हमें चाहने वाले मित्र

07 अगस्त 2016

गाय के बाद अब दलितों पर हमले का जिक्रः मोदी बोले- गोली चलानी है तो मुझ पर चलाएं


हैदराबाद/नई दिल्ली. गाय के बाद अब नरेंद्र मोदी ने दलितों पर हो रहे हमले जैसे विवादित मुद्दे का जिक्र किया है। रविवार को यहां एक रैली में पीएम ने कहा, ''दलितों पर हमला न करें। हमला करना है तो मुझ पर करें। गोली चलानी है तो मुझ पर चलाएं। किसी को दलितों को परेशान करने का हक नहीं। समाज की एकता देश की शक्ति होती है। ऐसी घटनाओं से माथा शर्म से झुक जाता है।'' बता दें कि हाल के दिनों में दलितों पर हमले की घटनाएं हुई हैं। गुजरात के ऊना में दलितों पर अत्याचार के कारण मोदी सरकार पर अपोजिशन ने जमकर निशाना साधा था। नकली गोरक्षकों को मोदी ने फिर दी चेतावनी- ये हिंदुस्तान की एकता को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं...
- मोदी ने 24 घंटे के अंदर दूसरी बार नकली गोरक्षकों पर निशाना साधा है।
- मोदी ने कहा, ''कुछ लोग समाज को तहस-नहस करने पर लगे हैं। वह हिंदुस्तान की एकता को तोड़ने पर लगे हैं।''
- ''कुछ मुट्ठीभर लोग गोरक्षा के नाम पर समाज में तनाव लाने की कोशिश कर रहे हैं।''
- ''किसान, कृषि और गांव के बचाने के लिए गोरक्षकों से सावधान हो जाएं।''
- ''गोरक्षा के निर्देश संविधान में दिए गए हैं। उस हिसाब से गोरक्षा करें।''
- ''गोरक्षा के लिए महात्मा गांधी ने कहा है और जो बात गांधी ने कही है वो कभी गलत नहीं हो सकती। ''
- ''गांधी जी कहा करते थे कि बचपन में उनकी माता उन्हें दूध दिया करती थी लेकिन एक गाय जिंदगी भर दूध का जरिया बनती है।''
- वे तेलंगाना के मेडक में एनटीसीपी थर्मल पावर प्रोजेक्ट के फर्स्ट फेज के इनॉगरेशन के लिए पहुंचे थे।
- बता दें कि शनिवार को दिल्ली में 'टाउन हॉल' के दौरान भी पीएम ने पहली बार गोसेवा के नाम पर दुकान लगाने वालों पर निशाना साधा था।
मोदी ने 'टाउन हॉल' में गाय के मुद्दे पर क्या कहा था?
-गाय के मुद्दे पर सीधी बात करते हुए मोदी ने कहा था- ''कभी-कभी गोरक्षा के नाम पर कुछ लोग दुकानें खोलकर बैठ जाते हैं। मुझे इतना गुस्सा आता है...। सचमुच के अगर वे गोसेवक हैं तो प्लास्टिक बंद करवा दें। गायें कत्ल से ज्यादा प्लास्टिक से मर रही हैं।''
लगातार गाय पर क्यों बयान दे रहे हैं मोदी?
- पीएम बनने के बाद पहली बार शनिवार को मोदी ने गाय पर सीधी बात की थी।
- यूपी के दादरी में 11 महीने पहले अखलाक नाम के शख्स की इसलिए पीट-पीटकर हत्या कर दी गई क्योंकि उसके पास गोमांस रखे जाने का शक था।
- गुजरात के उना में 25 दिन पहले दलितों की इसलिए पिटाई हुई, क्योंकि उन पर गोवध का शक था।
- 7 महीने में गाय के नाम पर दलितों और मुसलमानों पर बर्बरता के 14 बड़े मामले सामने आए हैं। ज्यादातर केस बीजेपी शासित राज्यों के हैं।
- हरियाणा में 3, मप्र में 3, पंजाब में 3, गुजरात में 2, राजस्थान में 2 और झारखंड में 1 मामले आए। इसलिए ये मुद्दा अहम बना हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...