हमें चाहने वाले मित्र

02 मार्च 2021

10 घंटे में एक रामगंजमंडी और दो कोटा में संपन्न हुए नैत्रदान दौड़ भाग से,छः दृष्टिहीनों की दुनिया रौशन हो सकेगी

 

10 घंटे में एक रामगंजमंडी और दो कोटा में संपन्न हुए  नैत्रदान
दौड़ भाग से,छः दृष्टिहीनों की दुनिया रौशन हो सकेगी 


कोरोना काल जारी रहने के बाद भी,नेत्रदान का कार्य न सिर्फ कोटा में बल्कि पूरे संभाग में ही पुरजोर पर है । कल देर सुबह रामगंजमंडी के अधिवक्ता विशाल जैन जी के पिता,ललित जैन (65 वर्षीय) का हृदयाघात के कारण निधन हो गया,उसके उपरांत परिजनों ने शाइन इंडिया फाउंडेशन के ज्योति-मित्र संजय विजावत के सहयोग से,डॉ कुलवंत गौड़ ने,ललित जी के निवास पर ही नैत्रदान की प्रक्रिया को पूरा किया। 

इसी क्रम में कल दोपहर को ही अंता निवासी डॉ ओम अदलक्खा 60 वर्षीय (होम्योपैथिक चिकित्सक) की दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के बाद पंजाबी समाज समिति के सदस्य, व शाइन इंडिया के ज्योति-मित्र सागर पिपलानी ने ओम जी के बड़े भाई अशोक कुमार से दिवंगत ओम जी के नैत्रदान करवाने का अनुग्रह किया। दुर्घटना से हुई असमय मौत से घोर शोक में होने के बावजूद परिजनों की सहमति के बाद आई बैंक सोसायटी के तकिनीशियन टिंकू ओझा ने नैत्रदान की प्रक्रिया को पूरा किया। 

ओम जी के नैत्रदान को लेकर,अभी संस्था सदस्य घर भी नहीं पहुँचे थे कि,पुनः शाइन इंडिया फाउंडेशन के ज्योतिमित्र श्रवण कुमार जी ने बताया कि श्रीपुरा निवासी प्रवीण कुमार का निधन हो गया है, और परिजनों को उन्होंने दिवंगत प्रवीण जी के नैत्रदान के लिये तैयार कर लिया है। भाई चंद्रप्रकाश,रामावतार व नरेंद्र   सहमति के उपरांत निवास स्थान पर ही नैत्रदान की प्रक्रिया सम्पन्न हुई ।

संस्था सदस्यों ने बताया की 10 घंटो की दौड़ भाग से तीन जोड़ी नैत्रदान प्राप्त हो पाए है,उनसे कम से कम,कॉर्निया की अंधता से पीड़ित 6 लोगों की आँखों में रौशनी आ सकेंगी

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...