हमें चाहने वाले मित्र

18 सितंबर 2020

"संसार में दो प्रकार के पेड़ पौधे होते हैं

 

"संसार में दो प्रकार के पेड़ पौधे होते हैं,"
प्रथम: "अपना फल स्वयं दे देते हैं,"
जैसे - "आम, अमरुद, केला इत्यादि" ।
द्वितीय "अपना फल छिपा कर रखते हैं,
जैसे - "आलू, अदरक, प्याज "इत्यादि ।
जो फल अपने आप दे देते हैं, उन वृक्षों को सभी खाद-पानी देकर सुरक्षित रखते हैं, और *ऐसे वृक्ष फिर से फल देने के लिए तैयार हो जाते हैं *
किन्तु जो *अपना फल छिपाकर रखते है, वे जड़ सहित खोद लिए जाते हैं, उनका वजूद ही खत्म हो जाता हैं*
ठीक इसी प्रकार...
जो *व्यक्ति अपनी विद्या, धन, शक्ति* स्वयं ही समाज सेवा में समाज के उत्थान में लगा देते हैं, उनका सभी ध्यान रखते हैं *और वे मान-सम्मान पाते है* वहीं दूसरी और*
जो अपनी* विद्या, धन, शक्ति स्वार्थवश छिपाकर रखते हैं*, किसी की सहायता से *मुख मोड़े रखते है,* वे *जड़ सहित खोद लिए जाते है,* अर्थात्,वे सब, समय रहते ही *भुला दिये जाते है*
*प्रकृति कितना महत्वपूर्ण *संदेश देती है, बस समझने, सोचने और कार्य में परिणित करने की बात है*

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...