हमें चाहने वाले मित्र

10 अक्तूबर 2015

तुर्की: पीस मार्च से पहले सुसाइड अटैक, दो धमाकों में 86 की मौत dainikbhaskar.com Oct 10, 2015, 19:03 PM IST Print Decrease Font Increase Font Email Google Plus Twitter Facebook COMMENTS 17 1 of 15 Next अंकारा। तुर्की की राजधानी अंकारा में शनिवार को पीस रैली निकलने से ठीक पहले दो बड़े ब्लास्ट हुए। इनमें अब तक 86 लोगों की मौत होने की खबर है। 186 लोग जख्मी हुए हैं। ब्लास्ट के ऐन वक्त का वीडियो भी सामने आया है। कहां हुआ हमला? लोकल मीडिया के मुताबिक, धमाके रेलवे स्टेशन के एग्जिट गेट पर हुए। यह तुर्की के बेहद बिजी इलाकों में से एक है। इस स्टेशन से रोजाना 181 ट्रेनें गुजरती हैं। हुर्रियत न्यूजपेपर के मुताबिक, दोनों ही हमले सुसाइड बॉम्बर्स ने किए। हमले के वक्त निकल रहा था मार्च बताया जा रहा है कि जिस जगह ब्लास्ट हुआ, वहां पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के सपोर्टर्स पीस मार्च निकालने की तैयारी में थे और नारेबाजी कर रहे थे। यह मार्च लेबर यूनियन ने बुलाया था। इसका मकसद कुर्दिश आतंकियों और सेना के बीच चल रहे संघर्ष के खिलाफ प्रदर्शन करना था। इसमें कई एनजीओ भी पहुंचे थे। अब तक किसी भी संगठन ने ब्लास्ट की जिम्मेदारी नहीं ली है। हमले के बाद क्या हुआ? इस घटना के बाद ऑर्गेनाइजर्स ने मीटिंग बुलाकर मार्च में शामिल होने आए लोगों को अपने शहर लौट जाने को कहा। साथ ही, जख्मी लोगों को लिए अंकारा हॉस्पिटल में लोगों से ब्लड डोनेट करने की अपील की है। सुरुच में भी हुए थे ऐसे धमाके इससे पहले जुलाई में सुरुच के सेंट्रल सेंटर में भी ऐसे ही धमाकों को अंजाम दिया गया था। इसमें 30 लोगों ने जान गंवाई थी। 100 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। बता दें, कुर्द और तुर्की आर्मी के बीच पिछले कई दशकों से संघर्ष चल रहा है। कुर्द अपने लिए इंडिपेंडेंट स्टेट की मांग कर रहा है। इसी साल जुलाई में तुर्की ने सीरिया और इराक में आईएस और पीकेके के खिलाफ हवाई हमले शुरू किए हैं। पीकेके को तुर्की, अमेरिका और यूरोपीय यूनियन ने आतंकी संगठन घोषित कर रखा है।

अंकारा। तुर्की की राजधानी अंकारा में शनिवार को पीस रैली निकलने से ठीक पहले दो बड़े ब्लास्ट हुए। इनमें अब तक 86 लोगों की मौत होने की खबर है। 186 लोग जख्मी हुए हैं। ब्लास्ट के ऐन वक्त का वीडियो भी सामने आया है।
कहां हुआ हमला?
लोकल मीडिया के मुताबिक, धमाके रेलवे स्टेशन के एग्जिट गेट पर हुए। यह तुर्की के बेहद बिजी इलाकों में से एक है। इस स्टेशन से रोजाना 181 ट्रेनें गुजरती हैं। हुर्रियत न्यूजपेपर के मुताबिक, दोनों ही हमले सुसाइड बॉम्बर्स ने किए।
हमले के वक्त निकल रहा था मार्च
बताया जा रहा है कि जिस जगह ब्लास्ट हुआ, वहां पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के सपोर्टर्स पीस मार्च निकालने की तैयारी में थे और नारेबाजी कर रहे थे। यह मार्च लेबर यूनियन ने बुलाया था। इसका मकसद कुर्दिश आतंकियों और सेना के बीच चल रहे संघर्ष के खिलाफ प्रदर्शन करना था। इसमें कई एनजीओ भी पहुंचे थे। अब तक किसी भी संगठन ने ब्लास्ट की जिम्मेदारी नहीं ली है।
हमले के बाद क्या हुआ?
इस घटना के बाद ऑर्गेनाइजर्स ने मीटिंग बुलाकर मार्च में शामिल होने आए लोगों को अपने शहर लौट जाने को कहा। साथ ही, जख्मी लोगों को लिए अंकारा हॉस्पिटल में लोगों से ब्लड डोनेट करने की अपील की है।
सुरुच में भी हुए थे ऐसे धमाके
इससे पहले जुलाई में सुरुच के सेंट्रल सेंटर में भी ऐसे ही धमाकों को अंजाम दिया गया था। इसमें 30 लोगों ने जान गंवाई थी। 100 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। बता दें, कुर्द और तुर्की आर्मी के बीच पिछले कई दशकों से संघर्ष चल रहा है। कुर्द अपने लिए इंडिपेंडेंट स्टेट की मांग कर रहा है। इसी साल जुलाई में तुर्की ने सीरिया और इराक में आईएस और पीकेके के खिलाफ हवाई हमले शुरू किए हैं। पीकेके को तुर्की, अमेरिका और यूरोपीय यूनियन ने आतंकी संगठन घोषित कर रखा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...