिन पिलाते है ,,,,जानवरो ,,पशु पक्षियों को भी इनसे प्रेम है ,सुबह इनकी छत पर परिंदो के प्यार का अजीब नज़ारा होता है ,,,उजागर सिंह अपने समाज के लिए भी समय निकालते है ,,जबकि यारी दोस्ती में याराना भी निभाते है ,,यह अल्पसंख्यक कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश पदाधिकारी होने के नाते कर्मचारियो की समस्याओं और उनके निदान के प्रति भी नियमित सजग और सतर्क रहते है ,,ऐसे मानवता प्रेमी ,,बेज़ुबान जानवरो के दोस्त ,,उजागर सिंह साहिब की क़ाबलियत में से सिर्फ कुछ अंश ही में उजागर कर पा रहा हूँ ,,ऐसे उजागर को मेरा सलाम ,,सेल्यूट ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...