हमें चाहने वाले मित्र

17 मई 2016

कोटा कांग्रेस में एक जुटता ,,एकता ,,के लिए एक नई उम्मीद ,,,बहन एकता धारीवाल

कोटा कांग्रेस में एक जुटता ,,एकता ,,के लिए एक नई उम्मीद ,,,बहन एकता धारीवाल ,,,चाहे राजनीति में न हो ,,,लेकिन इनके सामजिक कार्यो में,, इनकी महनत ,,लगन और वक़्त ब वक़्त कांग्रेस के कार्यक्रमों को मज़बूती देने के लिए इनकी उपस्थिति ,,अब कोटा कांग्रेस की मज़बूती के लिए ज़रुरत बनता जा रहा है ,,दलगत राजनीति ,,नई द्वेषता से ऊपर उठकर छोटो को प्यार ,,बढ़ो को सम्मान देकर उनसे अपने अनुभव बाँट कर खुद को आकाश करने की कोशिशों में जुटी ,,एकता धारीवाल की सक्रियता से भाजपा के लोग तिलमिला रहे है ,,जबकि वर्तमान हालातो में कांग्रेस के बिखराव को रोकने के लिए एक ऐसी शख्सियत ,,एक ऐसे चेहरे की ज़रूरत है ,,जिसमे तहज़ीब हो ,तमीज़ हो ,,सियासी अनुभव हो ,,बहुमुखी प्रतिभा हो ,,,कांग्रेस कल्चर की जानकारी के साथ एक जाना पहचाना चेहरा हो और वह चेहरा सिर्फ और सिर्फ एकता धारीवाल के अलावा कोई दूसरा नहीं हो सकता ,,वर्तमान हालातो में जब दिल्ली कांग्रेस में प्रियंका की सक्रियता की मांग उठाकर कांग्रेस को मज़बूती देने की बात की जा रही है ,,तो कोटा के हालातो को देखकर दबे अल्फ़ाज़ों में ,,एकता धारीवाल को सियासी कमान देने की आवाज़ उठने लगी है ,,अभी एकता धारीवाल की चाहे कांग्रेस में सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में एन्ट्री नहीं हुई हो लेकिन ,,एकता धारीवाल लगातार इनके पिता तुल्य स्वसुर ,,,आधुनिक कोटा के निर्माता शान्ति धारीवाल के सियासी कामकाज देखती रहे है ,,हाल ही में सोशल मडिया के ज़रिये इन्होने भाजपा और विरोधियो के स्वर लाजवाब पोस्ट डालकर बंद कर दी है ,,, इनकी मर्यादित लेकिन निर्भीक ,,तार्किक पोस्टों को भाजपाइयों और विरोधियो के पास कोई जवाब नहीं है ,,एक खास बात यह है के ,,कांग्रेस की आंतरिक कलह ,,कांग्रेस की गुटबाजी के बाद भी एकता धारीवाल का सभी गुटों के कांग्रेस जनो के साथ विनम्र और मृदुल भाषी होने से दूसरे गुट से जुड़े लोग भी इनको अहमियत देने लगे है ,,एकता धारीवाल ने कोटा के औद्योगिक विकास के लिए प्रमुख रूप से ज़िम्मेदार बने ,,इनके दादा ससुर स्वर्गीय रिखब चंद धारीवाल की जीवनी ,,उनके सपने और आम जनता को आज कोटा में क्या विकास मिला ,,रोज़गार के क्या अवसर मिले ,,आज के लोग और पुराने बुज़ुर्ग लोग उनके औद्योगिक विकास कार्यक्रमों के बारे में क्या सोचते है ,,इन सभी सवालों के जवाब के लिए एकता धारीवाल एक डॉक्युमेंट्री भी बना रही है और आगामी बीस मई को रिखब चंद धारीवाल पार्क ओम मेटल के पास एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन शाम छ बजे रखा है ,,इस कार्यक्रम की रुपरेखा ,,इस कार्यक्रम का मॉडल ,,इस कार्यक्रम से संबंधित सभी तैयारियां ,,खुद एकता धारीवाल ने स्वतंत्र रूप से बिना किसी के सपोर्ट के अपने हाथो में ली है और इस कार्यक्रम की कामयाबी साबित कर देगी के एकता धारीवाल कोटा कांग्रेस का हिस्सा तो है लेकिन अब ज़रूरत बन चुकी है ,,एक उम्मीद बन चुकी है और इस ख़ास वक़्त पर अगर एकता धारीवाल की सियासी एन्ट्री नहीं हुई तो इसका खिमियाजा भविष्य में कांग्रेस को उठाना पढ़ सकता है ,, क्योंकि एकता धारीवाल में शान्ति धारीवाल की बहु होने के कारण कांग्रेस के प्रति आकर्षण नहीं है या उनकी क्वालिटी केवल शांति धारीवाल की बहु होना ही नहीं है ,,वह स्वतंत्र रूप से ,,मुखर है ,, उनमे नेतृत्व क्षमता है ,,सियासी समझ है ,,,वह खुद अपने बल पर कांग्रेस के हक़ में कांग्रेस की एक जुटता के लिए महत्वपूर्ण कारगर निर्णय लेने की क्षमता रखती है और यह उन्हें गॉड गिफ्ट के रूप में मिली है ,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...