हमें चाहने वाले मित्र

15 जुलाई 2015

किसी भी धर्म मज़हब से बढ़कर मानवता ही होती है

धर्म ,,मज़हब ,,समाज ,,परवरिश सिर्फ एक बात सिखाती है जो है भाईचारा ,,सद्भावना और खासकर मानवता ,,किसी भी धर्म मज़हब से बढ़कर मानवता ही होती है ,,अपने धर्म की आस्था के साथ साथ दुसरो के धर्म के भी बेहतर नियमों की पालना बिना किसी दिखावे ,,बिना किसी ढिंढोरे ,,बिना किसी सियासत के अगर कोई करे तो इसे महानता कहते है ,,,जी हाँ दोस्तों में बात कर रहा हूँ समाजसेविका बहन आशा मल्लाह और एडवोकेट रेखा देवी की जो सगी बहने है और खुद को बुलंद कर अपनी महनत लगन ,,ईमानदारी से खुद को स्थापित कर साबित करने में कामयाब हुई है ,,,,,,,,,कोटा में समाज सेवा लेखन के साथ साथ अपने व्यवसाय की ज़िम्मेदारी निभाकर बहन रेखा को वकील बनाने वाली आशा मल्लाह कहती है के कोई धर्म ,,कोई मज़हब लड़ाई झगड़े ,,नफरत नहीं सिखाता ,,त्याग समर्पण और भाईचारा हर मज़हब का पैगाम है वोह सभी धर्मों से प्रभावित है ,, आशा मल्लाह सतसिरी अकाल भी कहती है तो जीसस की मानवता की शिक्षा का मान भी रखती है वोह नवरात्रा भी पाबंदी से करती है तो पिछले कई सालों से निर्बाद्ध रूप से बिना किसी लालच के अपने व्यवसायिक कामकाज को संवर्द्धित करते हुए पुरे रोज़े रखती है ,,आशा मल्लाह पिछले पांच सालों से लगातार पुरे रोज़े रखती है नियत पढ़ती है ,,मुस्लिम रिवायत के तहत पाकीज़गी का पालन करती है और निर्धारित वक़्त अज़ान के बाद ही इस्लामिक दुआओ के साथ रोज़ा इफ्तार करती है ,,कल शबे क़द्र का महत्व बहन एडवोकेट रेखा देवी ने भी जाना और रोज़ा रखकर त्याग ,,समर्पण ,,,तपस्या ,,मानवता के इस संदेश को आगे बढ़ाया ,,,,,,,,,,,,आशा मल्लाह और रेखा देवी अपने धर्म मज़हब के सभी सिद्धांतो की पालना करते हुए दूसरे के मज़हब का कैसे सम्मान करे ,,दूसरे समाज को ऐसे आदर सम्मान दे मानवता के इस संदेश ,,इस फार्मूले को वोह खूब बेहतर जानते हुए कटटरपंथी मज़हब के ठेकेदारो को संदेश देती है के धर्म ,,मज़हब नफरत नहीं ,,त्याग ,,समर्पण ,, बलीदान ,,सेवा भाव सिखाता है ,,,,,,,,बहन आशा मल्लाह और रेखदेवी को सलाम ,,सेल्यूट ,,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...