हमें चाहने वाले मित्र

06 फ़रवरी 2011

राजस्थान में थानेदारों की सेटिंग हे मुख्यमंत्री जानते हें

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत यहाँ की पुलिस के सारे माजने जानते हें लेकिन एक मुख्यमंत्री अगर पुलिस के सारे कुकिर्तय जान ले और फिर कुच्छ भी न कर सके तो फिर ऐसे मुख्यमंत्री को बेबस और लाचार से ज्यादा क्या कहा जा सकता हे ।
कल मुख्यमंत्री जी ने एक बयान में साफ़ तोर पर कहां के थानेदार लोगों का चोरों के साथ सम्बन्ध हें यह लोग शुरू में तो इलाके में गश्त करते हे फिर धीरे धीरे इनकी इलाके के चोरों से सेटिंग हो जाती हे और थाने सिपाहियों के हवाले कर यह घरों पर सोते हें । गहलोत का यह तल्ख बयान पहली बार नहीं दिया गया हे गहलोत यह बयान इसके पहले भी कई बार दे चुके हे लेकिन पुलिस आचरण सुधार के लियें सुप्रीम कोर्ट के प्रकाश सिंह वाले मामले के दिशा निर्देशों की पालना नहीं की हे सरकार ने राजस्थान में पुलिस अधिनियम तो बना लिया हे लेकिन इस अधिनियम की पलना नहीं की हे अधिनियम के तहत पुलिस आयोग.पुलिस कल्याण आयोग और जिला,सम्भाग,राज्य स्तर की निगरानी समितियों के गठन का आवश्यक प्रावधान हे जिसमें जनता के वोह लोग शामिल होंगे जिनका राजनीती से कोई सीधा सम्बन्ध नहीं होगा बस इसी लियें सरकार पीछे हे के अगर वोह पार्टी के पार्षद कार्यकर्ताओं को इसमें जगह नहीं दे सकती हे तो फिर वोह केसे किसी नियुक्ति करे अब जब पुलिस अधिनियम की पालना नहीं होगी पुलिस पर नकेल नहीं कसी जायेगी पुलिस के खिलाफ शिकायतों का निस्तारण नहीं होगा तो फिर पुलिस तो पुलिस हे मजे लेगी हे और फिर उन्हें गहलोत की क्या प्रवाह केवल जुबान से ही तो कहते हें ऐसे लोगों के खिलाफ कोई कार्यवाही तो नहीं की गयी इसलियें पुलिस निश्चिन्त हें के यह बयान शायद राजनितिक बयान हो और यही कारण हें के खाकी जी नीचे इ उपर टक मजे कर रहे हें राजनीति का एय्ह हल हे के किसी अधिकारी को दो वर्ष से पूर्व नहीं हटाया जा सकता लेकिन गहलोत ने तो आई जी तक के अधिकारीयों को दो वर्ष पहले ही इधर उधर कर दिया हे तो फिर जब खुद दूध के धुले नहीं हें तो पुलिस तो पुलिस हे कुछ भी कह लो ऐसे ही करेगी । अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

1 टिप्पणी:

  1. yahi haal pur desh ka hai ..........kuch hum jante hai aur kuch wo jante hai .......koi uper se leta hai koi neeche se leta hai ......sabka apna pan tarika hai

    उत्तर देंहटाएं

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...