हमें चाहने वाले मित्र

23 दिसंबर 2015

जेटली पर आरोप लगाने वाले कीर्ति BJP से सस्पेंड, कहा- आगे-आगे देखिए होता है क्या

Two Important Voices Weighed In Against The Darbhanga MP

कीर्ति आजाद। (फाइल फोटो)
कीर्ति आजाद। (फाइल फोटो)
नई दिल्ली. डीडीसीए घोटाले में फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली पर आरोप लगाने वाले बीजेपी एमपी कीर्ति आजाद को पार्टी ने बुधवार शाम सस्पेंड कर दिया। उन पर पार्टी लाइन के खिलाफ काम करने का आरोप है। बीजेपी ने आजाद को 24 लाइन का नोटिस भेजकर पूछा है कि उनकी मेंबरशिप क्यों न खत्म की जाए? सस्पेंशन पर कीर्ति ने कहा कि आगे-आगे देखिए क्या होता है।
सस्पेंड होने पर कीर्ति का रिएक्शन
-‘सस्पेंड किया गया है। बड़ी प्रसन्नता की बात है कि पार्टी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने वाले को सस्पेंड किया है।’
- ‘मैंने नहीं कहा था कि अरुण जेटली चोर हैं। मैंने किसी का नाम नहीं लिया। मैं किसी पार्टी से नहीं मिला हुआ हूं। ईमानदारी से काम किया है।'
- आजाद ने मीडिया से ही पूछा, ‘एंटी पार्टी क्या एक्टिविटी की, ये बताइए ना?’
- इस पर मीडिया ने उनसे सवाल किया कि क्या पार्टी ने आपको बार-बार बयान देने से नहीं रोका और यह नहीं कहा कि चीजों को अागे ना लेकर जाएं?
- आजाद ने कहा, ‘कौन-सी चीज को आगे ना लेकर जाऊं? मैं तो 9 साल से कह रहा था ना। अगर इसके लिए कोई जिम्मेदार है तो वह पार्टी खुद है। मैंने तो पार्टी के खिलाफ कुछ नहीं कहा।’
- ‘मैंने तो कहा कि मैं प्रधानमंत्रीजी का समर्थन करता हूं क्योंकि वे कहते हैं कि मैं ना खाऊंगा ना खाने दूंगा। मैंने तो किसी का नाम नहीं लिया था।’
- ‘मैंने तो नहीं कहा कि जेटली चोर हैं। मैंने कहा था कि उनके समय रहते हुई थी। जो इतने समय लड़ता रहे वो बाहर हो जाए और उसे ही एंटी पार्टी कहा जाए?’
- ‘अब तो मजे देखिए आगे-आगे क्या होता है? अब मैं बताऊंगा कि क्या होता है।’
क्या है मामला?
- कीर्ति आजाद ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि डीडीसीए में 14 फर्जी कंपनियों के जरिए घोटाला किया गया है।
-उन्होंने घोटाला कैसे हुआ, यह बताते हुए कहा था कि एक लैपटॉप को 16 हजार रुपए किराए पर लिया गया था। जबकि इतने में नया लैपटॉप खरीदा जा सकता है।
-आजाद संसद में भी जेटली का नाम लिए बिना उन पर निशाना साध चुके हैं। उन्होंने डीडीसीए घोटाले की सीबीआई जांच की मांग की थी।
-1999 से 2013 तक अरुण जेटली डीडीसीए के प्रेसिडेंट रहे हैं।
कौन हैं कीर्ति आजाद?
- बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री भगवत झा आजाद के बेटे हैं कीर्ति आजाद।
- उन्होंने 1993 में बीजेपी विधायक के रुप में दिल्ली की गोलबाजार विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी।
- फिर हालात कुछ ऐसे बने कि उन्हें दिल्ली छोड़कर अपने गृह जिले दरभंगा जाना पड़ा।
- कीर्ति दरभंगा से तीसरी बार बीजेपी के सांसद हैं।
- उनकी पत्नी पूनम झा भी सेंसर बोर्ड की सदस्य रह चुकी हैं।
- 1983 में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के मेंबर रहे हैं कीर्ति।
पॉलिटिकल रिएक्शंस
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ट्वीट
-'कीर्ति को भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने की सजा मिली है। बीजेपी पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबी है।'
कांग्रेस लीडर दिग्विजय सिंह का ट्वीट
-'कीर्ति आजाद को बीजेपी ने सस्पेंड कर दिया। उनका अपराध? डीडीसीए में भ्रष्टाचार के खिलाफ फैक्ट्स के साथ आवाज उठाना।'
केपीएस गिल ने भी खोला मोर्चा

-जेटली के खिलाफ कीर्ति आजाद और केजरीवाल के बाद भारतीय हॉकी महासंघ और हॉकी इंडिया के पूर्व चीफ केपीएस गिल ने मोर्चा खोल दिया है।
-गिल ने जेटली पर हॉकी इंडिया में अपनी बेटी सोनाली को वकील बनाने और भारी-भरकम फीस वसूलने के आरोप लगाए हैं (पूरी खबर यहां पढ़ें)।
कीर्ति के सपोर्ट में आए थे शत्रुघ्न
-बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी के बचाव के बावजूद अब पार्टी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी कीर्ति आजाद का सपोर्ट कर दिया।
-सिन्हा का कहना है कि कीर्ति पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए। इसके बजाय जेटली को आडवाणी की तरह पहले खुद को बेदाग साबित करना चाहिए।
जेटली के सपोर्ट में मोदी ने क्या कहा था?
- मोदी ने मंगलवार को बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी की मीटिंग में कहा था, ''जेटली ठीक उसी तरह बेदाग निकलेंगे, जैसे हवाला केस में लालकृष्ण आडवाणी निखरकर बाहर आए थे।''

ट्वीट को लेकर घिर सकते हैं कीर्ति

- सोमवार रात कीर्ति के ट्विटर हैंडल से जेटली के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट किए गए थे।
- बताया जा रहा है कि कीर्ति के ट्वीट्स पर पार्टी नेताओं ने एतराज जताया है।
- इसकी वजह यह है कि कीर्ति के एक ट्वीट में जेटली को 'नपुंसक' कहा गया था।
- हालांकि, मंगलवार को एक दूसरे ट्वीट में कीर्ति ने साफ करने की कोशिश की थी कि ये उनका ट्वीट नहीं है। उनका ट्विटर अकाउंट हैक हो गया था।
किसने की कीर्ति पर एक्शन की मांग?

- बिहार से बीजेपी लीडर सुशील मोदी ने कीर्ति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
- मोदी ने कहा, ''बिहार बीजेपी जेटली के साथ खड़ी है। परेशान करने वाले लोगों के खिलाफ एक्शन लेने में कोताही नहीं बरतनी चाहिए।''
- मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी यही बात कही।
- सीएम चौहान ने ट्वीट में कहा, ''बीजेपी की पहचान अनुशासन है। सभी मेंबर्स को इसका ध्यान रखना चाहिए। अच्छा होगा कि पार्टी में ही अलग-अलग मत रखे जाएं, बाहर नहीं।''
जेटली पर क्या हैं आरोप?
- जेटली पर आम आदमी पार्टी और कीर्ति आजाद ने फिरोजशाह कोटला स्टेडियम को बनाने में घोटाले का आरोप लगाया है।
- आप नेताओं ने कहा था- जेटली के प्रेसिडेंट रहने के दौरान डीडीसीए ने 24 करोड़ की लागत वाला स्टेडियम 114 करोड़ रुपए में बनवाया। 90 करोड़ रुपए कहां खर्च कर दिए?
- वहीं, बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि डीडीसीए में करप्शन पर उन्होंने तब प्रेसिडेंट रहे जेटली को 200 लेटर और 500 मैसेज भेजे, लेकिन जवाब नहीं मिला।
- कीर्ति ने एक सीडी दिखाई, जिसमें दावा किया गया है कि डीडीसीए में एक लैपटॉप का एक दिन का किराया 16 हजार और प्रिंटर का किराया 3 हजार रुपए दिया जाता था।
- कीर्ति के मुताबिक, 14 फर्जी कंपनियों के जरिए करोड़ों का घोटाला किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...