हमें चाहने वाले मित्र

11 सितंबर 2015

फतवा: मोहम्मद साहब पर बनी फिल्म में म्यूजिक देकर नापाक हो गए रहमान


 फाइल फोटो : ए आर रहमान
फाइल फोटो : ए आर रहमान
मुंबई. मशहूर म्यूजिक कंपोजर ए आर रहमान और ईरानी फिल्म मेकर माजिद मजीदी के खिलाफ मुंबई के एक सुन्नी ग्रुप ने फतवा जारी किया है। रजा एकेडमी नाम के इस ग्रुप के फतवे में माजिद मजीदी की फिल्म 'मोहम्मद : द मैसेंजर ऑफ गॉड' के जरिए मुस्लिमों की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने का आरोप लगाया गया है।
क्या लिखा है फतवे में?
फतवे में कहा गया है कि मोहम्मद साहब की तस्वीर बनाई या रखी नहीं जा सकती है। ईरानी फिल्म ‘मोहम्मद...’ इस्लाम का मजाक उड़ाती है। इसमें प्रोफेशनल एक्टर्स ने रोल किए हैं, जिनमें कुछ गैर मुस्लिम भी हैं। जो मुस्लिम फिल्म में काम कर रहे हैं, खासकर मजीदी और रहमान, वे नापाक हो गए हैं और उन्हें फिर से कलमा पढ़ने की जरूरत है।

किसने और कैसे बनाई फिल्म?

>'मोहम्मद- मैसेंजर ऑफ गॉड' 27 अगस्त को रिलीज हो चुकी है। फिल्म के डायरेक्टर ऑस्कर विनर माजिद मजीदी हैं।
>फिल्म की लागत 253 करोड़ रुपए (40 मिलियन USD) बताई जा रही है। दावा किया जा रहा है कि यह ईरान की अब तक की सबसे महंगी फिल्म है।
>ईरान की मैगजीन 'हिजबुल्लाह लाइन' से बातचीत में माजिद ने कहा, ''मैंने वेस्टर्न देशों में इस्लाम को लेकर बढ़ते डर की वजह से इस फिल्म को बनाने का फैसला किया।''
>फिल्म तीन पार्ट में बनी है। पहला हिस्सा 117 मिनट का है। इसमें पैगंबर साहब के बचपन की स्टोरी दिखाई गई है। हालांकि, उनका रोल करने वाले एक्टर का चेहरा नहीं दिखाया गया है। सिर्फ परछाई ही दिखाई गई है।
>फिल्म की रिलीज के बाद से ही अरब देशों में बवाल खड़ा हो गया है। सुन्नियों का सबसे बड़ा संगठन अल-अजहर इस फिल्म से खफा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...