हमें चाहने वाले मित्र

17 मई 2016

CM की बेटी को हुआ मैकेनिक से प्यार, CID खंगाल रही है लड़के की 'कुंडली'



तेलंगाना के सीएम की गोद ली हुई बेटी है प्रत्यूषा। - फाइल
तेलंगाना के सीएम की गोद ली हुई बेटी है प्रत्यूषा। - फाइल
हैदराबाद.तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव की गोद ली हुई बेटी प्रत्यूषा (19) अपने से 10 साल बड़े प्रेमी से शादी करना चाहती है। आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने पुलिस को लड़के के बैकग्राउंड का पता लगान का जिम्मा सौंपा है। इसके बाद CID अफसरों की एक टीम वेंकट रेड्डी (29) की डिटेल जुटा रही है ताकि यह पता चल सके कि वह प्रत्यूषा के ‘काबिल’ है या नहीं। एक अॉफिशियल ने बताया, ‘कोर्ट ने प्रत्यूषा से पहले पढ़ाई पूरी करने और बाद में शादी करने को कहा है, लेकिन उसने पढ़ाई छोड़ने की इच्छा जताई है।' साइकिल मैकेनिक है लड़का...
- आंध्र के सीआईडी चीफ डी. तिरुमाला राव ने कहा, ''तेलंगाना सरकार की मांग पर हम वेंकट रेड्डी के बैकग्राउंड की जांच कर रहे हैं। इसके लिए हाईकोर्ट से भी ऑर्डर मिला है।''
-केसीआर ने 7 जुलाई, 2015 को प्रत्यूषा को गोद लिया था।
- इसके बाद सरकार ने उसके बैंक अकाउंट में साढ़े 6 लाख रुपए जमा करवाए थे।
- प्रत्यूषा के नर्स बनने की इच्छा जताने पर सरकारी खर्चे पर नर्सिंग कॉलेज में उसका एडमिशन भी कराया गया।
-पढ़ाई के दौरान ही कुछ महीने पहले प्रत्यूषा की मुलाकात साइकिल मैकेनिक वेंकट से हुई और दोनों में प्यार हो गया।
- मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वेंकट कुरनूल जिले का रहने वाला है। वह हैदराबाद के मलकाजगिरी में एक साइकिल की दुकान पर मैकेनिक है।
- प्रत्यूषा फिलहाल नर्सिंग की स्टूडेंट है और हैदराबाद के एक हॉस्टल में अफसरों की निगरानी में रह रही है।
सौतेली मां ने किया था टॉर्चर
- प्रत्यूषा जुलाई 2015 में तब चर्चा में आई थी, जब चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी ने पुलिस की मदद से उसे उसकी सौतेली मां के कब्जे से छुड़ाया था।
- सौतेली मां स्यामला पर प्रत्यूषा को घर में कैद कर उसे टॉर्चर करने का आरोप लगा था।
- प्रत्यूषा के शरीर पर कई जख्म और काटने के निशान मौजूद थे और उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।
- जहां सीएम राव भी उससे मुलाकात करने पहुंचे थे।
- प्रत्यूषा ने अपने बयान में सौतेली मां पर कई महीनों से पिटाई करने का आरोप लगाया था।
- इसके बाद उसके पिता राजेश कुमार और मां श्यामला को अरेस्ट कर लिया गया। दोनों अभी ज्युडिशियल कस्टडी में हैं।
- हाईकोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए प्रत्यूषा की जिम्मेदारी ली थी। बाद में राव ने ऐलान किया कि वह प्रत्यूषा को गोद लेकर उसकी देखभाल करेंगे।
-एक दिन राव ने प्रत्यूषा को लंच के लिए घर पर बुलाया था। इसी दौरान उन्होंने सही वक्त आने पर उसकी शादी करवाने का वादा भी किया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...