हमें चाहने वाले मित्र

11 अक्तूबर 2015

थू है ऐसी राष्ट्रभक्ति पर

देश से झूंठ बोलना ,,,देश से झूंठे वायदे करना ,,,देश को धोखा देना ,,देश में साम्प्रदायिकता ,,नफरत फैलाना ,,हिंसा भड़काना ,,,मारकाट कर लोगों को डराना धमकाना ,,,,,ऐसे लोगों को समर्थन देना ,,,ऐसे लोगों की अंधभक्ति करना ,,,,,,,,,,,सच से भागना ,,देश के संविधान ,,देश के क़ानून के खिलाफ बाते करना ,,,,,अगर इसे राष्ट्रभक्ति कहते है ,,अगर ऐसा करने वाले को राष्ट्रभक्त कहते है तो थू है ऐसी राष्ट्रभक्ति पर ,,में तो मेरे देश के संविधान का पालक ,,देश के क़ानून का रक्षक ,,देश से किये गए वायदों को नहीं निभाने वालोे की मेरा मुखालिफ मिजाज़ ,,,देश के नवनिर्माण में बाधा पहुंचाने वालों से लड़ाई ,,,,,,,अंधभक्तो को जगाने की मेरी कोशिश ,,,,देश में साम्प्रदायिक सौहार्द ,,सुख ,,शांति ,,,अमन ,,चेन ,,की चाहत ,,इसकी कोशिशें ,,मानवता का परचम ,,तिरंगे का सम्मान ,,कुर्सी से ज़्यादा देश को अहमियत देना,,,,धर्म ,,मज़हब से पहले मानवता देश होना चाहिए ,,,, मेरे अपने यही विचार है ,,हां फिर भी में अगर गद्दार हूँ तो मुझे गर्व है के में उन कथित राष्ट्रभक्तो से कई करोड़ गुना राष्ट्रभक्त देश का मुहाफ़िज़ हूँ ,,मुझे गर्व है ,,मुझे गर्व है और में खुद को ऐसे कथित राष्ट्रभक्तो से अव्वल प्रथम मानता हूँ ,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...