हमें चाहने वाले मित्र

16 सितंबर 2015

भारत छोड़कर भागा सऊदी डिप्लोमैट, दो नेपाली महिलाओं से रेप का है आरोप

सऊदी डिप्लोमैट के चुंगल से छुड़ाई गई दो नेपाली महिलाएं मां-बेटी हैं।
सऊदी डिप्लोमैट के चुंगल से छुड़ाई गई दो नेपाली महिलाएं मां-बेटी हैं।
नई दिल्ली. गुड़गांव में दो नेपाली महिलाओं से रेप का आरोपी सऊदी डिप्लोमैट भारत छोड़कर भाग गया है। विदेश मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि हमें पता चला है कि कथित तौर पर 2 नेपाली महिलाओं के साथ रेप और बंधक बनाकर रखने वाले माजिद अशूर ने भारत छोड़ दिया है। गुड़गांव में सऊदी डिप्लोमैट के घर से पिछले दिनों पुलिस ने 44 और 20 साल की दो नेपाली महिलाओं को छुड़ाया था। इन महिलाओं ने अशूर पर रेप करने और उन्हें बंधक बनाकर रखने का आरोप लगाया था।
कौन है आरोपी?
आरोपी माजिद अशूर की उम्र 50 साल बताई गई। वह सऊदी एंबेसी के वीजा सेक्शन में डिप्टी हेड के तौर पर तैनात था। बताया जाता है कि एंबेसी में वह महत्वपूर्ण अफसर है, जिसके पास कई एडिशनल चार्जेज भी हैं।
एंबेसी ने नहीं किया सपोर्ट
सऊदी एंबेसी के पास दो ऑप्शन थे कि या तो अपने डिप्लोमैट को वापस सऊदी भेज दे या उसके सारे अधिकार वापस ले ले, ताकि उसके ऊपर कार्रवाई की जा सके। भारत ने इस मामले में सऊदी अरब सरकार से लगातार सहयोग की अपील की थी, लेकिन सऊदी दूतावास ने अपने डिप्लोमैट पर लगे आरोपों को खारिज किया था।
क्या है मामला?
गुड़गांव में सऊदी अरब के डिप्लोमैट के घर से दो महिलाओं को छुड़ाया गया था। महिलाओं ने बताया था कि डिप्लोमैट ने उन्हें गुड़गांव के एक फ्लैट में बंद करके रखा था और उनसे कई बार रेप भी किया। लड़कियों ने बताया था कि डिप्लोमैट ने उन्हें तीन-चार महीनों से बंधक बनाकर रखा था। उन्हें हमेशा घर में बंद करके रखा जाता था और खाने के लिए भी कुछ नहीं दिया जाता था और इनके साथ मार-पीट भी की जाती थी। नेपाल में आए भूकंप में इन लोगों के घर तबाह हो गए थे। इसके बाद ये लोग नौकरी की तलाश में यहां आई थीं।
डिप्लोमैट स्तर पर उठाया जाएगा मामला
नेपाल सरकार ने कहा, उनके देश की देश महिलाओं के साथ रेप के मामले के आरोपी के अपने देश चले जाने के मामले को वह डिप्लोमैट स्तर पर उठाएगा। इससे पहले नेपाल ने कहा था, गुड़गांव पुलिस सही कार्रवाई कर रही थी। उससे नेपाल सरकार संतुष्ट थी। नेपाली डिप्लोमैट ने भरोसा जताया था कि दोनों नेपाली महिलाओं को न्याय मिलेगा।
एजेंट भी देश छोड़कर जा सकता है
गुड़गांव पुलिस ने आशंका जताई है कि नेपाली महिलाओं को लाने वाले एजेंट की पहचान अनवर के तौर पर कर ली है। वह भी देश छोड़कर जा सकता है, लेकिन उसकी गिरफ्तारी के बारे में विदेश मंत्रालय से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। मंत्रालय अब तक रिपोर्ट के इंतजार में है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...