हमें चाहने वाले मित्र

01 सितंबर 2020

राजस्थान का झालावाड़ , जो युवाओं के नेतृत्व विहीन , अल्पसंख्यकों में भाजपा के प्रति झुकाव के चलते ,,भाजपा का गढ़ सा बन गया है

 राजस्थान का झालावाड़ , जो युवाओं के नेतृत्व विहीन , अल्पसंख्यकों में भाजपा के प्रति झुकाव के चलते ,,भाजपा का गढ़ सा बन गया है ,उसे तोड़कर झालावाड़ में  कांग्रेस को मज़बूत करने के लिए ,, युवक कांग्रेस के आमिर खान वचनबद्ध है ,वोह लोगों से जुड़ कर , सभी के दुःख सुख के हमदर्द बनकर , कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने में जुटे है ,,, आमिर खान की पकड़ झालावाड़ की हर भाग संख्या , हर ब्लॉक में , हिन्दू मुस्लिम एकता के रूप में है ,,वोह हमेशा ,हर गरीब ,ज़रूरतमंद ,,जो भी हो ,किसी भी मज़हब , किसी भी समाज का हो ,उसकी मदद के लिए बिना किसी प्रतिफल के ,बिना किसी भेदभाव के ,बिना किसी सियासी पक्षपात के तैयार रहते है , यही वजह है के वोह इन दिनों झालावाड़ में कांग्रेस में एक समाजसेवक ,सर्वदलीय युवा नेतृत्व के रूप में लोकप्रिय हो रहे है ,,, ,झालावाड़ के लोग ,इन दिनों लगातार पुराने लोगों को बार बार मौक़ा देने से भी नाराज़ है ,, कांग्रेस में लगातार बाहरी प्रत्याक्षी फेक्टर से ,झालावाड़ का कार्यकर्ता अपने आप को ठगा सा महसूस भी करता है ,,, झालावाड़ के कार्यकर्ता ,खूब समझते है ,के एक व्यक्ति को पार्टी का  टिकिट मिले ,फिर वोह हर जाये तो उसे ही संगठन में पदाधिकारी बना दो ,, प्रदेश का पदाधिकारी बना दो ,, अगर विधायक का टिकिट भी एक व्यक्ति को , हर जाने के बाद संगठन में पद भी उसी को ,प्रभारी ,या प्रदेश पदाधिकारी भी ऐसे ही लोगों को बनाया जाता रहा ,तो फिर नए कार्यकर्ता , जांबाज़ कार्यकर्ता जो लाइन में  लगे है वोह तो नाराज़ होना  स्वाभाविक सी बात है ,,, अल्पसंख्यकों के मामलों में कुछ ,,कांग्रेस में ही रहकर भाजपा समर्थित लोगों ने आँतरिक कलह के नाम पर ,अपना चेहरा अल्पसंख्यक विरोधी साबित कर कांग्रेस के खिलाफ अल्पसंख्यकों को उकसाया है ,चाहे वक़्फ़ सम्पतत्तियों के रख रखाव का मामला हो ,, ,चाहे नगर निगम में ढाई साल बाद ,अल्पसंख्यक समाज से चेयरमेन बनाने के लिखित समझौते के बाद  कांग्रेस की खुली धोखा धड़ी हो ,,,,,चाहे हाल ही में मोहर्रम त्यौहार को लेकर विवाद हो ,चाहे क़ाज़ी को हटाने ,क़ाज़ी को लगाने का विवाद हो ,हर विवाद से कांग्रेस ही कमोबेश कमज़ोर होती  रही है ,लेकिन यह बांका नौजवान ,, आमिर खान हर मोर्चे पर अल्पसंख्यकों की गलतफहमी दूर कर , एक सकारात्मक संवाद के साथ ,, कांग्रेस को मज़बूत कर ,एक जुट करने के सफलत प्रयासों में है ,,,
    भूख ,, गरीबी ,ज़रूरत ,, बिमारी  का कोई धर्म , कोई समाज नहीं होता ,इनकी ज़रूरत सिर्फ दो वक़्त की रोटी ,,जो तत्कालिक मदद , जो इलाज हो बस  वही इनके लिए सब कुछ होता है ,जब झालावाड़ में कोरोना लोकडाउन संकट चला ,ज़रूरतमन्दों में भूख की शिद्द्त बढ़ी ,, ऐसे में सर्वोदय जन विकास संस्थान झालावाड़ के कर्ता धर्ता  ,बहुमुखी प्रतिभा के धनी ,हर दिल  अज़ीज़ युवा नेतृत्व ,भाई आमिर खान ने ,  मेरा झालावाड़ मेरी ज़िम्मेदारी का नारा दिया , सिर्फ नारा ही नहीं दिया ,इस ज़िम्मेदारी को दिन रात की कढ़ी मेहनत के साथ संभाला भी ,,जो कहा वोह करके भी दिखाया ,, झालावाड़ की गलियों ,बस्तियों में आमिर खान के नेतृत्व में इनकी टीम के साथियों ने ,भूखो को ,ज़ररूतमंदों को ,मरीज़ों को तलाशा ,उनकी मदद की ,उन्हें घर घर रोज़ मर्रा दोनों वक़्त खाने के  पैकेट पहुंचाए ,जबकि कई ज़रूरतमंदों के यहां ,आमिर खान के नेतृत्व में सूखे राशन के ,पैकेट , कोरोना से बचाव के लिए ,सेनेटाइज़र्स ,,ग्लब्स , मास्क भी वितरित किये गए ,,लोकडाउन के बीच रमज़ान का महीना ,,सर्वोदय जन विकास संस्थान के पदाधिकारियों ,सहित खुद आमिर भाई के माशाअल्लाह पुरे रमज़ान लेकिन , मेरा झालावाड़ मेरी ज़िम्मेदारी ,के नारे से बंधे भाई आमिर खान और टीम ने , ज़रूरतमंदों के खाने के पैकेट के साथ सहरी के लिए सहरी किट ,रोज़े इफ्तार के लिए इफ्तरारी किट , का अलग से इंतिज़ाम किया जो पुरे माह ऐ रमज़ान , अल्लाह की रहमत बनकर ,लोगों तक पहुंचाया जाता रहा ,,इसी दौरान हिन्दू भाइयों के  नवरात्रा का त्यौहार ,, लोकडाउन में व्रत करने वालों को , प्रसाद , फलाहारी , व्रत की सामग्री ,घर घर पहुंचाना इनकी ज़िम्मेदारी थी ,   ,रमज़ान के बाद ईद का जश्न ,कोरोना एडवाइज़री के साथ सभी लोग ,नमाज़ ,तरावीह की इबादत के बाद ईद का जश्न अपने अपने घरों में ख़ुशनूदगी के साथ मनाये ,इसके लिए ,  कोरोना योद्धा बने आमिर खान ,उनकी टीम ने , माशा अल्लाह घर घर ईदी ,, ईद की ख़ुशी के तोर पर , सिंवइया ,दूध ,सहित ज़रूरी सामानों की फहरिस्त बनाकर ,पैकेट पहुंचवाये ,,इनकी इस दरियादिली से ,,सभी ज़रूरतमंदों के चहेरे पर ,रमज़ान ,इफ्तियारी , सहरी किट ,वितरण के बाद ,,ईद किट से ,,ईद की ओरिजनल ख़ुशी थी ,उनके दिलों से आमिर खान उनकी टीम के लिए सह्तयाबी ,,कामयाबी ,खुशहाली ,तरक़्क़ी की दुआए थी ,यही आमिर खान की खिदमत का सबसे बढ़ा इनाम था ,,आमिर खान ,,झालावाड़ में  तेज़ तर्रार , कुशल वक्त ,शोषित ,उत्पीड़ित ,,प्रताड़ित अल्सपंख्यकों , दलितों की आवाज़ के रूप में अपनी पहचान रखते है ,,इस  वर्ग के किसी भी व्यक्ति के साथ अगर कोई ज़्यादती हो ,कोई ज़ुल्म हो ,तो फिर वोह चाहे ,पुलिस की तरफ का हो , चाहे प्रशासन की तरफ का हो ,, चाहे माफिया की तरफ का हो ,,आमिर खान ,उनकी टीम ऐसे लोगों को इंसाफ दिलाने ,ऐसे लोगों की हिफाज़त के संघर्ष के लिए आग बबूला होकर ,,वोह ज़ुल्म के लिए ज़िम्मेदार के खिलाफ ,आवाज़ बुलंद करते है ,उससे टकराते है ,,उनकी यही निर्भीकता ,निडरता ,,निष्क्षता ,धर्मनरपेक्षता  की आवाज़ ,आमिर खान को झालावाड़ की आवाज़ बना देता है ,,माशा अल्लाह जब बोलते है ,तो निर्भीकता से हर समस्याओं को ज़िम्मेदारी से ऐसे खूबूसरत अल्फ़ाज़ों में उठाते है ,जैसे मानो जुबांन से फूल झड़ रहे हों , लेकिन इन अल्फ़ाज़ों में ,समस्याओं की ,ज़ुल्म ज़्यादतियों की तपिश होती है ,,शिकवे शिकायत होते है ,,ज़ालिम से किसी भी सूरत में ,किसी भी क़ीमत पर ,किसी भी सियासी ओह्देदारी के लालच में ,कभी भी कोई समझौता करना ,इनकी जीवन शैली में शामिल नहीं है ,,उम्र में चाहे कितने ही कम हो ,,लेकिन अनुभवों में यह उम्रदराज़ों से भी ज़्यादा अव्वल हैं ,,, आमिर खान,, मेरा झालावाड़ मेरी ज़िम्मेदारी , के नारे को आज से नहीं ,अभी से नहीं ,,छात्र राजनीती से ही बुलंद कर रहे है ,,स्कूली शिक्षा के कार्यकाल में ही पढ़ाई के साथ ,गरीब ,बुज़ुर्गों ,पड़ोसियों की खिदमत करना ,उनके काम आना , इनका शोक था ,इनकी ज़िम्मेदारी थी ,,इनकी इसी खिदमत , इसी जज़्बे को देखते हुए ,,कांग्रेस छात्र कांग्रेस ऍन एस यू आई संगठन में ,,आमिर खान लगातार झालावाड़ के जिला अध्यक्ष रहे ,फिर  कांग्रेस के नेतृत्व राहुल गाँधी  युवाओं के नेतृत्व को , उभारने के लिए जब ,खुले निर्वाचन का कार्यक्रम की घोषणा की ,तब ,आमिर खान इंजीनियरिंग छात्र कार्यकाल में ,, डिजिटल इण्डिया का नारा बुलंद करने वाले कम्यूटर मेन  राजीव गाँधी , के कम्यूटर को ,चुनाव चिन्ह लेकर ,पुरे दम खम के साथ चुनाव मैदान में उतरे ,जहां बहतरीन वोटों से ,,आमिर खान ,झालवाड़ बारां लोकसभा यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बने ,,फिर आमिर खान राजस्थान प्रदेश यूथ कांग्रेस कमेटी में ,प्रदेश सचिव नियुक्त हुए ,,झालावाड़ छात्र संघ चुनाव हों ,,पंचायत चुनाव हों ,,  पालिका  चुनाव हों ,,लोकसभा ,विधानसभा चुनाव हों ,यह हर बूथ ,हर भाग संख्या में अपनी टीम को सजग और सतर्क रखते है , अनेको बार इनकी टीम के लोगों का इनका ,,झालावाड़ क्षेत्र पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा सिंधिया ,उनके पुत्र दुष्यंत सिंह का वी आई पी  इलाक़ा होने से टकराव का  रास्ता भी अपनाना पढ़ा ,लेकिन इन्होने गड़बड़ियों के खिलाफ ,बूथ केप्चरिंग के खिलाफ हमेशा  अपनी टीम को सजग सतर्क रखा ,है ,,, रैलियों में ,धरने प्रदर्शन में , पदयात्रा में ,किसान सम्मेलन में ,राहुल गाँधी,,  अशोक गहलोत , सहित वरिष्ठ नेताओं की आम सभाओं में अपनी युवा टीम के साथ आमिर खान दल बल  साथ मौजूद रहते है ,, अमीर खान पिछले आठ वर्षों से ,अस्पताल परिसर में केंटीन का संचालन कर रहे हैं वोह रोज़ मरीज़ों के दुःख दर्द ,,उनके दुखड़े सुनते है ,,किसी को कम सुनने के कारण ,,कान की मशीन की ज़रूरत है ,लेकिन उसके पास रूपये नहीं है ,किसी को विकलांग होने से बैसाखियों की ज़रूरत है ,,किसी को ट्राइसाइकिल की ज़रूरत है ,तो किसी को कृत्रिम पैर की ज़रूरत है ,किसी को इलाज के लिए दवाओं की ,,आर्थिक मदद की ज़रूरत ,है तो ऐसे में ,आमिर खान , इनकी टीम ,  इनका , सर्वोदय जन विकास संस्थान , उठ खड़ा होता है ,और इन सभी ज़रूरतों को ,बिना किसी मज़हबी भेदभाव के तत्काल पूरी करने की कोशिश में जुट जाता है ,,, रोज़ मर्रा अस्पताल में तीमारदारों ,ज़रूरतमंदों के लिए इनकी केंटीन के दरवाज़े तो हमेशा खुले ही रहते है ,,, हाल ही में झालावाड़ को संक्रमण से बचाने ,,झालावाड़ के मरीज़ ,डॉक्टर ,नर्सिंग स्टाफ ,पुलिस कर्मी ,तीमारदार , सेवादारों को सुरक्षित रखने के लिए , आमिर खान ने ,खुद अपने खर्चे से ,,मेरा झालावाड़ मेरी ज़िम्मेदारी के वचन को पूरा करते हुए ,एक सेनेटाइज़ मशीन बनवायी ,उससे  अस्पताल के दरवाज़े पर स्थाई रूप से लगवाई है ,ताकि झालावाड़ अस्पताल में हर आने जाने वाले का ऑटोमेटिक सेनेटाइज़ेशन  ,मशीन में से वोह  निकलेगा ,तो सेनेटाइज़ेशन  ऑटोमेटिक होता रहेगा ,,झालावाड़ के लिए यह , आमिर खान ,,इनकी टीम का नायाब तोहफ़ा ,है जो हर रोज़ हज़ारों  लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए काफी हैं  ,आमिर खान  सामाजिक सुधार कार्य्रकमों के प्रति भी जागृति अभियान में शामिल होते है ,,नशा मुक्ति कार्यक्रम ,बाल मज़दूरी के खिलाफ संघर्ष ,,महिलाओं को इंसाफ दिलाने का संघर्ष ,बेटी पढ़ाओ ,बेटी बचाओं का संघर्ष हो तो यह अव्वल रहते है ,,छात्र छात्राओं को स्कूल की किताबें ,उनकी फ़ीस ,पढ़ाई के प्रति  उनको हौसला देने के जागरूकता कार्यक्रम ,उनकी यूनिफॉर्म ,सर्दियों में ठिठुरते बच्चों को गर्म कपड़े देना भी इनका अपना संकल्प है ,, ,  आमिर  खान ने घर घर बस्ती बस्ती खाने के पैकेट के अलावा ,राह चलते मज़दूरों ,,, टेंट ,तम्बुओं ,,डेरों में रह रहे मज़दूर वर्ग के लोगों ,बसों में सफर करने वाले मुसाफिरों ,को भी ,,तलाशा ,उन्हें खाने के पैकेट  ,पीने के पानी की व्यवस्था उपलब्ध करवाई ,,आमिर जैसा नाम वैसा काम , एक मुम्बई वाले सुपर स्टार आमिर खान जो दो दो किलो के आटे के पैकेट के लिए एक परिवार से एक व्यक्ति की लाइन लगवाते है ,,ऐसे में सिर्फ जो अत्यंत ज़रूरत मंद ही इस आटे की लाइन में लगते है ,, ऐसे ओरिजनल ज़रूरतमंद लोग जब घर जाकर , भूख से तड़पते हुए परिजनों के लिए रोटियां बनाने के लिए आटे का पैकेट खेलते है तो उसमे हर पैकेट में ज़रूरतें दूर करने के लिए ,15000 पंद्रह हज़ार रूपये लोगों को जब मिलते है तो वोह उछल पढ़ते है कमोबेश ,झालावाड़ के आमिर भी ज़रूरतमन्द की पहले तस्दीक़ फिर  उसकी हर ज़रूरत पूरी करने के संकल्प के साथ ,जुट जाते है ,,कहने को तो आमीर खान के नेतृत्व में  झालावाड़ में एक लाख पैतीस हज़ार सात सो छियासी पैकेटों का वितरण हुआ है ,,लेकिन यह क्रम अभी भी जारी है , आमिर खान यूँ तो ,दर्जनों समाज सेवी संस्थाओं से जुड़े है ,,कई संगठनों के संरक्षक है , लेकिन वोह कांग्रेस के सजग ,सतर्क ,सिपाही है ,,राष्ट्रिय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गाँधी ,राहुल गाँधी ,प्रियंका गाँधी ,, अशोक गहलोत ,सचिन पायलेट के नेतृत्व के जांबाज़ सिपाही  है ,इसीलिए आमिर खान ,लगातार झालावाड़ में कांग्रेस विरोधी भितरघातियों की भी आँख की किरकिरी  रहे है ,,, अमीर खान इनकी टीम को यहं तो  रोज़ मर्रा बहुत सम्मान , बहुत सम्मान पत्र मिलते रहे है ,,लेकिन हाला ही ,में यूनिवर्सल  डिप्लोमेटिक अफेयर्स  हुमन राइट्स  संस्था द्वारा इन्हे सम्मानित कर इनके सेवा भावी जज़्बे को मज़बूती दी है ,, आमिर जैसा नाम वैसा काम , पोपुलर ,सिविलाइज़्ड ,  बनकर खिदमत में लग जाते है ,,ऐसे आमिर ,,जो झालवाड़ के दलित ,अल्पसंख्यक ,शोषित ,पीड़ित ,युवाओं में  शिक्षा जागृति के अमानतदार है ,उनके अमीन हैं ,उनके संरक्षक है ,,उन्हें सलाम ,सेल्यूट ,,,,बधाई ,,मुबारकबाद ,,

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...