हमें चाहने वाले मित्र

15 जुलाई 2020

कोटा ज़िला कलेक्टर कोटा में कोरोना प्रबंधन अव्यवस्था को लेकर सख्त है , उन्होंने चिकित्सको , सम्बंधित जिम्मेदारों को , कोटा कोरोना मुक्त , करने के लिए हर सम्भव प्रयास तेज करने के निर्देश दिए है ,

कोटा ज़िला कलेक्टर कोटा में कोरोना प्रबंधन अव्यवस्था को लेकर सख्त है , उन्होंने चिकित्सको , सम्बंधित जिम्मेदारों को , कोटा कोरोना मुक्त , करने के लिए हर सम्भव प्रयास तेज करने के निर्देश दिए है , कलेक्टर चाहते है , ज़िंदगी फिर से पटरी पर लोटे , व्यापार शुरू हो , डर खोफ का वातावरण खत्म हो , शैक्षणिक , औद्योगिक माहोल बने , कोरोना सुरक्षा एडवाइजरी मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश शत प्रतिशत लागू हों ,, कोटा जिला कलेक्टर उज्जवल राठोड ने अपने कार्यभार ग्रहण करने के बाद से ही ,कोटा की हर योजना ,हर व्वयस्था ,कोटा के छात्र ,नागरिकों, किसानों , मज़दूरों ,बंद पढ़े उद्योगों का भविष्य उज्जवल बनाने को लेकर ,, विभिन्न कार्ययोजनाओं की क्रियान्विति पर चिंतन मंथन कर सकारात्मक कार्यवाही शुरू कर दी है ,,इस मामले में कोटा की सड़को पर फिर से सिटी बसें चलेंगी ,जबकि कोटा शहर के नालों की साफ़ सफाई ,पर्यटन स्थलों को अधिक आकर्षक करने की कार्ययोजना ,,कोटा विकास के सभी काम समयबद्ध तरीके से पूर्ण करने को लेकर वोह सजग सतर्क नज़र आये ,,,, कोटा कलेक्टर उज्जवल राठोड , कार्यभार ग्रहण करने के बाद से ,सभी राजनितिक दलों के वरिष्ठ लोगों ,,विभिन्न संस्थाओं के समाजसेवियों , कोरोना कर्मवीर योद्धाओं ,, अधिकारीयों ,,वकीलों के प्रतिनिधिमंडल ,,पत्रकारों के अलग अलग संगठन के प्रतिनिधि मंडलों से फीड बेक लेते रहे है ,,, कोटा कलेक्टर उज्ज्वल राठोड , कोटा की हर समस्या के समाधान ,,पारदर्शिता सिद्धांत के तहत , संवेदनशील शासन के तहत आम जनसमस्याओं और फोकस कर उनके तुरतं निराकरण को लेकर गंभीर चिंतित नज़र आये ,, वोह वर्तमान में किसानों ,मज़दूरों ,,कोरोना संक्रमण नियंत्रण व्यवस्थाएं , धरने , प्रदर्शन ,क़ानून व्यवस्थाये ,, बंद पढ़े उद्योगों का फिर से सफल संचालन ,,कोचिंग व्यवस्थाओं की सकारात्मक शुरुआत ,, सहित कई कार्ययोजनाओं की मास्टर स्ट्रोक क्रियान्विति को लेकर स्थानीय केबिनेट मंत्री शान्तिधारीवाल के मार्ग निर्देशन में व्यवस्थित काम करने की दिशा में लगभग अंतिम व्वयस्था क्रियान्वन पर पहुंच गए है ,,,,,, यूँ तो बहुत शरीफ है मेरा शहर ,,बहुत शरीफ है यहाँ के लोग ,लेकिन कई अड़चने ,कई अटकलें ऐसी भी है ,,के कई विकास योजनाए अटकी पढ़ी है मेरे इस शहर में ,फिर भी चुनौती स्वीकार करना ,, मुस्कुराना ,मुस्कुराते हुए समस्याएं सुनना ,, और हँसते हँसते समस्याओं का सकारात्मक समाधान ,, उज्ज्वल राठोड की प्रशासनिक पहचान है ,, ईगोइस्ट नौकरशाही लाट्साहबी व्यवस्था से अलग हठ कर ,, आम जनता के सेवक के नाते , वोह जनसमस्याओं की सुनवाई ,उनके समयबद्ध समाधान के प्रति चिंतित रहते है ,जनहित में ,,मुस्कुराते मुस्कुराते वोह कई कठोर फैसले लेकर चौंकाने का इतिहास भी रखते है ,,, कोटा में किसानों की बीज ,खाद ,,सिंचाई ,फसल खराबा ,कृषिउत्पाद बिक्री सहित कई समस्याओं , उनके समाधान की कार्ययोजना पर उनकी निगाहें है ,,जबकि अस्पतालों में व्यवस्थित इलाज हो ,, कोरोना गाइड लाइन की शतप्रतिशत पालना होकर कोटा परफेक्ट सिटी कोरोना मुक्त सिटी शीघ्र घोषित हो , इस दिशा में वोह रोज़ मेडिकल टीम सहित विशेषज्ञों से माथापच्ची में लगे है ,,, कोटा में कोचिंग माहौल फिर से पुनर्जीवित हो ,, शैक्षणिक माहौल बने ,, फिर से रोज़गार के अवसर बने ,व्यापारियों के मुंह पर फिर से रोक लोटे ,,बाज़ारों की रोक लोटे , कोटा के बाज़ार खूबसूरत हों ,हरे भरे हों ,पर्यटन स्थलों पर ,पर्यटकों की आवक हो ,इस तरफ भी वोह रोज़ अतिरिक्त कार्यव्यवस्था में जुटे है ,, प्रदूषण नियंत्रण ,पर्यावरण संरक्षण , , अवैध खनन माफियाओं पर नियंत्रण ,,मुकंदरा हिल्स में वन्य जीवों का स्वंतंत्र विचरण सुनिश्चित रहे ,इस तरफ भी उनकी पेनी निगाह है ,,, कोटा क्लीन सीटी , कोटा स्मार्ट सिटी , कोटा कोचिंग पुनर्जीवित सिटी ,, कोटा सौंदर्यकृत , विकसित सिटी ,,कोटा आदर्श सिटी , कोटा पर्यटन आकर्षक सिटी ,कोटा राष्ट्रिय मेला दशहरे की सिटी ,, कोटा चंबल विकास की सिटी ,,,कोटा आम जनता की समस्याओं की सुनवाई , समस्याओं के तत्काल निस्तारण की प्रथम सिटी , कोटा उज्ज्वल सिटी ,, कोटा केबिनेट मंत्री शान्तिधारीवाल के ख्वाबों की विश्व की सबसे खूबूसरत सिटी के ख्वाबों की किर्यान्विति ,, कोटा के उज्ज्वल भविष्य के लिए ,,कोटा जिला कल्कटर की कमान अब उज्ज्वल राठोड के हाथ में है ,, उज्वल राठोड यूँ तो राजस्थान प्रशासनिक सेवा से पदोन्नत होकर ,,आई एस एस केडर के अनुभवी अधिकारी है ,, लेकिन कोटा के विकास ,सोंदर्यकरण ,समस्याओं के समाधान ,,योजनाओं के क्रियान्वन ,,सियासी प्रतिनिधित्व का संतुलन ,,खासकर केबिनेट मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल की कोटा शहर को समयबद्ध कार्ययोजना के तहत सुपर स्मार्ट सिटी ,, लोगों की ख़्वाबों की खूबसूरत सिटी बनाने की व्यवस्थाओं की क्रियान्विति ,उनका सारथि बनकर कामयाबी के साथ करना, नवनियुक्त कलेक्टर , उज्ज्वल राठोड के लिए मुश्किल ज़रूर है ,चुनौतीपूर्ण ज़रूर है , लेकिन नामुमक़िन हरगिज़ नहीं
,,, उज्ज्वल राठोड को वर्तमान हालातों में इन सब चुनौतियों सहित कई भविष्य के गर्भ में छुपी आकस्मिक आपदा ,,आकस्मिक चुनौतियों को स्वीकार कर ,,राजनितिक संतुलन स्थापित कर , कार्यालय में बिनापर्ची के लगातार निर्धारित समयावधि में जनसुनवाई कार्यक्रम तय कर कई समस्याओं का समाधान करना है ,, दफ्तरों में ,लाट्साहब सिस्टम ,पर्ची देकर घंटों बिठाये रखने की अफसरशाही व्यवस्था को , लोकतंत्र में जनसेवक , लोकसेवक की ओरिजनल सेवाभाव शैली में बदलना है ,, उज्ज्वल राठोड यूँ तो इनकी हर पोस्टिंग में ,,इनके विभाग के लिए उज्ज्वल भविष्य साबित हुए है , कामयाब हुए है ,इन्हे प्रशासनिक अनुभवों के साथ ,,सोंदर्यकरण ,शहरी ,विकास ग्रामीण विकास ,,सहित निर्माण कार्यों ,ब्यूटीफिकेशन प्रबंधन का ज़बरदस्त कामयाब अनुभव है ,,बस इनकी यही खासियत कोटा में केबिनेट मंत्री शांति कुमार धारीवाल के सपनों की विकसित ,सोंदर्यकृत , पर्यटन सिटी , के उज्ज्वल भविष्य की कामयाबी के लिए कोटा कलेक्टर पद पर खेंच लाई है ,,,, 1 अप्रेल 1963 को सिरोही में जन्मे , उज्जवल राठोड , बी कॉम के बाद ही ,,राजस्थान प्रशासनिक सेवा की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियों में लगे , कामयाब हुए नवम्बर 1989 में उज्ज्वल ने जयपुर में प्रशासनिक प्रशिक्षण पूरा किया , यह जालोर में कार्यकारी मजिस्ट्रेट सहायक कलेक्टर नियुक्त हुए , जैसलमेर में सी डी पी ओ ,अहोर जालोर में विकास अधिकारी ,इकलेरा झालावाड़ ,फिर झालावाड़ में एस डी ओ रहे ,, उज्जवल राठोड फिर जालोर में उपखण्ड अधिकारी नियुक्त हुए ,, जयपुर नगर निगम आयुक्त की नियुक्ति के बाद , उज्जवल मुख्यकार्यकारी अधिकारी जालोर ,फिर ऐ डी एम जालोर नियुक्त हुए ,, उज्जवल ऐ डी एम पाली ,ऐ डी एम भीलवाड़ा के बाद भीलवाड़ा स्टाम्प ड्यूटी उप महानिरीक्षक पद नियुक्त हुए ,, इन्हे शहरी विकास , जोधपुर नगर विकास न्यास सचिव लगाया गया ,,भरतपुर मुख्यकार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति के बाद फिर इन्हे उदयपुर नगर विकास सचिव लगाया गया ,उज्जवल बाड़मेर ,भीलवाड़ा , अजमेर आयुर्वेद ,नगरविकास न्यास जयपुर डवलपमेंट ऑथोरिटी ,ग्रामीण विकास संयुक्त सचिव रहे , 2018 में उज्जवल राठोड को आई ऐ एस केंद्र में पदोन्नत किया गया ,,जो वर्तमान में ,केबिनेट मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल के नियंत्रित स्वायत्तशासन विभाग में निदेशक पद पर कार्यरत थे ,अब वोह कोटा कलेक्टर पद पर नियुक्त हुए है ,, उज्ज्वल राठोड ग्रामीण विकास के संयुक्त सचिव के अनुभवी है ,जबकि अजमेर विकास प्राधिकरण ,जयपुर विकास प्राधिकरण , जयपुर नगर निगम , नगरीय विकास संयुक्त सचिव , जोधपुर ,भीलवाड़ा , उदयपुर सहित कई शहरों में नगर विकास न्यास के सचिव के रूप में ,सोंदर्यकरण ,विकास कार्यों की क्रियान्विति के कामयाब गवाह बने है ,,उज्जवल राठोड के , उदयपुर ,, जोधपुर के सोंदर्यकरण आज भी पर्यटकों ,स्थानीय लोगों के लिए आकर्षक ,मनोरंजक , सेर सपाटे के पिकनिक स्पॉट बने ,है ,उज्ज्वल राठोड यूँ तो कोटा की हर ,,कार्ययोजना, हर भूगोल से परिचित है , हर विकास योजना ,सोंदर्यकरण योजना के पूर्व जानकार ,है , लेकिन इनकी निष्पक्षता ,संवेदनशीलता ,, आम जनता की शिकायतों की व्यवस्थित सुनवाई ,तत्काल समस्याओं का समाधान ,जनप्रतिनिधियों का सम्मान ,, उनकी सुनवाई , समन्वय ,संतुलन , इनकी उज्जवलता की कामयाबी हो सकेगी ,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...