हमें चाहने वाले मित्र

25 सितंबर 2016

भीतरघाती कोंग्रेस दुश्मनो को गाली ही नहीं बल्कि फूटास की गोली देने को जी चाहता है

     कोंग्रेस के साथ भितरघात करने वाले  लोगो को पदाधिकारी बनाकर हमारे सरो पर बिठाया जाता है ,,तो सच ऐसे भीतरघाती कोंग्रेस दुश्मनो को  गाली ही नहीं बल्कि फूटास की गोली देने को जी चाहता है ,,,कोंग्रेस हाईकमान को इस तरफ अपना विचार बनाना ही होगा ,,,पिछले दिनों मेरी अनुपस्थिति में ,,,कोटा देहात कोंग्रेस नवनियुक्त कमेटी की ,,,पहली बैठक ,,कोटा कोंग्रेस के जिलाप्रभारी ,,वरिष्ठ नेताओ की उपस्थिति में हुई ,,मुद्दा कोंग्रेस कैसे मज़बूत हो ,,भविष्य की रणनीति क्या हो ,,,बस इसी मुद्दे पर ,,हाल ही में,,, नवनियुक्त कोटा देहात सचिव ,,ने ,,,बोलते हुए सब्र का बांध तोड़ दिया ,,वोह इस कोंग्रेस के नेताओ की कारगुज़ारियां देखते देखते थक गए ,,ऐसे नेता ,,,जिन्हें कोंग्रेस पार्टी से धक्के देकर बाहर निकाल देना चाहिए,,, उन्हें पद देने पर उनका भड़कना वाजिब था ,,वोह बात अलग है के ,,,ज़ाकिर मेव जो वक्ता कभी नहीं रहे ,,बस उन्होंने ,, कोंग्रेस को तबाह और बर्बाद होते ,,जिन लोगो के हाथो देखा है ,,,और कोंग्रेस को तबाह बर्बाद करने वाले ,,इन लोगो को ही कोंग्रेस में ,,,,जब फलते फूलते देखा ,,शिकायतो पर कोई सुनवाई नहीं ,,पदों का बटवारा,,, इन्ही कोंग्रेस विरोधियो के नाम,, देखकर कर,, यह भड़के ,,इन्होंने अपना आपा खोया ,,बिना किसी का नाम लिए ,,,कोंग्रेस में भितरघात कर ,,,कोंग्रेस को बर्बाद करने ,,कोंग्रेस को हराने वालो के खिलाफ ,,उनके मुंह से ,,गुस्से में गाली भी निकल गयी ,,ज़ाकिर मेव की गाली का कोई समर्थन नहीं करता ,,लेकिन उनके उठाये गए मुद्दे ,,  शोर शराबे में ,,,फिर से गोंण हो गए ,,हाईकमान को आखिर सोचना होगा ,,कोंग्रेस को बर्बाद करने वाले ,,,भितरघातियों की चोधराहट आखिर कब तक चलेगी ,,,कोंग्रेस के प्रत्याक्षियों को हराने की सौदेबाज़ी ,,भाजपा से करने वाले लोग,, आखिर  कब तक कोंग्रेस में ,,कार्यकर्ताओ की छाती पर प्रभावशाली  पद लेकर मुंग दलते रहेंगे ,, ज़ाकिर मेव की यह शिकायत ,,,कोंग्रेस की भीतर घातियों के बढे होसलो के खिलाफ थी ,,इस पर उनकी गाली पर गुस्सा किया जा सकता है ,,लेकिन उनकी गाली ऐसे लोगो के लिए थी ,,,जो कोंग्रेस को बर्बाद करने पर तुले है ,,सही मायनो में ऐसे कोंग्रेस को बर्बाद करने वाले भितरघातियों को,,, गाली की नहीं फुटास की गोली की ज़रुरत है ,,हमे ,,हमारे प्रभारियों ,,हमारे वरिष्ठ नेताओ ,,हाईकमान को चिंतन तो करना होगा ,,विचार तो करना होगा ,,के आखिर कोटा ज़िला परिषद के चुनाव में ,,,कोंग्रेस के टिकिट पर चुनाव जीत कर,,, भाजपा के टिकिट पर चुनाव लड़ने वाले,, जिलाप्रमुख प्रत्याक्षी को क्रॉसवोटिंग कर वोट डालते है ,,कोंग्रेस को हराते है ,,प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलेट जांच बिठाते है ,,प्रदेश महासचिव,, जांच के बाद दोषी पाते है ,,उन्हें छह साल के लिए ,,कोंग्रेस से  निष्कासित किया जाता है ,,और ऐसा व्यक्ति जो प्रदेश कोंग्रेस अध्यक्ष द्वारा निकाला गया हो ,,उसे बिना सदस्यता बहाल किये ,,देहात कोंग्रेस कार्यकारिणी में ,,,पदाधिकारी बना दिया जाता है ,,खुलेआम जनसम्पर्क में भाजपा के लिए जो वोट मांगता है ,,उसे कोंग्रेस देहात में पदाधिकारी बनाया जाता है ,,लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र में खुले आम कोंग्रेस के प्रत्याक्षी के खिलाफ,, दुष्प्रचार होता है ,,ऐसे लोगो को अगर ,,सर पर बिठाया जाता है ,,जो लोग खुले आम चुनाव में हमारे कोंग्रेसी आदर्श राहुल गान्धी ,,सोनिया गांधी को कोसते है ,,हमारे चुनाव चिन्ह   पंजे को ,,खुनी पंजा बताकर,,, लोगो को भड़काते है ,,वोह लोग अगर हमारे हाकम बनकर आते है,,, तो गुस्सा वाजिब है ,,कार्यकारिणी में ज़मीनी सक्रिय कार्यकर्ताओ को तो ,,कार्यकारिणी सदस्य और ऐसे प्रमाणित भितरघातियों को पदाधिकारी बनाया जाता है ,,घोषित देहात कार्यकारिणी के बाद ,,शिकायत होती है ,,प्रमाण दिए जाते है ,,लेकिन कोंग्रेस से,,, ऐसे लोगो को प्रमुख पदों से हटाया नहीं जाता है ,,कोंग्रेस की बैठक में ऐसे लोगो के खिलाफ बोलने का हक़ तो,,,, सभी को मिलना चाहिए ,,होना यह चाहिए के एक जांच हो ,,कार्यकारिणी बदले ,,जिस नेता ने भी ऐसे भितरघातियों के नाम दिए है ,, उन्हें भी पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियो को अँधेरे में रखने के मामले में,,, दण्डित करना चाहिए और ऐसे में,,, डेमेज कंट्रोल नहीं जो कर दिया उस पर लीपापोती नहीं ,,गलती में सुधार होना चाहिए ,,वरना यह भीतरघाती लोग,,, कोंग्रेस के प्रमुख पदों पर क़ब्ज़ा कर ,,मूल ज़मीनी कार्यकर्ताओ का हक़ छीन कर ,,,भाजपा के एजेंट बन कर ,,ऍन चुनावी वक़्त पर फिर से धोखा देंगे और हम ,,,मुंह तकते रह जाएंगे ,,हमसे चूक हुई कोटा देहात ,,कार्यकारिणी के गठन में,, हम से भूल हुई है,, .हमे अपनी भूल मानकर,, तुरन्त निष्पक्ष जांच कराकर ,,ऐसे दोषी लोग ,,उनके समर्थको और उन्हें बचाने वाले ,,,कोंग्रेसी नेताओ के खिलाफ,, कार्यवाही करना होगी ,,वरना ,,,कोंग्रेस कार्यकर्ताओ का गुस्सा अब  पराकाष्ठा पर पहुंचने लगा है ,,,,,,,कोंग्रेस कार्यकर्ता ऐसे भितरघाती लोगो के अधीनस्थ काम करते करते ,,थक  गए है ,,अब बर्दाश्त के बाहर हो गया है , बहुत हो गया ,,अब कोंग्रेस को बर्बाद करने वाले ,,सोनिया और राहुल गान्धी को गाली देकर पद प्राप्त करने वाले ,,कोंग्रेस के प्रत्याक्षियों को हराने वाले भितरघातियों का शुद्धिकरण करना ही होगा ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...