हमें चाहने वाले मित्र

03 अक्तूबर 2020

प्लाज़्मा डोनेशन , कोरोना मरीज़ों के लिए ज़िदंगी साबित होता है ,और इसी प्लाज़्मा सियासत ने , एक नामचीन वरिष्ठ बुज़ुर्ग चिकित्सक के कोरोना मरीज़ होने पर ,, प्लाज़्मा डिमांड , में अड़ंगे की कोशिश लगाने वाले खामा खां , लोगों को अलग थलग करने के प्रयास तेज़ हो गए

 प्लाज़्मा डोनेशन , कोरोना मरीज़ों के लिए ज़िदंगी साबित होता है ,और इसी प्लाज़्मा सियासत ने , एक नामचीन वरिष्ठ बुज़ुर्ग चिकित्सक के कोरोना मरीज़ होने पर ,, प्लाज़्मा डिमांड , में अड़ंगे की कोशिश लगाने वाले खामा खां , लोगों को अलग थलग करने के प्रयास तेज़ हो गए , पहले प्रयास के तहत अब यह कार्यवाही ,राजेंद्र सांखला की पहल से पारदर्शी तरीके से ,, प्रशासन ,, ज़िम्मेदार चिकित्सकों की जानकारी , मौजूदगी में शुरू हो गया है ,,, प्लाज़्मा थेरेपी , के मामले में राजस्थान सरकार ने कोरोना मरीज़ों , के इलाज के लिए , स्वीकृति दी है ,ऐसे में राजस्थान सरकार ,प्लाज़्मा डोनेशन के लिए , डोनर्स को लगातार ,, प्रोत्साहित रही है ,प्लाज़्मा डोनेशन का आठ हज़ार रूपये प्रति यूनिट जो खर्च है वोह सरकार वहन कर रही है ,, एक यूनिट प्लाज़्मा से दो यूनिट प्लाज़्मा बनते है जो दो मरीज़ों की ज़िंदगी बचाने के प्रयास के लिए काफी है ,, कोटा में नो हज़ार से ज़्यादा कोरोना मरीज़ रहे है ,जिनमे से अधिकतम के ठीक हो जाने के बावजूद भी यहाँ दो सो के लगभग कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए ,प्लाज़्मा डोनेशन है , ,जो भी है ,है तो सही ,और जगह से बेहतर ,है , यह व्यवस्था क़ानूनी रूप से सरकारी ब्लड बैंक में ,सरकारी कर्मचारियों , अधिकारीयों ,चिकित्स्कों की व्यवस्था ,उनके प्रबंधन में रहेगा ,किसी निजी व्यक्ति का इस व्वयस्था में प्रोत्साहन के अलावा कोई भी हस्तक्षेप हो ही नहीं ,सकता ,, कोटा में एक वरिष्ठतम नामचीन चिकित्सक के कोरोना होने पर जब , उन्हें स्वास्थ्य लाभ के लिए ,, प्लाज़्मा चढ़ाने का सुझाव आया , तो एक अड़ंगे बाज़ी की शिकायत के बाद ,जब एक समाजसेवक ,ने तस्दीक़ की , तो फिर उन्हें अपने हस्तक्षेप के बाद , प्लाज़्मा का सारा रिकॉर्ड सारी व्यवस्थाएं , अनावश्यक हस्तक्षेप से मुक्त करने का प्रयास किया ,इस मामले में केबिनेट मंत्री शांति कुमार धारीवाल ,उनके जांबाज़ कोरोना योद्धा कार्यर्कताओं का इसमें महत्वपूर्ण योगदान रहा जिसे सभी सराह रहे है ,,, प्लाज़्मा डिमांड , और प्लाज़्मा डोनेशन का संतुलन अभी बनाया जाना बाक़ी है ,, प्लाज़्मा के लिए , जो मरीज़ ठीक होकर गए है ,अगर उनकी सूचि ,ब्लड ग्रुप ,मोबाइल नंबर सहित ,चिकित्सा विभाग ,या कोटा मेडिकल कॉलेज की वेबसाइट पर ,,डाउनलोड हो जाए ,तो प्लाज़्मा के लिए ज़रूरतमंद भी ,,ऐसे लोगों से सीधी रिक्वेस्ट करके प्रोत्साहित कर सकता है ,, सरकारी स्तर पर प्लाज़्मा डोनेशन किट , ब्लड बैंक की व्यवस्थाएं , और निजी ब्लड बैंकों से , प्लाज़्मा डोनेशन को अलग थलग करने से ही इस मामले में , बिना किसी आरोप , प्रत्यारोप ,, बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवानों से बचाया जा सकता है , वर्ना प्लाज़्मा डोनर , प्लाज़्मा लेने के लिए प्रबंधकीय व्यवस्था ,सरकार का सिस्टम , सरकार का खर्च , योगदान , तो सब गौण होने लगा है ,ऐसा दर्शाने का प्रयास भी हुआ जैसे यह सब ,, निजी तोर पर ही किया जा रहा है , इस कारण अब ,,केबिनेट मंत्री शान्तिधारीवाल ,उनके कार्यकर्ताओं ने ,सरकारी सिस्टम के ज़रिये इस व्यवस्था को बेहतर करने का प्रयास किया है ऐसे में प्लाज़्मा डोनर्स को अधिक से अधिक संख्या में प्लाज़्मा डोनेशन करना चाहिए ,, और प्लाज़्मा डोनेशन , प्लाज़्मा ज़रोरोत्तमंदों को देने की प्रक्रिया में सिर्फ सरकारी सिस्टम , सरकारी अधिकारीयों , चिकित्सकों का हस्तक्षेप हो , या फिर डोनर की इच्छा हो , बाक़ी ,,बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवानों को , इस व्यवस्था से अलग थलग करना होगा ,ताकि अनावश्यक विवादों अव्यवस्थाओं ,, झूंठे बे बुनियाद आरोपों से यह व्वयस्था मुक्त रह सके ,क्यौंकि यह काम ,कोई सियासत नहीं ,कोई तिजारत नहीं सिर्फ ,,सेवा कार्य है ,लोगों की ज़िंदगियाँ बचाने का पुनीत कार्य है ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...