हमें चाहने वाले मित्र

14 जुलाई 2020

मेरे देश के राष्ट्रभक्तो ,, व्यक्ति के अंधभक्तो ,,, ओरिजनल भक्तो ,ज़रा दिल पर हाथ रखकर बताना

मेरे देश के राष्ट्रभक्तो ,, व्यक्ति के अंधभक्तो ,,, ओरिजनल भक्तो ,ज़रा दिल पर हाथ रखकर बताना ,, यह जो विधायकों को दल बदल विधेयक क़ानून की बंदिशों के बाद भी ,भाजपा ने इस्तीफे की सियासत कर ,,भाजपा की खुद की सरकार बनाने की जो साज़िशाना हरकते शुरू की है ,कर्नाटक , गोआ , मध्य्प्रदेश वगेरा वगेरा , जहाँ विधायकों के सिर्फ सरकार बनाने , सरकार गिराने के स्वीकृत प्रलोभन के लिए होते है ,वहां क्या ऐसे विधायकों के विधासभा कार्यकाल के पूर्ण होने के पूर्व ही इस्तीफा देने पर ,,दुबारा चुनाव पर रोक नहीं लगना चाहिए ,,एक पार्टी से जीते ,फिर इस्तीफा देकर दूसरी पार्टी की सरकार में शामिल हुए ,फिर दुबारा दूसरी पार्टी के बैनर पर विधायक का टिकिट लेकर ,विधायक बनने पहुंच गए , क्या इस देश के भविष्य ,इस देश के लोकतंत्र के लिए भाजपा द्वारा बनाई गयी यह परिपाटी सही है , लोकतान्त्रिक ,, देश के भविष्य के लिए खतरनाक नहीं है ,, तो दोस्तों ,देश में क्या ,ऐसे विधायक जो सिर्फ खरीद फरोख्त , सरकार गिराने ,दूसरी पार्टी की सरकार बनाने के मामले में ,स्वीकारित रूप से शामिल होते है ,इन विधायकों से सारे उपचनावों का खर्चा नहीं लेना चाहिए ,ऐसे विधायक जो बीच में ही इस्तीफा देकर बिना किसी वजह गए है ,उनके , उनके परिवार पर दुबारा रोक नहीं लगना चाहिए ,,, दूसरी बात विधानसभा , ,लोकसभा , राज्य सभा में , सदस्यों की 90 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य नहीं होना ,,चाहिए ,, क्या हर विधायक ,हर सांसद पर उसके अपने क्षेत्र के लिए हर सत्र में कमसे कम एक दर्जन सवाल करने की पाबंदी ,बहस में शामिल होने की अनिवार्यता नहीं होना चाहिए ,, हर विधायक ,हर सांसद को हर वोटिंग के वक़्त ,पक्ष या विपक्ष में उपस्थित रहने की अनिवार्यता नहीं होना चाहिए ,जो बायकॉट ,करते है ,,जो वाकआउट करते है ,उनकी सदस्ता स्वत ही समाप्त होने का क़ानून नहीं बनना चाहिए ,,, ऐसे लोगों की सदस्य्ता खत्म हो ,भविष्य में चुनाव से प्रतिबंधित किये जाने की पांबदी भी होना चाहिए ,,आप की क्या राय है , प्लीज़ अंधभक्ति को ताक में रखकर ,राष्ट्रभक्ति को दिल दिमाग में रखकर जवाब दीजियेगा , सहमत हो तो फिर आदरणीय प्रधानमंत्री साहिब के पास ऐसी हरकतों को करने वालों के खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही करने और भविष्य में ऐसे अलोकतांत्रिक कार्यवाहियों , मनमानी सदस्यों की कार्यवाहियों को रोकने और ऐसे इस्तीफों से खाली होने वाली सीट के उप चुनाव के समस्त खर्चे की भरपाई ऐसे विधायक ,सांसद से ही होने का क़ानून बनवाइए ,,जो उपचुनाव खर्च देने में असमर्थ हो उसे जेल भेजने की अनिवार्यता बनाइये ,,,,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...