हमें चाहने वाले मित्र

28 अगस्त 2020

#इमाम_अहमद_बिन_हंबल_रहमतुल्ला ले अपने बेटे को शादी की पहली रात में 10 नसीहत कि

 

#इमाम_अहमद_बिन_हंबल_रहमतुल्ला ले अपने बेटे को शादी की पहली रात में 10 नसीहत कि
हर मर्द शादी करने से पहले इन नसीहतों को ग़ौर से पढ़े और अपनी जिंदगी में अमली तौर पर इस इख्तयार करें जो #शादीशुदा हैं वह भी अपने अंदर जायज़ा लें
इमाम साहब ने फरमाया मेरे बेटे तुम घर का सुकून हासिल नहीं कर सकते जब तक कि अपनी बीवी के मामले में 10 आदतों को ना अपना लिहाज़ा इनको ग़ौर से सुनो और अमल का इरादा करो

👉1 #औरत तूम्हारीं तवज्जों चाहती है और चाहती है के तुम उससे साफ अल्फाजों में #मोहब्बत का इजहार करो लिहाजा़ वक़्तन वक़्तन अपनी बीवी को अपनी मोहब्बत का एहसास दिलाते रहो
और साफ अल्फाजों में बताओ कि वह तुम्हारे लिए बोहोत एहम हैं और महबूब है और उसका वफादार है इस गुमान में ना रहो कि वह खुद समझ जाएगी रिश्तो को इज़हार की ज़रूरत हमेशा पेश आती है

👉2 याद रखो अगर तुमने उससे #इज़हार में कंजूसी से काम लिया तो तुम दोनों के दरमियान एक तल्ख दरार आ जाएगी जो वक्त के साथ बढ़ती रहेगी और मोहब्बत को ख़त्म कर देगी

👉3 औरत को #सख़्त_मिजाज़ और ज़रूरत से ज़्यादा मोहतात #मर्दों से कोफ्त होती है लेकिन वह नरम मिजाज़ मर्द की नरमी का बेजा फायदा उठाना भी जानती हैं लिहाजा इन दोनों सिफ़ात में #एतेदाल से काम लेना ताकि घर में तवाज़ुन कायम रहे और तुम दोनों को ज़हनी सुकून हासिल हो

👉4 औरत अपने शौहर से वही तवक़को रखती है जो शौहर अपनी बीवी से रखता है यानी इज़्ज़त #मोहब्बत भरी बातें जाहिरी जमाल साफ सुथरा लिबास #खुशबूदार जिस्म लिहाजा इसका ख्याल हमेशा रखना हमारे यहां यह बात बिल्कुल नहीं पाई जाती खुशबू लिबास खुशबू गुप्तारी वगैरा घर में आते हैं उनक़ा हो जाती है यानी जब किसी मजलिस में जाते हैं तभी बनते #संवरते हैं कभी एक दूसरे के लिए ही नहीं बनते संवरते
जबकि औरत का बनाओ सिंगार सिर्फ अपने #शौहर के लिए है और मर्द भी बने संवरे तो सिर्फ अपनी #बीवी के लिए नाकि दूसरों को दिखाने के लिए

👉5 याद रखो घर की #चारदिवारी औरत की #सल्तनत है जब वह वहां होती है तो गोया अपनी #मिल्कियत के तख्त पर बैठी होती है उसकी इस सल्तनत में बेजा #मुदाखिलत हरगिज़ ना करना और उसका तख्त छीनने की कोशिश ना करना जिस हद तक मुमकिन हो घर के मामलात उसके सुपुर्द करना और उसमें तसर्रूफ की उसको आजा़दी देना

👉6 हर बीवी अपने शौहर से मोहब्बत करना चाहती है लेकिन याद रखो इसके अपने मां-बाप #भाई बहन और दिगर घर वाले भी हैं जिनसे वह ला-ताल्लुक नहीं हो सकती और ना ही उससे ऐसी #तवकको जायज़ है लिहाजा कभी भी अपने और उसके घरवालों के दरमियान #मुकाबले की सूरत पैदा ना होने देना क्योंकि अगर उसने मजबूरन तुम्हारे खातिर अपने घरवालों को छोड़ भी दिया तब भी वह #बेचैन रहेगी और यह बेचैनी बिल आखिर तुम से उसे दूर कर देगी

👉7 बिला शुबा औरत #टेढ़ी_पसली से पैदा की गई है और इसमें इसका हुस्न भी है और यह हरगिज़ कोई नुक्स नहीं वो ऐसे ही अच्छी लगती है जिस तरह भंवे गोलाई में #खूबसूरत मालूम होती है लिहाजा उसके #टेढ़े_पन से फायदा उठाओ और उसके उस #हुस्न से #लुत्फ़_अंदोज़ हो अगर कभी उसकी कोई बात ना गवार भी लगे तो उसके साथ #सख़्ती और #तल्खी से उसको सीधा करने की कोशिश ना करो वरना वो टूट जाएगी और उसका टूटना बिल आखिर #तलाक की नौबत ले जाएगा मगर उसके साथ साथ ऐसा भी ना करना कि उसकी हर गलती और बेजा बात मानते ही चले जाओ वरना वह #मग़रूर हो जाएगी जो उसके अपने लिए #नुकसानदेह होगि
लिहाज़ा मौतादल मिजाज रहना और
हिकमत से मामलात को चलाना

👉8 #शौहर की ना-क़दरी और ना-शुकरी अक्सर औरतों की फितरत में होती है अगर सारी उम्र भी उस पर नवाजिश करते रहो लेकिन कभी कोई कमी रह गई तो वह यही कहेगी तुमने मेरी कौन सी बात सुनी है आज तक
लिहाजा उसकी इस फितरत से ज्यादा परेशान मत होना और ना ही उसकी वजह से उससे मोहब्बत में कमी करना यह एक छोटा सा ऐब है इसके अंदर
लेकिन इसके मुकाबले में इसके अंदर बेशुमार ख़ूबिया भी हैं बस तुम उन पर नज़र रखना और अल्लाह की बंदी समझकर उससे मोहब्बत करते रहना और हुक़ूक़ अदा करते रहना

👉9 हर औरत पर जिस्मानी कमजोरी के कुछ अय्याम आते हैं और इन अय्याम में अल्लाह ताला ने भी इसको इबादत में छूट दी है इस की नमाजे़ माफ कर दी हैं उसके रोजों में उस वक्त तक ताख़ीर की इजाज़त दी है जब तक वह दोबारा सेहत याब ना हो जाए बस इस अय्याम में तुम इसके साथ वैसे ही मेहरबान रहना जैसे #अल्लाह_ताला ने उस पर मेहरबानी की है जिस तरह #अल्लाह ने उस पर से इबादत हटा ली वैसे ही तुम भी इन अय्याम में उसकी कमजोरी का लिहाज़ रखते हुए उसकी जि़म्मेदारियों में कमी कर दो इसके कामकाज में मदद कर दो और इसके लिए #सहुलत में पैदा करो

👉10 आखिर में बस यह याद रखो बेटे के तुम्हारी #बीवी तुम्हारे पास एक कै़दी है इसके बारे में अल्लाह तुमसे सवाल करेगा बस इसके साथ #इंतेहाई रहर का मामला करना इसकी गवाही सबसे पहले और मोअतबर गवाही होगी

इमाम एहमद बिन हंबल रह० की इन बातों पर अमल करके अपनी शादीशुदा जिंदगी को खुशगवार बनाए
#IMRAN_PS

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...