हमें चाहने वाले मित्र

21 जुलाई 2021

निराश्रित बालकों , वृद्धों , महिलाओं को ,, माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की संरक्षित योजनाओं , अवैध कारोबारियों के खिलाफ मुक़दमे दर्ज करवाकर , कोटा पुलिस , समाज कल्याण विभाग , बाल कल्याण समिति को , कठोर निर्देश देकर , कोटा की आवाजाही सड़कों ,चौराहे से निराश्रित वृद्ध , महिलाओं , बच्चों को , कल्याण व्यवस्थाएं दिलवाने के क्रम में

 माननीय जिला  कलेक्टर महोदय
कलेक्ट्रेट परिसर , कोटा राजस्थान
विषय  ,,  निराश्रित बालकों , वृद्धों , महिलाओं को ,,  माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की संरक्षित योजनाओं , अवैध कारोबारियों के खिलाफ  मुक़दमे दर्ज करवाकर , कोटा पुलिस , समाज कल्याण विभाग , बाल कल्याण समिति को , कठोर निर्देश देकर , कोटा की आवाजाही सड़कों ,चौराहे से निराश्रित वृद्ध , महिलाओं , बच्चों को ,  कल्याण व्यवस्थाएं दिलवाने के क्रम में ,
मान्यवर ,
जैसा की सर्वविदित है , की माननीय मुख्यमंत्री अशोक जी गहलोत , कोटा सहित सम्पूर्ण राजस्थान में , निशक्त , अशक्त , निराश्रित , बाल श्रमिक , उपेक्षित बालकों , महिलाओं ,, के कल्याण , उनके रोज़गार , सहित , उनकी संरक्षण योजनाओं के प्रति गंभीर है , माननीय अशोक जी गहलोत के निर्देश पर , उपेक्षित बालकों से भीख मंगवाने , बाल श्रम करवाने सहित दूसरे कामकाज मामले में , कठोर दंडात्मक क़ानून है ,, ऐसे बालक , बालिकाओं के लिए , कई योजनाए है ,जिसमे उन्हें संरक्षित कर , उनकी शिक्षा , स्वरोज़गार योजनाओं , सहित , छात्रावास सुविधाओं , सहित , सम्प्रेषण ग्रह , संरक्षित ग्रह बनाये गये है , इसी तरह से महिलाओं , वृद्धों के लिए भी इस तरह की व्यवस्थाएं है , आदरणीय ,, कोटा की सभी मुख्य सड़कों , चौराहों , रेड लाइट पॉइंट्स ,   मुख्य चौराहों सहित , स्टेशन , बस स्टेण्ड , नयापुरा , विज्ञाननगर , तलवंडी , शॉपिंग सेंटर , दादाबाड़ी , अनंन्तपुरा ,बोरखेड़ा , कुन्हाड़ी  , सहित सभी क्षेत्रों में चौराहों पर ,,  महिलाये , खुद , और उनके छोटे बच्चों से भीख मंगवाती नज़र आती है , कोठड़ी सहित दूसरे चौराहों पर ,बुज़ुर्ग , हाथों में ,पेन लेकर ,असहाय हालत में भीख मांगते नज़र आते है , जबकि सभी चौराहों पर , चाट पकोड़ी की चौपाटियों पर योजननाबद्ध तरीके से , महिलाये ,बुज़ुर्ग , छोटे बच्चों की पूरी बटालियन को लेकर , आदतन जबरिया भीख  मांगते नज़र आते है , कुछ पुलिस की निगाह से बचने के लिए , हाथों में दो तीन गुब्बारे भी पकड़ लेते है , यह मजबूरी नहीं ,कारोबार की तरह , भिक्षू  रोज़गार की तरह नियमित हो रहा है ,  
आदरणीय  माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की संवेदनशीलता ही है , जो ऐसे लोगों के कल्याण के लिए  ,उन्हें रेस्क्यू करके वृद्धाश्रम , महिला आश्रम , नारीशाला , बाल आश्रम , में रखकर , उनके खाने , ,कपड़ों , इलाज की व्यवस्था के साथ , पढ़ाई ,लिखाई ,कल्याण की व्यवस्थाएं करने के प्रावधान है , इसके लिए ,, बालकल्याण समितियां है  , समाजकल्याण विभाग के अधिकारी कर्मचारी है , प्रत्येक थानों में ज्वेनाइल यूनिट है , महिला स्टाफ है , संवेदनशील पुलिस कर्मी है , सरकार से सहायता प्राप्त समाजसेवी संस्थाएं है ,, सभी तरह की सुविधाएं है , फिर भी , इस मामले में , कोटा में उपेक्षित बच्चों सहित , वृद्धों , महिलाओं , में भिक्षावृत्ति ,, और वोह भी , रोज़गार की तरह , जबरिया भिक्षा वृत्ति ज़ोरो पर है ,  केबिनेट मंत्री शांति कुमार धारीवाल साहब और नगर विकास न्यास के चेयरमेन की ज़िम्मेदारी के तहत , कोटा में बेहिसाब विकास और सौदंर्यकरण कार्य चल रहे है , कोटा में हज़ारों वदेशी पर्यटकों के साथ , कोचिंग सीटी होने से , देश भर के लोग आते है ,पर्यटक भी आने लगे है , ऐसे में ,  कोटा के हर चौराहे , चाट पकोड़ी की चौपाटी चौराहों पर , इस तरह के उपेक्षित बालक , वृद्ध , महिलाओं के वोह लोग फोटो खेंचते है , इससे कोटा की छवि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर धूमिल होने की पूरी संभावना है , इतना ही नहीं , माननीय अशोक जी गहलोत ,मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार के सभी निर्देश , प्रयासों और संवेदनशील निर्देशों के बावजूद भी , ऐसे हालातों में , उनकी छवि , उनकी कार्यकुशलता पर ,भी विपक्षी लोग , बतंगड़ बंनाने के प्रयास में रहते है , उनकी स्वच्छ गाँधीवादी छवि को भी धक्का लगने की संभावना है ,,
आदरणीय कोटा में आपकी अध्यक्षता में ,ग्रामीण , शहर पुलिस अधीक्षक , समाजकल्याण विभाग , बाल कल्याण समिति , समाजसेवी संस्थाओं , सहित इसके लिए ज़िम्मेदार , पुलिस यूनिटें , सामाजिक कार्यकर्ताओं को इस तरह की ज़िम्मेदारी देकर , अभियान के रूप में रेस्क्यू कार्यक्रम चलाये जाएँ , जिसमें ऐसे उपेक्षित बच्चे , जिनसे उनके माता , पिता , या रिश्तेदार या गेंग के लोग योजनाबद्ध तरीके से अगर भिक्षा मंगवा रहे है , तो ऐसे लोगों के खिलाफ मुक़दमा दर्ज करवाकर उन्हें जेल की सीखचों के पीछे भेजा जाए , ऐसे बच्चों को  कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देकर , उनके कपड़े , शिक्षा , खाने की व्यवस्था के लिए , निराश्रित ग्रहों में रखवाया जाए ,  ज़िम्मेदार संस्थाए , अगर उनके कर्तव्यों के प्रति उपेक्षित रवय्या अपना रही है , तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए , बाल कल्याण समिति के कार्य कलापों , उनकी कर्तव्य बद्धता की निगरानी बढ़ाई जाए , उपेक्षित बुज़ुर्गों को ,  स सम्मान तरीके से , वृद्धाश्रम , महिलाओं को , महिला आश्रम , में रखवाकर ,  उनकी सभी कल्याणकारी व्यवस्थाओं   को लागू करवाया जाए ,,
अतः श्रीमान की सेवा में ज्ञापन प्रस्तुत कर निवेदन है की , कोटा की यह गंभीर समस्या है , कोटा सहित राजस्थान की प्रतिष्ठा से जुड़े बिंदु है , इन्हे गंभीरता से लेकर ,त्वरति कार्याही करते ही , कोटा शहर की सड़कों , चौराहों से ,इस तरह के उपेक्षित वृद्धों ,, महिलाओं   , बालकों  को ,, रेस्क्यू करवाकर , उन्हें माननीय अशोक गहलोत सरकार की सभी संवेदनशील , कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अभियान के रूप में दिलवाकर जनहित में , प्रचार प्रसार भी करवाया जाए , ताकि दूसरे राज्य , और राजस्थान के दूसरे ज़िलों में भी इस तरह के संवेदनशील क़दम उठाने की पहल   हो सके  ,,  

भवदीय

एडवोकेट अख्तर खान अकेला
महासचिव
ह्यूमन रिलीफ सोसायटी
2 थ 15 मैन रोड ,  रशीदा मंज़िल ,  विज्ञाननगर
कोटा  राजस्थान 324005
मोबॉइल 9829086339

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...