हमें चाहने वाले मित्र

16 जून 2020

एक नारायण सत्य नारायण ,जो एस ऍन गुप्ता है , वोह झालावाड़ के विकास ,सोंदर्यकरण के मामले में हमेशा कहते सुने है ,में हूँ ना ,, में हूँ ना ,सत्यनारायण गुप्ता ने कहा ही नहीं ,, करके भी दिखाया है

एक नारायण सत्य नारायण ,जो एस ऍन गुप्ता है , वोह झालावाड़ के विकास ,सोंदर्यकरण के मामले में हमेशा कहते सुने है ,में हूँ ना ,, में हूँ ना ,सत्यनारायण गुप्ता ने कहा ही नहीं ,, करके भी दिखाया है ,,, कोरोना संक्रमण लोकडाउन के वक़्त भी , झालावाड़ के भूख से बिलखते मजबूर ,लाचार लोगों के सामने ,, एस ऍन गुप्ता का वही जुमला ,में हूँ ना ,लोगों को हिम्मत भी दिलाता रहा ,उनके लिए खाने की सामग्री की व्यवस्था  भी करवाता रहा ,,, ,आज झालावाड़ में रेल सेवा है ,विकसित झालावाड़ ,एयरपोर्ट है ,,किसानों के चेहरे पर रोनक है , मेडिकल कॉलेज ,है शिक्षण संस्थाए है ,एयरपोर्ट ,है  औद्योगिक वातावरण है ,यह सब ,सत्यनारायण गुप्ता की दूरगामी सोच का ही परिणाम है ,, जी हाँ दोस्तों , झालावाड़ जब पिछड़ा हुआ था ,,राजनितिक तोर पर ,,विकास के नाम पर यहाँ बहुत कुछ नहीं था ,ऐसे में ,एस ऍन गुप्ता ,जो झालवाड़ का भला चाहते थे ,मेडम वसुंधरा जी से मिले , उन्हें झालावाड़ आकर चुनाव लड़ने का न्योता दिया ,, धौलपुर से झालावाड़ नई जगह ,मेडम वसुंधरा उनके सियासी सलाहकार , असमंजस में , ऐसे वक़्त पर , एस ऍन गुप्ता ने मेडम से कहा , में हूँ ना ,, बस फिर मेडम ने ,एस ऍन गुप्ता पर अंधा विश्वास किया ,,वोह झालावाड़ आयी और झालवाड़ की ही होकर रह गयीं ,,झालावाड़  की सांसद बनने के बाद ,, वसुंधरा केंद्र में पर्यटन मंत्री बनीं ,इन्होने झालावाड़ को पर्यटन से जोड़ने के लिए आकर्षक ,सोंदर्यकरण , विकास योजनाए झालावाड़ में क्रियान्वित कीं , हर योजना के पीछे एस ऍन गुप्ता का ही सुझाव शामिल था ,,कांग्रेस की सरकार में जब माधवराव सिंधिया रेलमंत्री ,थे तब ,एस ऍन गुप्ता के सुझाव पर ,, एक झालावाड़ की सांसद बहन वसुंधरा ने अपने भाई केंद्रीय रेल मंत्री माधवराव सिंधिया से राखी के तोहफे में ,, झालावाड़ की रेल मांगी और झालावाड़ में रेल के लिए सर्वे कार्य शुरू होकर ,आज झालावाड़ रेल से जुड़ गया है ,, एयरपोर्ट , हाइवे , मुकंदरा ,,पूल ,बाँध ,एनीकट , शिक्षण संस्थाए ,, झालावाड़ का मिनी सचिवालय ,की प्रेरणा के पीछे सत्यनारायण गुप्ता ,, का,, में हूँ ना , में हूँ ना ही ,रहा है ,,, वसुंधरा सिंधिया को राजस्थान में प्रदेश अध्यक्ष का ऑफर दिया ,, वसुंधरा ने ना नुकुर की , लेकिन एस ऍन गुप्ता ने कहा ,में हूँ ना , और वसुंधरा भाजपा की प्रदेश अध्यक्ष बनीं ,,फिर चुनाव हुए ,, वसुंधरा मुख्यमंत्री बनीं ,,वसुंधरा ने एस ऍन गुप्ता को ,अपना सारथि बनाया ,, जन अभाव अभियोग का चेयरमेन बनाकर , मंत्री दर्जा दिया , लेकिन सरकार के सफल संचालन , सियासी नियुक्तियों में , एस ऍन गुप्ता का ही दखल रहा ,, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला भी इनके लगातार संसदीय सचिव कार्यकाल में सम्पर्क में रहकर ,इनके कामकाज में सहयोगी रहते रहे है ,, पेशे से सी ऐ , चार्टर्ड एकाउंटेंट ,, लेकिन दिमाग से कुशल राजनीतिज्ञ ,, चाणक्य नीती धारक , एस ऍन गुप्ता में यूँ तो बहुत खूबियां है ,लेकिन वफ़ादारी इनकी पहचान ,है , फिर चाहे जिससे यह वफ़ा करे ,वोह गलत फहमी में ,चुगलखोरों के कहने में , इनकी पीठ पर वार पर वार ही क्यों न ,करे ,यह सर झुकाये ,  खामोश सिर्फ इसलिए , के जिस पेड़ को में हूँ ना कहकर ,वट वृक्ष बनाया गया ,आज खुद ही उस पेड़ को कैसे काटें , बस अपनी वफादारी की मिसाल ,पीठ पर लगातार वार पर वार खाने पर भी ,एस ऍन गुप्ता ,आज भी हर संकट की घड़ी में झालावाड़ की ,शोषित ,पीड़ित , जनता से मुस्कुराकर कहते है , में हूँ ना ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...