हमें चाहने वाले मित्र

06 सितंबर 2015

कहने को मेरा कोटा शहर शैक्षणिक नगरी ,,औद्योगिक नगरी ,,स्मार्ट सिटी

कहने को मेरा कोटा शहर शैक्षणिक नगरी ,,औद्योगिक नगरी ,,स्मार्ट सिटी ,,स्मार्ट सांसद ,स्मार्ट विधायक ,स्मार्ट प्रतिपक्ष ,,स्मार्ट प्रशासनिक अधिकारियो की सीटी है ,,लेकिन इस कोटा शहर की स्मार्टनेस को कलंकित करने वाली विज्ञाननगर मुख्यमार्ग की कंकर बिखरी ,,टूटी फूटी सड़को को देखकर पुरे भारत से आये लोग हमे शर्मिंदा करते नज़र आते है ,,हमारा उपहास हमारा मज़ाक उड़ाते है ,,ताने मारते है अजीब स्मार्ट सीटी है विज्ञाननगर की मुख्य सड़क जहाँ से रोज़ लाखो लोग निकलते है ,,विज्ञाननगर जहाँ शहर के कई वी आई पी रहते है यहां की अगर सड़के कई महीनो से जंगल की तरह की तरह खुदी पढ़ी है तो इस शहर को स्मार्ट सीटी नही ,,,लानत सीटी ही कहा जा सकता है ,,जी हाँ दोस्तों यह मेरे तास्सुरात नहीं ,यह बच्चो को पढ़ाने अाने वाले दूर दराज़ दूसरे राज्यों से आने वाले अभिभावकों के तास्सुरात है ,,,,,बात सही भी है विज्ञाननगर जो कोटा का दिल है ,,जो सबसे व्यस्ततम और आधनिक पहली मेगनट नगरी है ,,कोचिंग की शुरुआत इसी नगरी से हुई ,,आज सबसे बढ़ी व्यस्ततम बस्ती विज्ञाननगर में आवाजाही का मुख्य मार्ग कई महीनो से टूटा फूटा है ,,सड़को पर कंकर बिखरे है ,,ऐसा लगता है किसी गाँव ,,किसी कच्ची बस्ती का नज़ारा हो ,,रोज़ कई लोग स्लिप होकर गिरते है कई लोगों के वाहन नुकीले कंकरों से पंचर हो जाते है लेकिन कई माह से टूटी फूटी इस सड़क को आज तक ठीक करवाने वाला कोई स्मार्ट में नहीं पैदा हो सका है ,,,,,,,,,,कोटा सांसद ,,,विधायक कोटा दक्षिण ,,महापौर ,,उप महापौर ,,पार्षद ,,,नगर विकास न्यास ,,कोटा प्रशासन ,,सार्वजनिक निर्माण विभाग ,,कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन करने वाले नेता जो कोई भी हो सभी तो इस मामले में खामोश है ,,सभी का तो उपेक्षित रुख है ,,,ऐसे में जिस स्मार्ट सिटी की स्मार्ट नगरी विज्ञानगर की सड़के टूटी फूटी हो ,,सड़को पर नुकीले पत्थर बिखरे पढ़े हो तो फिर ऐसी सिटी को स्मार्ट सिटी कैसे कहे ,,,,,,बाहर से आने वाले लोग रोज़ ताने मारते है ,,वोह सत्ता में बैठे विधायक ,,सांसद को तो कोसते ही है लेकिन अधिकारियो और विपक्ष में बैठे लोगों का भी वोह मज़ाक उड़ाते नज़र आते है ,,,,,,कोटा कलेक्टर को इस मामले में खुद विज्ञाननगर की सड़को का अवलोकन कर तुरंत यहां की सड़के ठीक कारवांना चाहिए ताकि स्मार्ट अफसर की स्मार्ट सिटी में बाहर से आने जाने वाले लोगों के इस वाजिब ताने बाज़ी से इस शहर को मुक्ति मिल सके ,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...