हमें चाहने वाले मित्र

19 दिसंबर 2015

नेशनल हेराल्ड केस: सोनिया-राहुल को 10 मिनट में मिली बेल, फरवरी में फिर पेशी

शनिवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी और वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी।
शनिवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी और वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी।
नई दिल्ली. नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया और राहुल गांधी को पटियाला हाउस कोर्ट ने शनिवार को बेल दे दी। दोनों से अब 20 फरवरी को पेश होने को कहा गया है। केस दायर करने वाले सुब्रह्मण्यम स्वामी ने बेल का विरोध किया था। कांग्रेस के 17 नेता कोर्ट में थे। 10 मिनट के अंदर सुनवाई और बेल हो गई।
फैसले के बाद क्या हुआ?
1. सोनिया ने कहा- ‘हममें से कोई भी डरने वाला नहीं है। हम अपने राजनीतिक विरोधियों के हमले और उनके निंदा के अभियान से वाकिफ हैं। यह सिलसिला पीढ़ियों से चला आ रहा है।’
2. राहुल ने कहा- ‘मोदीजी झूठे इल्जाम लगवाते हैं। उन्हें लगता है कि विपक्ष झुक जाएगा। मैं और कांग्रेस पार्टी नहीं झुकेंगे। मोदीजी कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं। लेकिन ऐसा नहीं होगा।’
3. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा- ‘वे तो भाषण दे रहे थे कि बेल नहीं लेंगे। अब क्या हुआ?’
4. बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस करप्शन के एक केस को आजादी की लड़ाई की तरह पेश कर रही है। अपने नेताओं (सोनिया-राहुल) को फ्रीडम फाइटर्स बता रही है।
5. बताया जा रहा है कि कांग्रेस अब अपने नेताओं के खिलाफ लगे आरोपों में शामिल क्रिमिनल कॉस्पिरेसी शब्द को हटवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट जा सकती है।
क्यों हुई ये पेशी?
- कांग्रेस नेताओं पर आरोप है कि उन्होंने कीमती प्रॉपर्टी हथियाने के मकसद से पॉलिटिकल फंड का गलत इस्तेमाल किया।
- अारोप है कि कांग्रेस ने नेशनल हेराल्ड अखबार को 90 करोड़ रुपए का कर्ज दिया। फिर एक कंपनी बनाकर उसकी देनदारी अपने कब्जे में ले ली।
- इस तरह नेशनल हेराल्ड की 2000 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी पर कांग्रेस नेताओं का कंट्रोल हो गया।
- इस केस में सोनिया, राहुल, मोतीलाल वोरा, ऑस्कर फर्नांडीस और सुमन दुबे कोर्ट में पेश हुए।
- सैम पित्रोदा एक ऑपरेशन होने की वजह से पेश नहीं हुए।
कोर्ट रूम में क्या हुआ?
1. पटियाला हाउस कोर्ट में मैजिस्ट्रेट लवलीन ने सुनवाई शुरू कराई।
2. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और अभिषेक सिंघवी ने कार्ट से कहा कि हमारे क्लाइंट्स सोसायटी में मजबूत जगह रखते हैं। वे ऊंचे पदों पर हैं। उनके खिलाफ पहले कभी कोई आरोप नहीं हैं।
3. केस दायर करने वाले सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोनिया-राहुल को जमानत देने का विरोध किया। स्वामी ने कहा कि दोनों नेता देश छोड़कर जा सकते हैं, इसलिए जमानत न दी जाए। उन्होंने सैम पित्रोदा के खिलाफ जमानती वॉरंट जारी करने की मांग की। पित्रोदा कोर्ट में पेश नहीं हुए थे।
4. मजिस्ट्रेट ने कहा- सभी आरोपी सम्मानित लोग हैं। उनकी गहरी राजनीतिक जड़ें हैं। इस बात की आशंका नहीं है कि वे भाग जाएंगे।
5. यह कहते हुए मजिस्ट्रेट ने सभी आरोपियों को बेल दे दी। उनसे 50-50 हजार रुपए का पर्सनल बॉन्ड और श्योरिटी भरने को कहा।
6. मनमोहन सिंह ने सोनिया गांधी के लिए और प्रियंका गांधी ने राहुल गांधी के लिए श्योरिटी दी। एके एंटनी ने फर्नांडीस ने श्योरिटी दी। बाकी आरोपियों के लिए गुलाम नबी आजाद और अजय माकन ने बॉन्ड भरे। सैम पित्रोदा को कोर्ट ने पेशी से छूट दे दी।
7. यह सब कुछ दोपहर 2:51 से 3:01 बजे के बीच हुआ।
आगे क्या होगा?

- पटियाला हाउस कोर्ट ने केस में सुनवाई की अगली तारीख 20 फरवरी को दोपहर 2 बजे तय कर दी है।
- इस तारीख को सोनिया-राहुल सहित बाकी आरोपी पेश होंगे।
- इसकी वजह यह है कि अपने फैसले में मजिस्ट्रेट ने साफ कर दिया कि अगली सुनवाई पर पेशी से किसी को छूट नहीं मिलेगी।
- जज ने सुब्रह्मण्यम स्वामी से कहा कि वे अपनी शिकायत से जुड़े सभी दस्तावेज अगली तारीख पर लेकर आएं।
- बताया जा रहा है कि पटियाला हाउस कोर्ट में चल रहे केस के बीच कांग्रेस अपने नेताओं के खिलाफ शिकायत से एक शब्द हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जा सकती है।
कांग्रेस क्यों जा सकती है सुप्रीम कोर्ट?

- स्वामी के जिस केस को पटियाला हाउस कोर्ट ने मंजूर किया है, उसमें क्रिमिनल कॉन्स्पिरेसी शब्द लिखा है।
- कोर्ट ने भी सोनिया, राहुल, मोतीलाल वोरा, ऑस्कर फर्नांडीस, सुमन दुबे और सैम पित्रोदा को आईपीसी की धारा 403 (बेइमानी से प्रॉपर्टी हथियाने), धारा 406 (भरोसा तोड़ने), धारा 420 (धोखाधड़ी) और धारा 120बी (क्रिमिनल कॉस्पिरेसी) के तहत समन भेजा था।
पेशी से जुड़ी हाइलाइट्स...
3:40 PM : सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा- ‘यह साफ तौर पर करप्शन का मामला है। इस केस में सोनिया-राहुल बच नहीं सकते। कोर्ट में जो कुछ हुआ, उससे मैं संतुष्ट हूं। मैंने सोचा था कि बेल पर बहस होगी। लेकिन वे तो रेडिमेड बेल एप्लिकेशन लेकर आए थे। सोनिया गांधी के लिए एंटनी और प्रियंका के लिए राहुल ने बेल बॉन्ड भरे।’
3:34 PM : केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह करप्शन का केस है। कांग्रेस इसे ऐसे पेश कर रही है जैसे यह आजादी की लड़ाई से जुड़ा केस है।
3:20 PM : सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि वे तो भाषण दे रहे थे कि बेल नहीं लेंगे। फिर क्या हुआ?
3:18 PM : सिब्बल ने कहा कि हमने अगली सुनवाई पर पेशी से छूट की मांग नहीं की है।
3:10 PM : अभिषेक सिंघवी ने कहा कि हम कल से कह रहे थे कि इस केस में बेवजह हाइप क्रिएट न की जाए। कोर्ट ने बिना शर्त के बेल दी है। सैम पित्रोदा को जज ने छूट दी है क्योंकि वे कान के ऑपरेशन की वजह से आए नहीं हैं।
3:08 PM : सोनिया-राहुल और बाकी आरोपियों की तरफ से पेश कपिल सिब्बल ने कहा कि स्वामी ने कोर्ट से मांग की थी कि हमारे नेताओं के देश से बाहर जाने पर कुछ शर्तें लगाई जाएं। लेकिन कोर्ट ने यह शर्त नहीं मानी। 20 फरवरी को दोपहर 2 बजे इस केस की अगली सुनवाई होगी। हमारे नेता अगली तारीख को भी पेश होंगे।
3:06 PM : सोनिया-राहुल और बाकी नेता पटियाला हाउस कोर्ट से रवाना।
3:01 PM : सोनिया गांधी और राहुल गांधी को बेल मिली। दोनों को 50-50 हजार का बॉन्ड भरना होगा।
2:55 PM : केस दायर करने वाले सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोनिया-राहुल को जमानत देने का विरोध किया। स्वामी ने कहा कि दोनों नेता देश छोड़कर जा सकते हैं, इसलिए जमानत न दी जाए। उन्होंने सैम पित्रोदा के खिलाफ जमानती वॉरंट जारी करने की मांग की। पित्रोदा कोर्ट में पेश नहीं हुए हैं।
2.51 PM: पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई शुरू। कांग्रेस नेताओं की तरफ से कपिल सिब्बल दलीलें दे रहे हैं।
2.47 PM: सोनिया-राहुल पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचे। सोनिया के लिए मनमोहन सिंह और राहुल के लिए प्रियंका गांधी श्योरिटी बॉन्ड भरेंगे।
2.41 PM: सोनिया गांधी और राहुल गांधी 10 जनपथ से पटियाला हाउस कोर्ट के लिए रवाना।
2.38 PM: कोर्ट पहुंचे मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, एके एंटनी, मोतीलाल वोरा, मोहसिना किदवई, मीरा कुमार, शीला दीक्षित, गुलाम नबी आजाद, ऑस्कर फर्नांडीस, मल्लिकार्जुन खड़गे, अंबिका सोनी, मुकुल वासनिक कोर्ट पहुंचे। राहुल-सोनिया थोड़ी देर में पहुंचेंगे।
2.30 PM: मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी, शीला दीक्षित, एके एंटनी सोनिया-राहुल की जमानत लेंगे।
2.27 PM: वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल अौर अभिषेक मनु सिंघवी कोर्ट पहुंचे।
2.21 PM: गुलाम नबी आजाद के घर कांग्रेस की मीटिंग खत्म। मोतीलाल वोरा, प्रियंका गांधी, आजाद और बाकी नेता पटियाला हाउस कोर्ट की तरफ रवाना हो रहे हैं।
2.20 PM: सुब्रह्मण्यम स्वामी पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचे। वे कोर्ट रूम के अंदर पहुंचे। उनकी पत्नी भी साथ हैं।
2.14 PM: अदालत की कार्रवाई में नेशनल हेराल्ड केस के आरोपियों के अलावा मनमोहन सिंह, प्रियंका वाड्रा, रॉबर्ट वाड्रा, रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन भी मौजूद रहेंगे। कोर्ट में कांग्रेस के 17 लोग मौजूद रहेंगे।
2.02 PM: सुब्रह्मण्यम स्वामी पटियाला हाउस कोर्ट की तरफ रवाना।
2.00 PM: कोर्ट रवाना होने से पहले स्वामी ने मीडिया से बात करते हुए कहा-कांग्रेस के दिखावे से दुनियाभर में देश को लेकर यह संदेश जाएगा कि यहां लोकतंत्र नहीं है। भारत में सभी लोग बराबर नहीं हैं।
2.00 PM: कांग्रेस के एमएलए वीएस राठौर कोर्ट में सैम पित्रोदा की तरफ से पेश होंगे। पित्रोदा बीमार हैं। वे अमेरिका में अपना इलाज करा रहे हैं।
1.45 PM: आजाद के घर पर कांग्रेस और यंग इंडियन के मेंबर्स की बैठक जारी।
1:19 PM : कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- कांग्रेस नहीं बल्कि बीजेपी इस मामले को सियासी रूप दे रही है। कांग्रेस ने किसी वर्कर को नहीं बुलाया वे तो अपने नेताओं से प्रेम के चलते यहां आ रहे हैं।
1:09 PM : आजाद ने कहा- लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा दिया था, लेकिन अब वह ‘विपक्ष मुक्त शासन’ चाहती है। सुब्रमण्यम स्वामी न तो सांसद हैं और न ही उन्होंने कोई ऐसा काम किया है कि उन्हें सरकारी मकान या जेड प्लस सिक्युरिटी दे। फिर क्यों ऐसा किया गया?
1:03 PM : कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मीडिया से बातचीत की।
12:28 PM : प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक पोस्ट पर कमेंट किया, ‘मैं अपनी मदर इन लॉ और ब्रदर इन लॉ काे पूरा सपोर्ट करता हूं। बदले की राजनीति और बदनाम करने की घिनौनी कोशिशों पर कोई यकीन नहीं करेगा। सच कायम रहेगा।’
12:20 PM : इंडिया गेट पर मौजूद पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर भी कई कांग्रेस एक्टिविस्ट पहुंचे। यहां कड़ी सिक्युरिटी है। इनर सिक्युरिटी कवर एसपीजी के हवाले है।
12:10 PM : राहुल गांधी 10 जनपथ पहुंचे। इस केस में सैम पित्रोदा के पेश होने पर सस्पेंस है। बताया जा रहा है कि वे अमेरिका दौरे से लौट रहे हैं।
12:05 PM : राहुल गांधी 12 तुगलक रोड स्थित अपने रेसिडेंस से सोनिया गांधी के रेसिडेंस 10 जनपथ की ओर रवाना। प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा भी सोनिया के रेसिडेंस पहुंचेंगे।
11:58 AM : बताया जा रहा है कि सोनिया और राहुल दोपहर 2:40 बजे पटियाला हाउस कोर्ट पहुंच जाएंगे। कोर्ट में दोपहर 3 बजे होनी है पेशी।
11:35 AM : प्रदर्शन करने वाले कांग्रेसी सोनिया के संसदीय इलाके रायबरेली और राहुल की लोकसभा सीट अमेठी से आए बताए जा रहे हैं।
11:30 AM : कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी की हिदायत के बावजूद अकबर रोड पर कांग्रेस दफ्तर के बाहर जुटे कार्यकर्ता। प्रदर्शन जारी।
11:20 AM : रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने 2000 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी को हड़पने की कोशिश की। अब कोर्ट फैसला करेगा। कांग्रेस ने हम पर साजिश के आरोप लगाए हैं। लेकिन राहुल को तो झूठ बोलने में महारत हासिल हो गई है।
11:10 AM : सुरजेवाला ने कहा- 2011 में रिवाइवल प्लान के तहत एसोसिएटेड जर्नल्स को नॉन प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन बनाने का फैसला लिया गया था। यह कांग्रेस की धरोहर है। इसे बचाए रखने के लिए यह किया गया।
11:05 AM : सुरजेवाला ने कहा- बीजेपी और मोदी सरकार साजिश की आग में जल रही है। हमारे खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज करा रही है। बीजेपी बेनकाब हो चुकी है। कांग्रेस संसद और उसके बाहर इसकी राजनीतिक लड़ाई लड़ेगी। हम ज्यूडिशयरी का सम्मान करेंगे।
11:02 AM : आरपीएन सिंह ने कहा कि हमारे खिलाफ कोर्ट केस दायर करने वाले सुब्रमण्यम स्वामी को कल मोदी सरकार ने बंगला अलॉट कर दिया। इससे साफ है कि यह साजिश है।
11:00 AM : सोनिया-राहुल की कोर्ट में पेशी से पहले अकबर रोड पर कांग्रेस ऑफिस में नेताओं का जुटना शुरू।
10:45 AM : कांग्रेस नेता अश्वनी कुमार ने कहा कि यह कहना गलत है कि हम नेशनल हेराल्ड केस की वजह से पार्लियामेंट नहीं चलने दे रहे हैं।
10:35 AM : कांग्रेस के चीफ स्पोक्सपर्सन रणदीप सुरजेवाला ने कहा- हमारे खिलाफ नरेंद्र मोदी राजनीतिक साजिश कर रहे हैं। इसमें सुब्रमण्यम स्वामी काफी छोटी कड़ी हैं।
ऐसे समझिए, क्या है नेशनल हेराल्ड केस?
#1. नेशनल हेराल्ड 1938 में शुरू हुआ
- जवाहरलाल नेहरू ने 1938 में नेशनल हेराल्ड अखबार की शुरुआत की।
- आजादी के बाद यह अखबार कांग्रेस का माउथपीस बना रहा।
- 2008 में अखबार छपना बंद हुआ।
- अखबार का मालिकाना हक एसोसिएटेड जर्नल्स के पास था।
#2. अखबार बंद होने के बाद क्या हुआ?
- कांग्रेस ने एसोसिएटेड जर्नल्स को बिना ब्याज के 90 करोड़ रुपए का लोन दिया।
- फिर 2010 में 5 लाख रुपए से यंग इंडियन कंपनी बनी।
- इसमें सोनिया-राहुल की 38-38 फीसदी हिस्सेदारी थी।
- कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और ऑस्कर फर्नांडीस के पास 24 फीसदी हिस्सेदारी थी।
#3. सोनिया-राहुल की कंपनी ने क्या किया?
- एसोसिएटेड जर्नल्स ने 2010 में अपने 10-10 रुपए के 9 करोड़ शेयर यंग इंडियन को ट्रांसफर कर दिए।
- बदले में 90 करोड़ रुपए का कर्ज भी यंग इंडियन के पास आ गया जो कांग्रेस से लिया गया था।
- यंग इंडियन को 50 लाख रुपए में ही 90 करोड़ के लोन की रिकवरी के राइट्स मिल गए।
#4. किसने दायर किया केस?
- बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने 2012 में कोर्ट में केस दायर किया।
- उनका आरोप है कि कांग्रेस ने पॉलिटिकल फंड का गलत इस्तेमाल किया।
- कांग्रेस ने नेशनल हेराल्ड की देशभर में मौजूद 2000 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी हथियाने के मकसद से ऐसा किया।
समन भेजते वक्त ट्रायल कोर्ट ने क्या कहा?
"ऐसा नजर आता है कि एसोसिएटेड जर्नल्स की 2000 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी का कंट्रोल हासिल करने के मकसद से यंग इंडियन बनाई गई। ऐसा लगता है कि पब्लिक मनी को पर्सनल मनी बनाने के लिए यह हुआ।" - गोमती मनोचा, मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट, पटियाला हाउस कोर्ट

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...