हमें चाहने वाले मित्र

03 अगस्त 2015

उर्दू बचाने के लिए प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे

राजस्थान में स्टाफिंग पैटर्न के नियमों के खिलाफ जाकर गैर क़ानूनी तरीके से स्कूलों से उर्दू विषय खत्म करने की साज़िशों के खिलाफ राजस्थान के उर्दू हमदर्द ,,साहित्यकार ,,शिक्षक ,,,उर्दू से जुड़े लोगों सहित कई समाज सेवी संगठन उर्दू बचाने के लिए प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे ,,,,,,,रविवार को इस मामले में तहरीके उर्दू राजस्थान के आह्वान पर जयपुर स्थित मोती डूंगरी रोड मुसाफिर खाने में बैठक में राजस्थान के दूरदराज़ इलाक़ों से पहुंचे सबी ज़िलों और कस्बों के पर्तीिनिधियों की बैठक में उर्दू के खिलाफ चल रही साज़िश को रोकने के लिए जागरूकता अभियान के साथ एक जंगी प्रदर्शन करने का फैसला लिया गया ,,,,,,,,,रविवार को क़ाज़ी ऐ शहर कोटा अलहाज अनवार अहमद की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में तहरीके उर्दू से जुड़े लोगों की उपस्थिति में राजस्थान भर के सभी ज़िलों के पर्तीिनिधियों ने एक होकर सर्वसम्मत फैसले में कहा के स्टाफिंग पैटर्न के नाम पर सरकार ने स्कूलों से उर्दू खत्म करने की जो गैर क़ानूनी साज़िश की है उन सभी स्कूलों में पूर्ववत उर्दू बहाल करने तक ,,,,नए प्रस्तावों के तहत स्कूलों में स्वीकृत बजट में उर्दू के अध्यापक नियुक्त करने तक यह आंदोलन जारी रहेगा ,,,कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ने सभी ज़िलों से आये उर्दू के हमदर्दों को सम्बोधित करते हुए कहा के उर्दू हिन्दुस्तान की ज़ुबान है ,,साहित्य की जुबां है ,,तहज़ीब की जुबां है और हमे ख़ुशी है के इस जुबां को बचाने के लिए ,,इस साहित्य को बचाने के लिए राजस्थान के सभी धर्म ,,मज़हब से जुड़े लोग जागरूक है बेदार है और हमारे मिश्म में मददगार बन रहे है ,,कोटा शहर क़ाज़ी ने ब्यौरा देते हुए कहा के हमे ख़ुशी है के सरकार के इस बेहूदा फैसले के खिलाफ सरकार के ही सांसद ,,विधायक परज़ोर खिलाफ है और वोह भी इस लड़ाई में हमारे साथ रहकर अपने तरीके से ,,,मर्यादित आचरण में सरकार में बैठे लोगों के समक्ष उर्दू खत्म करने के खिलाफ अपने खयालात इज़हार करते हुए उर्दू को यथावत रखने के लिए लिख चुके है ,,,,,कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ने कहा के उर्दू के हमदर्दों अपने अपने ज़मील को झिंझोड़ो ,,ज़रा अपने अंदर झाँक कर देखो अपनी तहज़ीब ,,अपने देश की इस जुबां को बचाने के लिए आज अगर हमने कुछ नहीं किया तो यह तहज़ीब यह संस्कृति तुम्हे कभी माफ़ नहीं करेगी ,,,कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ने कहा के सभी लोग अपने अपने ज़िलों ,,,क़स्बों में जाकर ज़रिये कलेक्टर ,,ज़रिये एस डी एम मुख्यमंत्री के नाम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर उर्दू के साथ सौतेला व्यवहार खत्म कर सभी स्कूलों में पूर्ववत उर्दू बहाल कर नए स्वीकत पदो पर नियुक्ति देने की मांग को लेकर ज्ञापन दिलवाए ,,,,,,,,,,,,,,,,,बैठक में धौलपुर ,जोधपुर ,,बीकानेर ,,जैसलमेर ,,भरतपुर ,,बाड़मेर ,,जयपुर ,,कोटा ,,बारां ,,बूंदी ,,झालावाड़ ,,टोंक ,,,,सवाईमाधोपुर ,,जालोर ,,,नागौर ,,पाली ,,अजमेर सहित सभी ज़िलों के प्रतिनिधि मौजूद थे जिन्होंने एक स्वर में सर्वसम्मति से तहरीके उर्दू राजस्थान के आह्वान पर किये जा रहे संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर साथ करने का वायदा किया ,,बैठक में आगामी दो हफ्ते बाद राजस्थान भर में हर ज़िले में सड़कों पर हज़ारो हज़ार की तादाद में उर्दू के हमदर्दों के प्रदर्शन की तैयारियों का भी जायज़ा लिए जो पहले जिलेवार होगा फिर प्रदेश स्तर पर जयपुर में विधानसभा को घेरने की तैयारी होगी ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,बैठक में पूर्व विधायक माहिर आज़ाद ,,,,नईमुद्दीन गुडु ,,,,शौकत कुरैशी ,,,श्रीमती खान ,,,अख्तर खान अकेला ,,हाफ़िज़ मंज़ूर ,,अनीस अंसारी ,, अमीन कायमखानी ,रफ़ीक़ बेलियम ,,नायब क़ाज़ी ज़ुबेर अहमद ,,,,रईस मवाब सहित कई वक्ताओं ने अपने विचार रखे जबकि हाफ़िज़ हमीद ने बैठक का संचालन किया ,,,,,कार्यक्रम की व्यवस्था में मुज़फ्फर राहीन ,,ज़ाकिर रिज़वी ,,,समीउल्ला सहित कई साथियों का योगदान रहा ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,बैठक के बाद कोटा शहर क़ाज़ी के नेतृत्व के गठित टीम जयपुर में उर्दू अदब के शायरों ,,उर्दू जुबांन के हमदर्दों से भी मिले और उन्हें भी आंदोलन की रूपरेखा के बारे में बताया ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...