हमें चाहने वाले मित्र

28 सितंबर 2015

,किसान स्वाभिमान रैली ,,,में राजस्थान के पूर्व मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किसान विरोधी नीतियों पर जमकर बरसे ,

प्रदेश युथ कांग्रेस के आह्वान पर कोटा कलेक्ट्री परिसर के पास आज यहां ,,,,,किसान स्वाभिमान रैली ,,,में राजस्थान के पूर्व मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किसान विरोधी नीतियों पर जमकर बरसे ,,,उन्होंने नरेदंर मोदी पर बेरोज़गारों और देश की जनता के साथ खिलवाड़ कर उनके साथ निराशाजनक व्यवहार का आरोप लगाया ,,,शांति कुमार धारीवाल ने राजस्थान में किसानो की ओलावृष्टि के बाद सर्वप्रथम मज़बूती से आवाज़ उठाई थी ,,इनकी आवाज़ के बाद ही कोटा में भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस की अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने कोटा के किसानो की समस्याएं रूबरू जानी थी ,,,शांतिधारीवाल किसानो के हक़ संघर्ष के लिए उस वक़्त भी आक्रामक थे और आज भी किसानो के लिए उनके तीखे तेवर थे ,,,,,शान्तीधारीवाल ने कोटा प्रवास के दौरान प्रतीपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी को भी सर्किट हाउस में किसान समस्या पर सरकार को घेरने की कार्ययोजना सिखाई थी ,,फिर शांतिधरीवाल ने कोटा सी ऐ डी सर्किल पर विशाल एकता किसान रैली का आयोजन किया ,,शांतिधारीवाल फिर किसानो के हक़ संघर्ष के लिए कलेक्ट्रेट पर अपने साथियो के साथ दहाड़े ,,वोह अपनी टीम के साथ इटावा ,,मण्डाना सहित सभी ग्रामीण इलाक़ो में किसानो के हक़ के लिए संघर्ष करते देखे गए ,,,शांतिधारीवाल के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट परिसर के पास पिछले दिनों आज की रैली से काफी बढ़ी रैली का आयोजन किया था ,,,,शांतिधारीवाल हाड़ोती के किसानो की समस्या के लिए अपनी टीम के साथ हमेशा संघर्षरत रहे है ,,आज शान्तीधारीवाल किसान हक़ संघर्ष में उठाई गई आवाज़ को पूरा हिन्दुस्तान ,,पूरा राजस्थान उठा रहा है और ख़ुशी की बात यह रही के जिस स्थान पर शांतिधारीवाल और समर्थको ने व्यवस्थित किसान संघर्ष विशाल रैली की थी आज कांग्रेस के सभी दलों ,सभी गुटो ,,प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर के नेताओ की उपस्थिति में शांतिधरीवाल की किसान संघर्ष रैली से काफी कम लोग मौजूद थे ,,लेकिन जो लोग मौजूद थे वोह किसानो के हक़ के लिए लड़ने वाले थे ,,शानतिधरीवाल किसानो के लिए शुरू की गई उनकी लड़ाई में सभी कोंग्रेसियो को शामिल देखकर आज संतुष्ट नज़र आये ,,उनका रुख आज भी केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ आक्रामक था ,,शांतिधारीवाल ने नरेदंर मोदी के खिलाफ चुटकी लेते हुए कहा के वोह भारत के प्रधानमंत्री है लेकिन रहते विदेशो में है ,,उन्हें देश के किसानो की समस्याओ से कोई लेना देना नहीं है नतीजन किसान भूखे मर रहे है ,,आत्महत्या कर रहे है ,,उन्होंने कहा के राजस्थान सरकार की महारानी तो किसानो की समस्याओ के मामले में सोई पढ़ी है ,,लगातार आत्महत्याओं का दौर ,,,,फसल चोपट होने से सदमे से किसानो की मृत्यु लेकिन राजस्थान सरकार के कान पर जू भी नहीं रेंगी है किसानो को पर्याप्त मुआवज़ा भी नहीं दिया गया है ,,शान्ति धारीवाल ने युवाओ से आह्वान किया के सब एक जुट होकर हमारे अन्न दाता किसानो के हक़ संघर्ष के लिए आगे बढ़े उनका खोया हुआ स्वाभिमान उन्हें फिर से वापस दिलवाए ,,युवाओ के इस संघर्ष में किसानो का हक़ मिलने तक वोह उनके साथ है ,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...