हमें चाहने वाले मित्र

13 जनवरी 2021

कोटा कांग्रेस के कर्मठ समाजसेवी नेतृत्व कार्यकर्ता अमित धारीवाल ने कहा ,, सो बात की एक बात , कांग्रेस एक जुट निर्गुट रहकर जब भी चुनाव लड़ती है ,,जीत कांग्रेस के क़दमों में होती है

कोटा कांग्रेस के कर्मठ समाजसेवी नेतृत्व कार्यकर्ता अमित धारीवाल ने कहा ,, सो बात की एक बात , कांग्रेस एक जुट निर्गुट रहकर जब भी चुनाव लड़ती है ,,जीत कांग्रेस के क़दमों में होती है ,, अमित धारीवाल आज कोटा संभाग संगठन प्रभारी प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व मंत्री राजेंद्र चौधरी ,, कोटा जिला प्रभारी विधायक , गजराज जी खटाना ,, की उपस्थिति में कांग्रेस कार्यालय में आयोजित बैठक में बोल रहे थे ,, अमित धारीवाल ने कहा , के अभी हाल के चुनाव में कोटा नगर निगम मामले में ,, कांग्रेस एक जुट रही सभी कार्यकर्ताओं ने ,, समन्वय स्थापित कर ,, चुनाव प्रचार किया , तो कोटा उत्तर , कोटा दक्षिण में कांग्रेस को जीत मिली है ,, उन्होंने कहा ,, रामगंजमंडी में भी विकट हालातों में कांग्रेस की एकजुटता की वजह से , हम जीत सके है , उन्होंने समवन्य स्थापित कर , एक जुट होकर चुनाव में जुटे ,, इस जीत के लिए सभी नेताओं को
बधाई
देते हुए कहा ,, के टिकिट किसी को भी मिले ,हम तो कांग्रेस के लिए काम कर रहे है ,, कांग्रेस के चुनाव चिन्ह को जिताना हमारा धर्म होना चाहिए , और इसी फार्मूले से कांग्रेस हर जगह ज़िंदाबाद की जा सकती है ,,,, बैठक में बोलते हुए ,, पूर्व उप जिलाप्रमुख ,, एडवोकेट मनोज शर्मा ने कहा ,, के कांग्रेस में संगठन से जुड़े लोगों को गंभीर होना होगा ,, अलग अलग जगह की गतिविधियों ,, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का दर्द समझना होगा ,, उन्होंने इटावा में हाल ही में ,,नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस की हार के लिए नेताओं की मनमानी पर तंज़ कसते हुए कहा , ,विधायक को टिकिट की ऑथोरिटी दे दी जाती है ,, कोई किसी कार्यकर्ता को नहीं पूंछता , मनमानी होती है ,, संगठन के कार्यकर्ताओं , वरिष्ठ लोगों की उपेक्षा होती है ,सारे अधिकार विधायक के पास रहने से , कार्यकर्ता उपेक्षित रहता है ,जो लोग विधायक के आगे नतमस्तक होते है बस उन्ही की सुनवाई होती है ,अगर संगठन के पदाधिकारी , कार्यकर्ता हाईकमान के पास भी जाए तो वोह विधायक से लिखवा कर लाने की कहते है ,, ऐसे में विधायक संगठन के कार्यकर्ताओं के लिए लिखते नहीं , उनके काम नहीं होते ,, और फिर चुनावों में इसके नतीजे हार के रूप में भुगतना पढ़ते है , उन्होंने कहा अगर ऐसे ही हालात रहे , इनमे बदलाव नहीं हुआ , तो इटावा नगर पालिका चुनाव की तरह हर जगह हालात रहेंगे इन्हे बदलना चाहिए , विधायक के अलावा ,, संगठन के पदाधिकारियों ,, वरिष्ठ नेताओं , पूर्व निर्वाचित प्रतिनिधियों की भी सुनवाई होना चाहिए ,,, बैठक में विधायक भरत सिंह , नईमुद्दीन गुड्डू , पूनम गोयल , रामगोपाल बैरवा , पंडित गोविन्द शर्मा ,, रविंद्र त्यागी ,, सरोज मीणा ,,सी पी मीणा , महापौर मंजू महरा ,, राजीव अग्रवाल ,पूनम गोयल , सोनू कुरैशी ,, रईस खान , अख्तर खान अकेला ,, नरेश विजय वर्गीय , कैलाश बंजारा ,देवा भड़क , रामेश्वर सुनवाल्का ,, इसरार अहमद , ईश्वर गंभीर ,, आबिद कुरैशी , परवेज़ अख्तर , आसिफ मिर्ज़ा , शमा मिर्ज़ा , कपिल शर्मा ,, मनोज गुप्ता ,, उर्मिला शर्मा , राजीव आचार्य ,, अब्दुल सलाम ,, लालचंद शर्मा ,, अहमद खान, कलीम अंसारी , रुआं भार्गव , राजेन्द्र सिसोदिया, अजीत पारीख , जमील अंसारी , देवा भड़क , , किशोर मदनानी , मन्ना लाल गुर्जर ,, कांति गुर्जर , सपना बर्ट ,, साजिद जावेद ,, अनशुल श्रंगी , संदीप भाटिया , संजय यादव ,,, साहिब हुसैन , ललित सरदार ,, सहित ज़िले के सभी ब्लॉक अध्यक्ष ,,प्रदेश कांग्रेस समिति के सदस्य उपस्थित थे , कार्यक्रम में ब्लॉक अध्यक्षों को बोलने का अवसर दिया , कार्यक्रम डेढ़ घंटे देरी से ,,प्रभारियों के आगमन के बाद शुरू हो सका , जबकि प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्यौं को , सम्भवत समयाभाव के कारण नहीं बुलवाया जा सका ,,, संभाग प्रभारी राजेंद्र चौधरी ,, कोटा जिला प्रभारी गजराज जी खटाना ने सभी कार्यकर्ताओं ,, पदाधिकारियों से एक जुट रहकर , आपसी समन्वय से , संगठन को मज़बूत बनाने पर ,, ज़ोर दिया ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...