हमें चाहने वाले मित्र

15 जून 2018

कोचिंग गुरुओं के शिकंजे में फंसे ,,मेरे नवयुवक नाबालिग ,बच्चो ,निराश हताश क्यों होते हो

कोचिंग गुरुओं के शिकंजे में फंसे ,,मेरे नवयुवक नाबालिग ,बच्चो ,निराश हताश क्यों होते हो ,एक बाप जो तुम्हे पढ़ने के लिए सुविधाएं देता है ,तुमसे उम्मीदे पालता ,है उसे लाइव वीडियो टेलीकास्ट करते हो ,आत्महत्या की खबर देते हो ,और फांसी पर लटक जाते हो ,,यह निराशा यह हताशा बाड़मेर के कोचिंग छात्र करण के अकेले की नहीं बहुत से छात्रों की है ,लेकिन क्यों ,किस लिए ,आखिर वोह इस उम्र में चाहते क्या है जो उन्हें नहीं मिल सकता ,,कोटा में पढ़ रहे ,,कोटा में पल रहे ,लाखों छात्रों से मेरी गुज़ारिश है ,,सरकार उनकी मदद नहीं करती ,उनके हालातों का अध्ययन नहीं करती ,बाल समितियां ,बाल आयोग ,समाज कल्याण ,शिक्षा विभाग ,कोचिंग गुरुओं के कल्याणकारी फंड ,पुलिस व्यवस्था ,हॉस्टल ,मकानमालिको की व्यवस्थाये कलेक्टर की उपेक्षा ,,मंत्री ,प्रभारी मंत्री ,सांसद ,विधायकों ,पार्षदों की कोताहिया कुछ भी हो ,तुम्हारे अपने विचार ,तरुणाई के प्यार में धोखा ,परीक्षा में डिप्रेशन यह सब तुम्हे हरा नहीं सकती ,,कोटा में ह्यूमन रिलीफ सोसायटी के दरवाज़े आधी रात को भी तुम्हारे लिए खुले है ,मेरे नौजवान साथियों ,निराश क्यों होते हो ,हताश क्यों होते हो ,नहीं पढ़ना चाहते ,,मत पढ़ो ,जो करना चाहते हो वोह करो ,पिता जबरन पढ़ाना चाहते है ,हम से कहो ,हमराज़ बनाओ ,हम उन्हें समझा लेंगे ,जो तुम चाहते हो वोह ठीक तरह से तुम कर लोगे उन्हें तुम बता देंगे ,दोस्त से झगड़ा , नो जवानी की गलतियां ,,लड़कियों की बेवफाई ,यह तुम्हे हरा नहीं सकती ,तुम्हारे हौसले को तोड़ नहीं सकती ,तुम कोटा रह कर ,कोटा में चंबल का पानी पीकर यूँ खुद को हताशा ,निराशा का शिकार बनाकर इस कोचिंग नगरी में खुद को फांसी पर नहीं लटका सकते ,अरे मेरे नो जवान बच्चो ,यह कोटा वोह नगरी है ,,जहाँ आज़ादी की लड़ाई में लाला हर दयाल ,जय दयाल ,महराब खान ने ,कोटा रेसीडेंसी हाउस में घुसकर अंग्रेज़ों के पोलिटिकल एजेंट उसके पुत्र की हत्या कर कोटा को आज़ाद करवा लिया था ,कोटा में तिरंगा आज़ादी का झंडा फहरा दिया था ,यह वोह कोटा है ,,जहां जे के बंद होने के बाद ,,बेरोज़गार हुए लोग निराश नहीं हुए हताश नहीं हुए ,उन्होंने अपनी समझ बुझ से यहां कोचिंग साम्राज्य खड़ा किया है ,देश में ही नहीं विश्व में नाम कमाया है ,मेरे बच्चो ,मेरे नौजवान भाइयों ,,क्यों निराश होते हो ,क्यों हताश होते हो ,पारिवारिक समस्याएं किसके नहीं होती ,सामाजिक परेशानियाँ किसके नहीं होती ,आज फेल होते हो कल पास होते हो ,प्यार में नाकामयाबियां ,,दोस्तों के कम्पीटिशन में पीछे हो जाना कोई नई बात नहीं ,कोई डिप्रेशन की बात नहीं ,,ज़ुकरबर्ग फेल हुए वोह हारे कहाँ ,,आज देख लो फेसबुक के मालिक है ,लक्खू भाई पाठक देख लो भुजिया ,,नमकीन किंग है ,,अमिताभ बच्चन को देखिये ,,आकशवाणी रेडियो टेस्ट में फेल हो गए ,आज पुरे विश्व के एक्टिंग गुरु है , ,अरे देश के प्रधानमंत्री को देखो वोह चाहे डिग्री नहीं दिखाते हो ,लेकिन आज वोह पुरे देश में पुरे विश्व में अपना परचम लहरा रहे है ,,नकारात्मक सोच बदलो ,मेरे बच्चो सकारात्मक सोच लाओ ,तुम एक ज़िम्मेदार हो , देश के कर्णधार ,देश के भविष्य हो ,तुम क्या नहीं कर सकते ,तुम से मन की बात ,कभी प्रधानमंत्री नहीं करते ,तुम्हारे मन की बात कभी प्रधानमंत्री नहीं सुनते ,तुम्हारी इच्छा के खिलाफ तुम्हे योग दिवस पर भीड़ बनाने का एक ज़रिया बनाया जाता ,है लेकिन बच्चो यह तात्कालिक है ,तुम्हे तो खुद ही को बुलंद करना है ,,विकल्प खुले है ,कोचिंग ज़रूरी नहीं ,इंजीनियर डॉक्टर बनना ज़रूरी नहीं ,खेती ,व्यवसाय ,,सियासत ,प्रबंधन ,हर क्षेत्र तुम्हारे लिए खुले है ,कामयबी तुम्हारा इन्तिज़ार कर रही है ,,खुशियां तुम्हारे लिए सिर्फ तुम्हारे लिए ही बनी है ,घर में तुम्हारे पिता ,तुम्हारी माता ,,तुम्हारी बहन ,दादा ,दादी ,,मामा ,मामी ,भइआ सभी तो तुम्हारी उम्मीदे है ,तुम्हारा हर रोज़ इनतीज़ज़ार करते है ,फिर मेरे बच्चो यह पाप तुम क्यों करते हो ,तुम किसी भी डिप्रेशन ,किसी भी दिक़्क़त ,किसी भी परेशानी में हो ह्यूमन रिलीफ सोसायटी को याद करो ,,मुझे याद करो ,अभिभाषक परिषद कोटा को याद करो ,,कलेक्टर को याद करो ,रेडक्रॉस को याद करो ,अपना दुःख दर्द बांटो ,,निराशा से बचो ,यक़ीनन तुम इस देश की उम्मीदें हो ,तुम्हारे माता ,तुम्हारे पिता तुम्हारे लिए सिर्फ तुम्हारे लिए ही जी रहे है ,तू न रहे तो ज़रा सोचो उन पर क्या गुज़रती होगी ,सो प्लीज़ हिम्मत बनो ,ताक़त बनो ,हौसला बनो ,हारों मत ,हार कर भी जीतो ,सिर्फ जीतों ,तुम एक बार निखरोगे ज़रूर ,याद रखो सिर्फ याद रखो ,हम होंगे कामयाब ,हम होंगे कामयाब एक दिन ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...