हमें चाहने वाले मित्र

20 अक्तूबर 2020

एक सोएब जिसने आफताब बनकर ,, पुरे देश के मुस्तक़बिल को रोशन कर ,दिया , पुरे देश के उलझे हुए ,बिगड़े हुए माहौल में , एक मोहब्बत का ,आत्मविश्वास का ,,व्यवस्थाओ के प्रति ईमानदार रवय्ये के खिलाफ भ्रांतियों को बदल दिया ,

 एक सोएब जिसने आफताब बनकर ,, पुरे देश के मुस्तक़बिल को रोशन कर ,दिया , पुरे देश के उलझे हुए ,बिगड़े हुए माहौल में , एक मोहब्बत का ,आत्मविश्वास का ,,व्यवस्थाओ के प्रति ईमानदार रवय्ये के खिलाफ भ्रांतियों को बदल दिया , डिप्रेशन में आये कुछ लोग ,जो बिना मेहनत करे , अपनी नाकामयाबी का सिस्टम को दोष देते है ,खुद के समाज के विरोध को दोष देते है ,ऐसे प्रोपोगंडा के भी खिलाफ यह एक आवाज़ है ,जी हाँ दोस्तों , यह मेरा हिंदुस्तान है ,यह मेरा भारत महान है , यह मेरे निष्पक्ष सपनों का भारत है ,यह सोनिया गांधी के निर्देशों पर मनमोहन सिंह पूर्व प्रधानमंत्री साहिब का एक पारदर्शिता परीक्षाओं का विज़न है ,, जो आज ,देश में सोएब आफताब को परीक्षा देने के बाद , आंसर शीट से उसके स्कोर की जानकारी मिली , और पारदर्शिता व्यवस्था के तहत उसमे कोई बदलाव किसी भी तरह सम्भव था भी नहीं ,, खेर सोएब आफताब एक समाज का ,एक धर्म का अनुयायी हो सकता है लेकिन वोह एक हिंदुस्तानी है ,हमारे भारत का कर्णधार है ,भारत का भविष्य है , वोह हिन्दू ,,या मुसलमान नहीं ,वोह भारतीय है ,,और इसीलिए सोएब ने एक नए भारत के संकल्प को नयी दिशा दी है , कुछ लोग सोशल मीडिया पर ,सोएब की इंटेलिजेंसी को लेकर ,,बेहूदा कमेंट कर रहे है , आतंकवादियों जैसे लोगों के हवाले से ,बकवास कर रहे है ,उनके खिलाफ थानों में मुक़दमें दर्ज हुआ शुरू हो गये हो ,और कितनी ही फ़र्ज़ी आई डी से ऐसे लोग ,नफरत फैलाने ,भारत की गंगा जमुनी संस्कृति को ध्वस्त करने के प्रयास कर रहे हो , वोह बचेंगे नहीं ,, जेल में ज़रूर होंगे , उनसे घबराने की ज़रूरत नहीं ,,, हौसला रखो , मोहब्बत रखो ,हमारे देश का भविष्य , नफरत का नहीं ,नफरत बाज़ों का नहीं ,चंद मुट्ठी भर नफरत बाज़ ,चंद रुपयों के लालची ,रूपये लेकर ,नफरत फैलाने के देशद्रोही साज़िश करता , हमारे देश का बाल भी बांका नहीं कर सकते ,यहाँ जो मोहब्बत की खुशबु है ,उसके मुक़ाबिल , उनकी नफरत की दुर्गंध कोई मायने नहीं रखती ,, ईश्वर ,,अल्लाह उन्हें भी सद्बुद्धि दे ,बस यही दुआ है ,, ,लेकिन सोएब आफ़ताब , की कामयबी को , आप एक समाज ,धर्म से अलग हठ कर सोचे ,एक गंगा जमुना संस्कृति ,एक मोहब्बत के पैगाम , एक दूसरे के साथ मोहब्बत ,, ,सहयोग , मदद के निष्पक्ष जज़्बे के तरीके से देखें ,सोचे ,क्या सोएब आफ़ताब के लिए यह कामयाबी अकेले सम्भव थी ,, क्या धर्म मज़हब के लोगों के बल पर यह कामयाबी मुमकिन थीं , नहीं यह सिर्फ , और सिर्फ ,,मेरे भारत महान में ही सम्भव हो सकती है ,जहाँ कुछ लोगों को ,कुछ अपवादों को छोड़ दे , तो यक़ीनन एक हिन्दुस्तान बसता है ,एक भारत महान बसता है , सोएब आफ़ताब एक पत्थर था ,, वोह कोटा हीरा बनने के लिए जोहरी के पास आया ,,,,, सर्वोदय पैरामाउंट के गफ्फार मिर्ज़ा साहिब के स्कूल में भी अगर वोह पढ़े तो ,उन्हें हमारे हमदर्द हिन्दू समाज के साथियों ने पढ़ाया ,, एलेन कोचिंग में जब , सोएब पढ़े , तो उनकी प्रतिभा को जानकर , हिन्दू समाज के कोचिंग गुरु ने सोएब को सोएब से आफ़ताब बनाया ,,, कोचिंग गुरु एलेन के ,, माहेश्वरी बंधुओं ने ,, सोएब पर भरोसा जताया ,, उससे हिम्मत दी ,उसे कोचिंग के टिप्स दिए ,,,,तो जनाब फिर सोएब की कामयाबी का जश्न पूरा हिंदुस्तान ,देश की छत्तीस क़ौम द्वारा क्यों न मनाया जाए ,, कामयाबी किसी धर्म , किसी जाती , किसी समाज की मोहताज नहीं होती , जो क़ाबलियत होती है ,,वोह हर हाल में आगे बढ़ती है , और सभी समाज के लोग ,एक दूसरे की परस्पर मदद कर ,ऐसी ताक़तों को ,ऐसी प्रतिभाओं को बिना किसी भेदभाव के आगे बढ़ाती है ,,, यही तो मेरा हिंदुस्तान है ,,इसीलिए तो सारे जहां से अच्छा मेरा हिंदुस्तान है ,इसीलिए तो मेरा भारत महान है ,हम दलित ,है ,हम मुस्लिम है ,हम दबे कुचले हिन्दू समाज के लोग है ,,यह कहाँ बंद करो ,एक दूसरे से गले मिलो ,एक दूसरे को गले लगाओ ,एक दूसरे के मददगार बनो ,, नफरत फैलाने वाले ,सियासत के लिए ,कुर्सी के लिए कुछ भी करेंगे , लेकिन अब प्रतिभावान लोगों को ,सियासत में भी क़दम रखना चाहिए ,सियासत में भी मोहब्बत के पैगाम की खुशबु फैलना चाहिए , ,,जो लोग ,कुर्सी हथियाने के लिए देश में ,नफरत फैला रहे है ,खौफ का , अविश्वास का वातावरण बना रहे है ,देश को दो हिस्सों , तीन हिस्सों के वोटरों में बाटने की साज़िशें कर रहे है ,वोह सुन ले , हमारे देश में ,तुम्हारे बहकावे में कुछ लोग , कुछ वक़्त के लिए आ सकते है , लेकिन तुम्हारे चंगुल से वोह लोग निकल कर बाहर भी जल्द ही आ जाते है ,तात्कालिक तुम्हारी नफरत की परवरिश ,, थोड़ा झटका तो दे सकती ,है ,, लेकिन इस मुल्क की आज़ादी , इस मुल्क की खुद्दारी , इन्साफ परस्ती ,,व्यवस्थाओं की ईमानदारी ,,एक दूसरे से मोहब्बत , प्यार ,,मदद के जज़्बे के माहौल को खत्म हरगिज़ ,,हरगिज़ नहीं कर सकती , जो लोग कहते है ,हम दलित है ,, जो लोग कहते ,है मुस्लिम है ,जो लोग कहते है , हम सामान्य जाती के लोग है ,इसलिए हम पिछड़ जाते है , वोह डिप्रेशन से , बाहर निकले ,इन जुमलों से ,अपनी नाकामयाबियों को छुपाने से बाज़ आये वोह अव्वल के लिए लड़े ,वोह अव्वल की कोशिशों में लगे ,, कोशिश तो करो ,कामयाबी सभी बाधाओं के बावजूद भी तुम्हारे क़दमों में होगी , देश का हर शख्स , हर समाज ,हर धर्म ,हर मज़हब , हर सिसटम ,तुम्हारे साथ ,तुम्हारी कामयाबी के साथ ,जश्न में शामिल रहेगा ,, लेकिन इधर उधर की नाकामयाबियों को छुपाने के लिए डिप्रेशन के डायलग बोलना उन्हें सच मनाकर ,हिम्मत हार कर बैठना बंद करो , कोशिशें करो ,, पढ़ो ,, आगे बढ़ो ,एक दूसरे की मदद करो ,एक दूसरे से मदद लो ,,नफरत बाज़ो को मोहब्बत से जीतों ,, फिर से इस हिंदुस्तान को ,सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा साबित करो , ,फिर से इस भारत को मेरा भारत महान साबित करो ,लेकिन यह सब , बातों से मुमकिन नहीं ,,नारों नारों से मुमकिन नहीं , इसके लिए तुम्हे पढ़ना होगा ,, खुद को अव्वल से अव्वल साबित करना होगा , मोहब्बत , प्यार का माहौल बनाना होगा ,,मदद का जज़्बा रखना होगा ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...