हमें चाहने वाले मित्र

17 अक्तूबर 2020

जर्नलिस्ट एसोसिएशन और राजस्थान ,जार के संस्थापक सदस्य ,कोटा प्रेस क्लब के भवन निर्माण में मुखर सहयोगी , दैनिक देश की धरती समाचार पत्र से , अधिस्वीकृत पत्रकार रहे , भाई रिछपाल पारीक ने , अधिस्वीकृत पत्रकार होने पर भी ,पत्रकार , भवन ,प्लाट रियायती दर योजना सहित किसी भी सरकारी योजना का कभी कोई लाभ नहीं लिया

 

जर्नलिस्ट एसोसिएशन और राजस्थान ,जार के संस्थापक सदस्य ,कोटा प्रेस क्लब के भवन निर्माण में मुखर सहयोगी , दैनिक देश की धरती समाचार पत्र से , अधिस्वीकृत पत्रकार रहे , भाई रिछपाल पारीक ने , अधिस्वीकृत पत्रकार होने पर भी ,पत्रकार , भवन ,प्लाट रियायती दर योजना सहित किसी भी सरकारी योजना का कभी कोई लाभ नहीं लिया ,, उलटे सबको खबर देते रहे ,सबकी खबर लेते रहे ,,खबरनवीस के साथ साथ ,समाजसेवा क्षेत्र में जुड़ कर लोगों के सेवा करते रहे ,, रिछपाल पारीक पैंतीस वर्ष पूर्व ,, वरिष्ठ पत्रकार सेवानिवृत सूचना आयुक्त आत्मदीप के सम्पर्क में रहे और तब से ही , रिछपाल पारीक प्रशिक्षु पत्रकार बने , चिकित्सा सेवा समिति , थड़ी होल्डर्स की परेशानियां ,, रक्तदान ,महादान का प्रचार , लोगों की ज़िंदगी और जीवन शैली बचाने के लिए नशा मुक्ति आंदोलन से जुड़कर , खूब इन कार्यक्रमों का प्रचार प्रसार किया , कोटा में वरिष्ठ पत्रकार ,पुरुषोत्तम पंचोली हों , धीरेन्द्र राहुल हों ,नारायण बारेठ हों ,भंवर शर्मा अटल हों ,,गयाप्रसाद जी बंसल हो ,सभी के साथ मिलकर खबरों का सांझा करना ,,,इनका शोक था ,, , सेवा भाव के साथ पत्रकारिता में पारंगत होने के साथ ही , भाई रिछपाल पारीक ,,दैनिक देश की धरती से सीधे एक पत्रकार के रूप में जुड़े ,,अधिस्वीकृत पत्रकार बने ,, हाड़ोती के हलचल समाचार पत्र के प्रमुख पत्रकार रहे , रिछपाल पारीक ,पुलिस उत्पीड़न हो ,रक्तदान जागरण कार्यकम हो ,चिकित्सालय में अव्यवस्थाएं ,मरीज़ों के साथ दुर्व्यवहार हो ,थड़ी होल्डर्स ,गरीब दैनिक कमाने वाले मज़दूरों के साथ भ्रस्टाचार ,अत्याचार के मामले हों ,, विभागों में गड़बड़िया हों ,नशा मुक्ति आद्नोलन का जनहित में प्रचार प्रसार हो ,,सभी मामलों में मुखर होकर ,खबरें बनाते ,इनकी खबरों को सराहा जाता रहा ,,निष्पक्ष पत्रकारिता का सुबूत यह है ,के भाई रिछपाल पारीक , आर एस एस विचारधारा के पक्षधर ,, ट्रेंड कार्यकर्ता होने के बावजूद भी , अपनी पत्रकारिता में किसी विचारधारा को बीच में लाये बगैर निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहे है ,, रिछपाल पारीक प्रेस क्लब के सदस्य कार्यकाल में ,,प्रेस क्लब के पदाधिकारियों के साथ मिलकर ,वर्तमान प्रेस क्लब भवन के निर्माण सहयोग में , ,डटकर लगे रहे ,, जबकि जर्नलिस्ट एसोसिएश और राजस्थान , जार के संस्थापक सदस्य ,, प्रदेश कार्यकारिणी ,राष्ट्रिय कार्यकारिणी पदाधिकारी होने के नाते ,रिछपाल पारीक ने ,, जार के कई सम्मेलनों में सहयोगी बनकर , पत्रकार प्रशिक्षण कार्यक्रम , पत्रकार सम्मान समारोह , पत्रकार चिंतन शिविर , कार्यशालाओं को संबल प्रदान किया ,, रिछपाल पारीक बाद मे विजय नारायण सक्सेना के साथ ,, दैनिक जन जागृति पक्ष के साथ जुड़कर पत्रकारिता करने लगे ,वर्तमान में ,रिछपाल पारीक स्वतंत्र पत्रकार ,क़लमकार है ,वोह किसी अख़बार से जुड़े नहीं है ,उन्होंने अपना अधिस्वीकरण रद्द करा लिया है ,, वोह समाजसेवा क्षेत्र में जुड़कर रेडक्रॉस भावना से रेडक्रॉस सचिव के रूप में सहायता , प्रशिक्षण कार्यक्रमों से जुड़े है ,जबकि जार संगठन में पदाधिकारी है ,, जार को जार जार कर ,पत्रकारिता की विश्वसनीयता को तार तार करने वालों के खिलाफ समझाइश कर ,पत्रकारों को एक करने के प्रयासों में जुटे है ,, रिछपाल पारीक पीड़ितों ,मरीज़ों ,दुखी लोगों ,निशक्त जन ,सहित सभी वर्ग के लोगों के लिए सेवाभावी संघर्ष के लिए , कभी समाजसेवक बनकर ,कभी क़लमकार बनाकर ,कभी पत्रकार बनकर , कभी जार के पदाधिकारी बनकर ,, उनकी सेवा ,उन्हें इंसाफ दिलाने ,उनके दुखदर्द हरने के प्रयासों में संघर्ष करते रहते है , उन्हें उनके सेवा भावी कार्यों के लिए , सरकार द्वारा ,,जिला प्रशासन द्वारा , कई समाजसेवी संस्थाओं द्वारा ,पत्रकार संगठनों द्वारा अनेकों बार सम्मानित कर उनका हौसला बढ़ाया है ,,, ऐसे रिछपाल पारीक ,जो पत्रकार भी है ,जो क़लमकार भी है ,जो राज्य सरकार से अधिस्वीकृत पत्रकार होने पर भी ,, सरकार की प्लाट ,,मकान ,सहित अन्य रियायती दर पर घोषित योजनाओं का लाभ नहीं लेने वाले वरिष्ठ लोगों में से है ,,,,,,,रिछपाल पारीक समाजसेवक है ,संघर्षहील है ,,लोगों की ज़रूरत है ,रेडक्रॉसियन है ,, चिकित्सा सेवक है ,, ऐसे बहुमुखी प्रतिभा के धनी ,,भाई रिछपाल पारीक को सेल्यूट ,सलाम ,,, के डी अब्बासी ,स्वतंत्र पत्रकार ,,कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...