हमें चाहने वाले मित्र

15 जून 2018

21 जून को , योग गुरु बाबा रामदेव की उपस्थिति में मुख्यमंत्री वसुंधरा सिंधिया के समक्ष को बढ़ा बखेड़ा खड़ा हो सकता है

कोटा नगर विकास न्यास के अध्यक्ष रामकुमार मेहता ,की अपरिपक्वता की वजह से ,दर्जनों बार सरकार की किरकिरी होती रही है ,,स्वायत्तशासन मंत्री के निर्देशों की पालना नहीं करने को लेकर ,,वकीलों के प्लाट समस्या समाधान मामले में आगामी 21 जून को , योग गुरु बाबा रामदेव की उपस्थिति में मुख्यमंत्री वसुंधरा सिंधिया के समक्ष को बढ़ा बखेड़ा खड़ा हो सकता है ,,अगर कुछ बखेड़ा ,,नारेबाजी ,कालेझण्डे दिखाने जैसी स्थिति उपजी तो उसके लिए रामकुमार मेहता की अपरिपक्वता ,टालमटोल का रुख ही ज़िम्मेदार होगा ,,विदित रहे कांग्रेस शासन काल में न्यूनतम आरक्षित दर पर ,कोटा के वकीलों को रानपुर आवास योजना में प्लाट आवंटित किये थे ,, आरक्षित दर से आधी दर पर प्लाट देने ,,विकास शुल्क खत्म करने की मांग को लेकर ,तात्कालिक अध्यक्ष मनोजपुरी के नेतृत्व में बढ़ा आंदोलन हुआ ,,धरने ,प्रदर्शन ,मुक़दमेबाज़ी ,,कांग्रेस सरकार के मंत्रियों के पुतले दहन ,उनकी शवयात्राएं ,,तिये की बैठके ,घरों पर प्रदर्शन ,चूड़ियां भेंट करने जैसे आक्रामक आंदोलन हुए ,,सरकार के खिलाफ प्रतिपक्ष में बैठे वर्तमान सांसद ,विधायक ,खुद मुख्यमंत्री ने वायदा किया ,हमारी सरकार आने दो हम रियायती दर पर प्लाट देंगे ,,सरकार बदली ,प्रतिपक्ष के लोग सत्ता में आये ,न जाने किन करने से ,,वकीलों की आवास योजना ,वकीलों के आंदोलन एजेंडे से गायब रही ,, वकीलों ने अदालत से स्थगन लिया ,फिर कलेक्टर को आरक्षित दर पर प्लाट लेने और विकास शुल्क माफ़ करने पर सहमति बनी ,फिर विकास शुल्क भी देने पर राज़ी हुए ,,अब सरकार लगातार चक्कर दे रही है और वकीलों को प्लाट नहीं दिए गए है ,आचार संहिता लगने वाली ,है ,वर्तमान कार्यकारिणी में मनोजपुरी ,,अतीश सक्सेना ,जित्नेद्र पाठक ,,अभिषेक पाठक ,,महेंद्र गुप्ता ,अमित शर्मा ,,वकीलों से वोट मांगते वक़्त सिम्पोजियम में वायदा करके आये थे के वोह प्लाट की समस्या का समाधान करवा देंगे ,,उन्होंने जो कहा वोह करके भी दिखाया है ,,बोल्डली डिसीज़न भी लिए है ,,प्लाट मामले में मुख्यमंत्री ,स्वायत्तशासन मंत्री सहित कई ज़िम्मेदारो से मिले भी है ,,स्वायत्तशासन मंत्री ने इस मामले में नगर विकास न्यास अध्यक्ष मेहता को मौखिक निर्देशित भी किया है ,लेकिन अभी ढील पोल चल रही है ,21 जून को बढ़ा योग कार्यक्रम है ,,मुख्यमंत्री कोटा में होंगी ,,,यह चुनावी साल ,वोह भी आखरी लम्हा ,जल्द आचार संहिता लग सकती है ,ऐसे में वकीलों के प्लाट की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो फिर यह समस्या अटक जायेगी ,,वकीलों के अध्यक्ष,,पदाधिकारीगण सहित सभी वकील सार्वजनिक रूप से भी मुख्यमंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे है और भाजपा जिला अध्यक्ष हेमंतविजय वर्गीय के घर के बाहर धरना ,प्रदर्शन के समय ,उपाध्यक्षः अतीश सक्सेना ने कई बार इशारा भी किया ,,अगर वकीलों की मांगे नहीं मानी तो मुख्यमंत्री को कोटा में घुसने नहीं दिया जाएगा ,,वकीलों ने गाँधीवादी तरीके से इस मामले की समस्या के समाधान के लिए जिला कलेक्टर को शांतिपूर्ण ज्ञापन देकर अवगत तो करा दिया ,है लेकिन सरकार का अड़ियल रुख ,,वकीलों के धैर्य ,संयम की परीक्षाएं ले रहा ,है ,पहले की बात और थी ,लेकिन अब जो कहा वोह करके दिखाया ,,वाले प्रबंधन की निर्वाचित कार्यकारिणी है ,इसीलिए कहते है वक़्त रहते प्रशासन चेत जाए ,वक़्त रहते ,नगरविकास न्यास अध्यक्ष उन्हें जो निर्देश इस विवाद के निस्तारण के लिए दिए गए है उसकी पालना कर निस्तारण कर दे ,वरना अपने अस्तित्व के लिए वकीलों ने कोई आपात बैठक कर फैसला ले लिया तो फिर आदरणीय मुख्यमंत्री महोदया भी प्रशासन भी देखते रह जाएंगे ,, ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...