हमें चाहने वाले मित्र

23 अगस्त 2020

मेरे ,दोस्तों देश के ओरिजनल मीडिया कर्मियों ,,देश में मिडिया प्रशिक्षण , मिडिया कोर्स करने वाले ,मेरे भाई बहनों

 मेरे ,दोस्तों देश के ओरिजनल मीडिया कर्मियों ,,देश में मिडिया प्रशिक्षण , मिडिया कोर्स करने वाले ,मेरे भाई बहनों ,ज़रा आज के सारे दैनिक अख़बार ,,बढे अख़बार , कथित तेज़ी से बढ़ते अख़बार ,न्यूज़ चेनल्स , सबसे तेज़ चेनल्स ,, को पढ़िए ,देखिये ,, पूँछिये ,, तब्लीग़ियों के नाम पर हल्ला करने वाली एफ आइ आर ,, मुम्बई हाईकोर्ट ने ख़ारिज करते हुए ,, मीडिया के खिलाफ ,हालातों के खिलाफ जो टिप्पणी कर आदेश दिया है ,,क्या वोह खबर आपके घर आने वाले ,आपके शहर में बटने वाले ,,आपके घर के न्यूज़ चैनल में है , अगर नहीं है तो सवाल करो , ऐसे भड़वागिरी करने वाले पम्पलेटों से के जो खबर कभी तुमने मुख्य पृष्ठ की साज सज्जा बनाई थी वोह झूंठी साबित होने पर क्या तुम्हारा फ़र्ज़ उस खबर की प्रतिक्रिया के रूप में पाठकों तक पहुंचाने का कर्तव्य नहीं ,, कल मध्य्प्रदेश ,ग्वालियर ,गुना में ,,कांग्रेस के कुछ गद्दारों के खिलाफ ,पीठ में छुरा घोंपने वालों के खिलाफ ,, वहां की लोकल जनता ने खुल कर प्रदर्शन किया , वहां हो हल्ला हुआ ,टकराव हुआ ,,,स्थानीय पुलिस ने उनकी आवाज़ को दाबने ,,कथित कांग्रेस के गद्दारों के खिलाफ प्रदर्शन को रोकने के प्रयास किये क्या वोह खबर आपके अख़बार में है ,क्या वोह खबर आपके चैनल में है ,क्या उस मुद्दे पर आपके किसी चैनल में बहस करते हुए ,,लाइव बहस करते हुए किसी को देखा गया नहीं ना ,तो फिर ,,,,प्रशिक्षु पत्रकारों ,,अगर यही करने के लिए तुम देश की इस सूड़ो ,, मोदी इम्पेक्ट जर्नलिज़्म में जाना चाहते हो तो ,, अपने ज़मीर से , अपने परिजनों से ज़रूर पूंछना ,पेट पालने का परेशानी अगर न हो ,, अगर तुम दूसरा काम करके स्वाभिमान ,राष्ट्र के सम्मान के कारोबार से , कमाकर खा सकते हो तो प्लीज़ ,,कमसे कम ऐसे अख़बार , ऐसे न्यूज़ चैनल में हरगिज़ मत जाना जहाँ सच छुपाया जाता हो ,जहां सच दबाया जाता हो ,जहाँ सच को तोड़ा , मरोड़ा जाता हो ,, जहाँ खबरों की ऐंकरिंग , खबरों का सम्पादन ,पूर्व निर्धारित मैनेजमेंट के तहत ,, झूंठ मिलाकर फिक्स कर दिया जाता हो ,सो प्लीज़ , सो प्लीज़ ,बुरा न माने ,,, स्वाभिमानी जर्नलिज़्म आज भी ज़िंदाबाद है , सिर्फ एक स्वाभिमानी जर्नलिस्ट परेशान ज़रूर होगा ,गरीब ज़रूर होगा ,,लेकिन सम्मानित भी होगा ,, उसके छोटे से अख़बार को , उसके छोटे से यूं ट्यूब चैनल को लोग , ईमानदारी से दिल थाम कर ज़रूर पढ़ेंगे , ज़रूर देखेंगे , तो भाइयों ,बहनों ,जर्नलिज़्म में एक फिर से स्वाभिमान की क्रान्ति ,,सच को उजागर करने ,सच को प्रकाशन करने की क्रान्ति के संघर्ष के लिए एक जुट हो जाइये ,,देश को एक आज़ादी की ज़रूरत है ,,देश को मुद्दे भटकाने वाली खबरों से अख़बार भरकर ,न्यूज़ चैनल भरकर ,,गुमराह करने से आज़ादी की ज़रूरत है ,देश को भूख ,गरीबी ,बेरोज़गारी ,, भ्र्ष्टाचार , किसान ,,मज़दूरों की खबरों की ,ज़रूरत है ,देश को अस्पतालों ,, स्कूलों ,कॉलेजों ,में लोगों के क्या हाल है किस तरह की लूट चल रही है , इसे रोकने के क्या उपाय है , सरकार किस स्तर तक इन अपराधों में शामिल है ,इन खबरों की ज़रूरत है ,,,,,,, तो जनाब आप से इल्तिजा है जब भी आप प्रशिक्षित पत्रकार होकर निकले ,, जब भी आप मिडिया का कोर्स पढ़कर निकले तो ,, स्वाभिमानी जर्नलिज़्म की तरफ ,देश को ,गुलाम मासिकता पत्रकारिता से आज़ाद कराकर फिर से , देश को एक नयी दिशा देने के लिए ,,आप आगे बढ़ेंगे ऐसी ईश्वर ,से अल्लाह से मेरी दुआ , मेरी प्रार्थना है ,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...