हमें चाहने वाले मित्र

16 सितंबर 2015

मक्का हादसा: मरने वालों की फैमिली को 1.7 करोड़ रुपए, 2 मेंबर को मुफ्त हज

घायलों से अस्पताल में बातचीत करते सऊदी किंग।
घायलों से अस्पताल में बातचीत करते सऊदी किंग।
मक्का. सऊदी अरब के किंग सलमान ने बीते हफ्ते मक्का में हुए हादसे में मारे गए और गंभीर रूप से जख्मी हुए लोगों की फैमिली को 1.7 करोड़ रुपए और मामूली रूप से जख्मी लोगों को 88 लाख रुपए देने का एलान किया है। 11 सितंबर को पवित्र शहर मक्का की अल हरम मस्जिद में क्रेन गिरने से कम से कम 111 लोग मारे गए, जबकि लगभग 400 लोग घायल हुए थे। मरने वालों में 11 भारतीय भी शामिल हैं।
दो मेंबर्स को मुफ्त हज यात्रा
किंग सलमान ने यहा भी कहा है कि सऊदी सरकार क्रेन हादसे में मरने वालों के परिवार में से दो लोगों को अगले साल न सिर्फ मेहमान का दर्जा देगी, बल्कि उनके हज का सारा खर्च भी खुद देगी।
बिन लादेन ग्रुप पर चला शाही कोर्ट का डंडा
बता दें कि जिस क्रेन से इतना बड़ा हादसा हुआ, उसे आतंकी ओसामा बिन लादेन के परिवार की कंस्ट्रक्शन कंपनी 'सऊदी बिन लादेन ग्रुप' (एसबीजी) ऑपरेट कर रही थी। सऊदी की शाही कोर्ट ने एसबीजी को सस्पेंड कर दिया है। गौरतलब है कि एसबीजी को ही अल हरम मस्जिद के एक्सपैन्शन की जिम्मेदारी दी गई थी।
ताकि एक बार में 22 लाख लोग मौजूद रह सकें
एसबीजी को मक्का की इस मस्जिद का एरिया 43 लाख स्क्वेयर फीट तक बढ़ाने का काम सौंपा गया था। इसके लिए मस्जिद के चारों ओर बड़ी-बड़ी क्रेनें लगाई गई थीं। इस प्रोजेक्ट पर सऊदी सरकार 1.37 लाख करोड़ रुपए कर रही है। कंस्ट्रक्शन इस तरह किया जा रहा था कि वहां एक बार में 22 लाख लोग मौजूद रह सकें। ग्रैंड मस्जिद के एक्सपैन्शन का काम सऊदी के पूर्व किंग अब्दुल्ला बिन अब्दुलअजीज ने 2011 में लॉन्च किया था।
कैसे हुआ था हादसा?
हादसे की जांच करने वाली कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि क्रेन को गलत दिशा में लगाया गया था। कंपनी द्वारा क्रेन को लगाने के मानकों का पालन नहीं किया गया था।
पहले कब हुए हादसे?
- 1987 : ईरानी श्रद्धालुओं और सऊदी गवर्नमेंट के बीच झड़प में 402 लोगों की मौत और 650 लोग घायल।
- 1989 : मक्का में दो बम ब्लास्ट में एक की मौत, 16 घायल।
- 1990 : भगदड़ में 1426 लोगों की मौत।
- 1994 : पत्थर मारने की रस्म के दौरान भगदड़ से 270 लोगों की मौत।
- 1997 : आग लगने से 340 से ज्यादा लोगों की मौत, 1500 घायल।
- 1998 : ओवर पास पर 180 लोगों की मौत।
- 2001 : भगदड़ में 35 लोगों की मौत।
- 2004 : भगदड़ में 200 से ज्यादा लोगों की मौत।
- 2006 : मक्का में ब्रिज पर मची भगदड़ की वजह से 300 लोगों की जान गई।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...