हमें चाहने वाले मित्र

28 जून 2020

राजस्थान में जोधपुर की माटी के ,जादूगर ,चमत्कारिक ,राजनीतिज्ञ सूझबूझ में पारंगत, अशोक गहलोत ,,

राजस्थान में जोधपुर की माटी के ,जादूगर ,चमत्कारिक ,राजनीतिज्ञ सूझबूझ में पारंगत,  अशोक गहलोत ,,  का नेतृत्व ,इनकी कार्यशैली ,इनकी गांधीगिरी , प्रतिपक्ष को , तथ्यों ,साक्ष्य के साथ तहज़ीब के दायरे में लगातार दिए जा रहे जवाब ने इन्हे ,अशोक से अशोका दी ग्रेट ,बना दिया है ,,राजस्थान की सियासत में अशोक महान बना दिया है ,, क़ानून  की पढ़ाई के साथ साथ ,अशोक गहलोत ,ग्राउंड कांग्रेस पार्टी की सियासत से आज सर्वोच्च ज़िम्मेदारी पर है ,, वोह अपने अनुभवों के आधार पर ,अपने कार्यकर्तों को समझाइश ,कर साथ लेकर चलने में पारंगत है ,तो प्रतिपक्ष की हर साज़िश का पुरज़ोर ताक़त से जवाब देने में सक्षम है ,, अशोक गहलोत लगातार राजस्थान के मुख्यमंत्री ,है , इनके ,ईमानदार , गाँधीवादी नेतृत्व में ,राजस्थान के संकट को भी इन्होने हर बार अवसरों में बदला ,है ,, राजस्थान में अकाल के वक़्त अशोक गहलोत के नेतृत्व में ,मनरेगा कार्यक्रम , काम के बदले अनाज ,कार्यक्रम सहित कई ऐसी योजनाए थी जिससे राजस्थान में अकाल ,बाढ़ पीड़ितों को ज़रा भी  तकलीफ न हुई ,  इसी तरह हाल ही में राजस्थान में कोरोना संक्रमण से देश ,विश्व त्रस्त था ,अशोक गहलोत में मोर्चा संभाला ,,चिकित्स्कों ,कोरोना टीम को ,हौसला दिया ,,व्यवस्थाएं दीं , ज़िम्मेदारी दी ,,सुझाव दिए ,बस राजस्थान कोरोना संक्रमण से घिरे होने के बावजूद  भी यहाँ नियंत्रण की बेहतर ही नहीं ,सर्वश्रेष्ठ व्यवस्था रही ,भीलवाड़ा मॉडल ,हो  ,या फिर संक्रमित मरीज़ों के इलाज में चिकित्स्कों की दवा देने की सांझेदारी हो ,राजस्थान अव्वल रहा ,,खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घोर विरोध के बावजूद भी ,अशोक गहलोत ,उनके नेतृत्व टीम की प्रशंसा किये बगैर नहीं रह सके ,,विश्व स्तर पर अशोक गहलोत के , कोरोना संक्रमण नियंत्रण , मॉडल को स्वीकार किया गया ,,यह राजस्थान के लिए राजस्थान के नेतृत्व अशोक गहलोत के लिए गर्व की बात है ,, अभी हाल ही में राज्य सभा चुनाव में भाजपा जो कर्नाटक ,गुजरात ,मध्य्प्रदेश सहित अन्य राज्यों में खरीद फरोख्त करके , नतीजे अपने पक्ष में लाने में सक्षम रही ,,राजस्थान में ,भी भाजपा ने , गद्दारों को पुरस्कार , अभियान छेड़ा ,यहाँ तीन सीटों पर ,भाजपा के पास वोट नहीं होने पर भी खरीद फरोख्त की उम्मीद पर ,चौथा उम्मीदार खड़ा कर दिया ,,चुनाव के पहले ,,अशोक गहलोत जादूगर ,को जैसे ही ,खरीद फरोख्त की भनक लगी ,, अचानक ,राजस्थान की सीमाएं सील ,मुक़दमे दर्ज ,विधायकों से,  वन टू वन , वार्ता   का क्रम शुरू हुआ ,,भाजपा असंतोष फैलाकर ,फुट डालो ,राज  करो की निति पर ,,जो खेल खेलना चाहती ,थी ,माकपा   ,  निर्दलीय विधायकों सहित पार्टी में तोड़फोड़ के जो ख्वाब देखकर बैठी ,थी सब धूमिल हो गए ,,भाजपा का शीर्ष नेतृत्व इस मामले में ,भी अशोक गहलोत के सामने बोना साबित हुआ ,,भाजपा कांग्रेस का तो एक भी वोट नहीं हिला ,सकी ,,बल्कि सभी निर्दलीय भी कांग्रेस के साथ बिना शर्त मौजूद रहे ,इतना ही नहीं  ,अशोक गहलोत की जादूगरी कहो ,या चमत्कार ,भाजपा का ही एक वोट खारिज हो गया , अशोक गहलोत ,राजस्थान की सियासत में ,,कांग्रेस की सियासत में ,,साउथ ,नार्थ ,ईस्ट ,वेस्ट ,अशोक गहलोत इस दी बेस्ट के नारे के साथ कुशल नेतृत्व ,है , अशोक गहलोत छात्र कांग्रेस का नेतृत्व रहे ,,,यूथ कांग्रेस का नेतृत्व रहे , ब्लॉक अध्यक्ष रहे , जिला अध्यक्ष रहे , प्रदेश कांग्रेस कमेटी में लगातार अध्यक्ष रहे ,,  मुख्यमंत्री रहे ,  केंद्रीय मंत्री रहे ,,कांग्रेस संगठन के महासचिव महत्वपूर्ण  राज्यों के प्रभारी रहे ,, कांग्रेस में संगठन के राष्ट्रिय सचिव रहे , कांग्रेस और गांधी परिवार के अशोक गहलोत ,इंद्रा गांधी ,, राजीव गांधी , सोनिया गांधी ,राहुल गांधी के वफादार , सलाहकार ,संकट मोचक  हैं ,,, राहुल गांधी ,राजस्थान से उपाध्यक्ष बनाये गए ,राहुल गांधी राजस्थान में आयोजित सम्मेलन में ,ही राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाये ,गए ,,अभी फिर सी डब्ल्यू सी की बैठक में अशोक गहलोत ने राहुल गांधी को राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा है ,,लोगों की जन सुनवाई कार्यक्रमों में हिस्सेदार बनना ,,उनकी  समस्याओं के समाधान करना ,, पारदर्शिता , भ्र्ष्टाचार मुक्त ,शासन के लिए वचनबद्ध रहना , विकास  योजनाए , सोंदर्यकरण योजनाओं के क्रियान्वन का रिकॉर्ड बनाना इनकी उपब्धिययाँ है ,,गाँधीवादी विचारधारा ,, ईमानदारी ,, सहनशीलता , ,धैर्य , संयम ,शालीनता इनकी सियासत की पूंजी ,है , यही वजह रही है , के इन्होने राजस्थान में गाँधी विचारधारा  को बढ़ावा देने के लिए अलग से , महत्मागांधी मिशन की शुरआत की ,है ,जबकि भ्रष्टाचार के खिलाफ इनके अभियान में ,,छोटे बढे कर्मचारियों सहित बढे बढ़े दिग्गज रोज़ जेल की सींखचों में जा रहे है ,, आज जब भाजपा , कांग्रेस के आस्तीन के सांप , पाला बदल बदल कर ,,कांग्रेस के खिलाफ फ़र्ज़ी ,झूंठे आरोपों के साथ हमलावर ,है ,ऐसे में अकेले अशोक गहलोत ,,खुलकर हर हमले का जवाब तथ्यात्मक , शालीनता के साथ दे रहे है ,वोह खुलकर ,नरेंद्र मोदी के कार्यक्रलापों के खिलाफ ,मोर्चे पर ,है , रोज़ टारगेट बनाकर शालीनता के दायरे में , तथ्यात्मक ,गंभीर आरोप लगाते ,है फ़र्ज़ी झूंठे आरोपों का ऐसा जवाब देते हैं जिसमे यह लाजवाब हो जाते ,,है ,ऐसे में अशोक गहलोत , अशोक गहलोत से अशोका दी ग्रेट हैं , चमकतारिक नेतृत्व है , जादूगर है ,, शालीन है ,इसमें कोई शक नहीं रह जाता ,,राजस्थान ,को राजस्थान के विकास को ,,कांग्रेस के राष्ट्रिय नेतृत्व ,,कांग्रेस संगठन और ,भारत में चल रहे वर्तमान हालातों में ,,देश  को संकट से उबारने के लिए ,  कांग्रेस को फिर से मज़बूती देकर संकट से उबारने के लिए ,, अशोक गहलोत का नेतृत्व , इनकी नीतियां ,इनकी कार्यशैली ,,इनके सुझाव ज़रूरत बन गए है  ,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...