हमें चाहने वाले मित्र

29 मई 2020

हाड़ोती के लाल ,,विकास पुरुष ,केबिनेट मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल के वर्तमान अव्वलीन वफादार ,,जांबाज़ क्रांतिकारी राजेंद्र सांखला

हाड़ोती के लाल ,,विकास पुरुष ,केबिनेट मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल के वर्तमान अव्वलीन वफादार ,,जांबाज़ क्रांतिकारी राजेंद्र सांखला का शनिवार 30  मई को उनका जन्म दिन ,यानि योमं ऐ पैदाइश का दिन है उनके समर्थक साथी इसे कोरोना एडवाइज़री सोशल डिस्टेंस के साथ जश्न के रूप में भी मना रहे है  सभी जानते है ,राजेन्द्र सांखला ने इस कोरोना संकट में खुद को तपाकर कोटा के लोगों उनकी समस्याओं के समाधान के सकारात्मक प्रयासों के लिए कुंदन साबित कर दिखाया है ,, सांखला को उनके जन्म दिन पर , मेरी तरफ से ढेरों बधाइयां ,कामयाबी ,बुलंदी ,सह्तयाबी की ढेरों दुआए ,,, जी हाँ दोस्तों संकट आते है ,जाते ,है लेकिन संकट में कुछ लोग भाग खड़े होते ,है , कुछ लोग मुक़ाबला करते ,है , जबकि कुछ विशिष्ठ होते ,है जो संकट के खिलाफ जीत के लिए एक रणनीति बनाकर संकट के हालातों को खुशियों में बदल देते ,है , कोरोना संकट वर्तमान हालातों में कोटा के लिए संकट ,खौफ ,परेशानी ,भूख ,प्रताड़ना का माहौल का लेकर आया , ऐसे में केबिनेट मंत्री शान्ति कुमार धारीवाल के  वफादार सिपाही होने के नाते ,राजेंद्र सांखला ने ,,निर्देशानुसार मोर्चा सँभाला ,अस्पताल में मरीज़ों के हालात जाने ,, डॉक्टरों को मोटिवेट करने के लिए शांति कुमार धारीवाल ने इन्ही के मोबाइल फोन के ज़रिये डॉक्टर सरदाना को बधाई दी ,मोटिवेट किया ,,सांखला ने मरीज़ों से खौफ नहीं खाया ,एहतियात बरतते हुए उनके साथ मित्रता का व्यवहार रखा ,सकारात्मक माहौल देने का प्रयास किया ,जबकि कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्रों में परेशान हो  रहे लोगों की मदद का बीड़ा उठाया ,, मुफ्त सब्ज़ियों का वितरण ,,सूखे राशन ,खाने के पैकेटों का वितरण ,,हालात और  बिगड़जाने पर वरिष्ठ  पुलिस अधिकारीयों ,,प्रशासनिक अधिकारीयों से  तालमेल बिठाकर ,,एक आम नागरिक की तरह ,कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्र में पीड़ित लोगों का दुखदर्द देखकर , उनके निवारण की कार्ययोजना पेश की जिसे प्रशासन ने स्वीकार कर ,इन क्षेत्रों में राजेंद्र सांखला की व्यवस्थाएं लागू की ,रोज़ सुबह सवेरे मंडी में सब्ज़ियों के मूल्यों का निर्धारण ,सब्ज़ी भेजने की व्यवस्था , दूध ,आवश्यक सामग्री पहुंची या नहीं ,इसकी मॉनिटरिंग ,बीमार ,परेशान लोगों की समस्याओं का निस्तारण , एम्बुलेंस ,चिकित्सा व्यवस्थाएं लागू करवाना ,,सरकारी सामग्रियों का व्यवस्थित वितरण , कोरोना जांचे, अवसर पढ़ने पर ,,खाने के पैकेटों का वितरण ,,खुद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी डी आई जी रवि दत्त गोड़  ,जिला कलेक्टर ओम कसेरा ने इनके सेवा कार्यों की सराहना की ,है संक्रमण बस्ती में राहत कार्य संचालित करना जोखिम भरा काम था ,ऐसे में जब ,मक़बरा ,कैथूनीपोल में पुलिस कर्मियों के पोजेटिव आने के बाद दोनों थाने क्वारेंटाइन हो गए हों तो , मामला और चुनौतीपूर्ण हो जाता ,है इसके बावजूद भी ,,खुद राजेंद्र सांखला ने खुद की स्वेच्छिक कोरोना जांच करवाई ,, कोरोना एडवाइज़री के सुरक्षात्मक सभी मार्गदर्शन की पालना की ,और मोर्चे पर डटे रहे ,,राजेंद्र सांखला यूँ तो केबिनट मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल के वर्तमान हालातों में सर्वाधिक वफादार युवा कार्यकर्ताओं में से प्रमुख है ,, वोह हर मोर्चे पर कांग्रेस के पक्ष में अपनी टीम के साथियों के साथ खड़े मिलते ,है संघर्ष करते है ,,, सांखला पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य भी रह चुके है ,,सही मायनों ,,हाड़ोती में विकास सहित कई समस्याओं के लिए मोर्चा संभालने और समस्याओं के समाधान में सफलता हांसिल करने के लिए ,राजेंद्र सांखला का , हाड़ोती विकास मोर्चा , इनकी टीम इस कोरोना संकट में कुशल योद्धा के रूप में सर्वश्रेष्ठ जांबाज़ कार्यकर्ता के रूप में अव्वल रहे है ,,इनके साथी संदीप भटिया ने अपनी जान की बाज़ी लगाकर ,,संक्रमित क्षेत्र में लगातार सेवा की ,अपनी सरकार में रहकर ,व्यवस्थाओं के खिलाफ संघर्ष किया ,,डिजिटल सोशल डिस्टेंसिंग आंदोलन शुरू किया ,,, एक नाम राजेंद्र सांखला ,,जो युवा नेतृत्व में कामयाबी का एक सबक़ बनकर उभरा है ,,उनकी टीम कांग्रेस समर्थित हाड़ोती विकास मोर्चा संगठन और कॉग्रेस के पदाधिकारी मिलकर आज उनका जन्म दिन बढ़ी धूम धाम ,,खुशियों के साथ मना रहे है ,  ,,,एक संघर्ष ,जनसमस्याओं के निराकरण के लिए सीधी लड़ाई लड़ने का दुसरा नाम राजेंद्र सांखला कहा जाए तो अतिश्योक्ति नहीं होगी ,हाड़ोती विकास मोर्चा के अध्यक्ष राजेंद्र सांखला में नेतृत्व में कोटा ज़िले के हर क्षेत्र में इनके कार्यकर्ताओं की निजी टीम है जो तत्काल सुचना मिलते ही मौके पर पहुंचकर निर्भीकता से संघर्ष में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ,,,,जी हाँ दोस्तों ,अपने व्यवसाय ,,अपनी सियासत ,,जन सेवा ,,जनसंघर्ष ,,नेतृत्व क्षमता में कामयाबी का एक नाम राजेंद्र सांखला ,,जो युवा नेतृत्व में कामयाबी का एक सबक़ है ,, जनहित समस्याओं के निराकरण के लिए एक संघर्ष ,,,जो कभी छोटा सा पौधा था वोह ,आज एक छायादार वृक्ष बन गया है आज वोह खुद ,,कोटा शहर की प्रमुख समस्याओं को लेकर ,पूर्व ,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य ,,राजेंद्र सांखला ,,, गत दिनों  हाड़ोती विकास मोर्चा के नाम पर खुला संघर्ष कर रहे है ,,हाल ही में कोटा विधुत वितरण निगम के खिलाफ बिलों की ज़्यादती को लेकर इनका बढ़ा संघर्ष अपनी सरकार में गरीबों के हित में अव्यवस्थाओं के खिलाफ रहा है ,,,,,जी हाँ दोस्तों शहर की हर प्रमुख समस्या और उनके निराकरण मामले में,,,अपनी पेनी नज़र रखकर ,,आवाज़ बुलंद करने वाले,,, राजेंद्र सांखला ने ,,,अपने इस विचार के समर्थन में क्रांतिकारी ,,,वफादार कार्यकर्ताओं की टीम तैयार करने में भी ,,,कामयाबी हांसिल की है ,,,राजेंद्र सांखला ने अपने संघर्ष ,,से ,,अपने व्यवसायिक समर्पण के ,साथ ,कामयाबी से ,,एक ,,कहावत ,,खुदी को कर बुलंद इतना ,,के हर तक़दीर से पहले ,खुदा बंदे से पूंछे तेरी रज़ा किया है इस कहावत को  साबित कर दिखाया है ,,राजेंद्र सांखला ,,छात्र जीवन से ही ,,छात्र कांग्रेस के पदाधिकारी के रूप में ,,अधिकारियो ,,उनके परिजनों द्वारा सरकारी वाहनों के दुरुपयोग को रोकने का सफलतम अभियान चला चुके है ,,उन्होंने अस्पतालों की समस्याओं ,को लेकर ,अस्पतालों में खून बेचने के खिलाफ संघर्ष किया ,,जबकि चिकित्सको द्वारा ,सरकारी निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क वसूली के खिलाफ,,,, अभियान चलाकर ,,,चिकित्सको की लूट से आम जनता को बचाया ,,,राजेंद्र सांखला ने कॉलेज सहित ,,सभी छोटी बढ़ी शिक्षण संस्थाओ में ,,,छात्र छात्राओं से अवैध फीस वसूली के खिलाफ ,,आंदोलन छेड़ा ,,तो रोज़गार कार्यालय सहित ,,उद्योगों के खिलाफ स्थानीय लोगो को,,, रोज़गार देने का आन्दोलन मज़बूती से कामयाबी के साथ चलाकर ,,,कई बेरोज़गारो को रोज़गार दिलवाया ,,,,,राजेंद्र सांखला ने ,,,पुलिस थाने में निर्दोषो के साथ ज़्यादती करने वाले,,, पुलिस कर्मियों के खिलाफ खुलकर आवाज़ ,उठाई ,तो वक़्त ब वक़्त ,,शहर में पानी ,,बिजली ,,किसानो के लिए खाद ,,बीज ,,सिंचाई ,,गरीबो के लिए रोज़गार ,,कच्ची बस्तियों के नियमन ,,छात्र छात्रों से ट्यूशन के नाम पर की जा रही लूट के खिलाफ सैकड़ों आन्दोलन किये ,,राजेंद्र सांखला ने आंदोलन के साथ साथ ,मर्यादाओं का भी पूरा ध्यान रखा ,,इसी दौरान वोह कांग्रेस के युवा उत्साहित छात्र नेता से ,,युवा नेता और अब कांग्रेस के प्रदेश स्तरीय नेता बन गए है ,,राजेंद्र सांखला कांग्रेस में पूर्व प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी सदस्य रहे है ,वोह कई मह्त्य्वपूर्ण पदों पर है ,,लेकिन उनके गॉड फादर ,उनके प्रेरक ,पथप्रदर्शक ,,,कोटा के,  राजस्थान के , विकास पुरुष ,,केबिनेट मंत्री शान्ति कुमार धारीवाल है ,,जिनके लिए ,,राजेंद्र सांखला और उनकी टीम,,, एक जुट होकर ,,कुछ भी कर गुज़रने के लिए तैयार रहती है ,,सांखला ने अपने संघर्ष ,,अपने आंदोलन के साथ साथ ,,रोज़गार पर भी ध्यान दिया ,,स्वरोजगार व्यवस्था के तहत ,,खुद को स्थापित किया ,,एक आम आदमी से खास बनने की मशक़्क़्क़त कर सांखला ने ठेकेदारी ,व्यवसायिक गतिविधियों में भी खुद को कामयाब किया ,,लोगो से भी सम्पर्क रखा ,,कांग्रेस का एक सिपाही बनकर ,,आम लोगो के लिए संघर्ष भी किया ,तो वक़्त आने पर ,,आम लोगो के लिए संघर्ष के दौरान मुक़दमो का दर्द भी झेला है ,,राजेंद्र सांखला ने ,,,कांग्रेस समर्थित हाड़ोती विकास मोर्चा गठित किया ,,इस मोर्चे में कोटा की हर विधानसभा ,हर वार्ड ,,,हर भाग संख्या के सभी जाति ,,समाज ,,वर्ग ,,समुदाय के लोग शामिल है ,,इनके मोर्चे में स्त्री ,,पुरुष ,,बूढ़े ,,नौजवान सभी जुड़ गए है ,,हालत यह के ,,कोटा के किसी आंदोलन के वक़्त एक आवाज़ ,,एक संदेश पर गली ,,मोहल्लों से निकल कर ,, सेकड़ो लोग ,,राजेंद्र सांखला के साथ ,,कांग्रेस ज़िंदाबाद ,,करते हुए हर समस्या के समाधान के लिए किसी भी क़ीमत पर कुछ भी कर गुज़रने को तैयार रहते है ,,,हाल ही में राजेंद्र सांखला ने शहर में साफ़ सफाई ,गंदगी की समस्या को लेकर आंदोलन किया भाजपा शासन में इन्होने ,,नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष को कार्यभार ग्रहण नहीं करवाने के खिलाफ चेतावनी भरा संघर्ष किया ,,तो कोटा हेंगींग ब्रिज जो बनकर तो तैयार था ,,लेकिन बेवजह उद्घाटन में देरी किये जाने के खिलाफ संघर्ष किया ,, इस दौरान हेंगिंग ब्रिज की खराबियों की भी पोल खुली ,,पुलिस द्वारा दमनकारी निति के तहत ,,,जब राजेंद्र सांखला ,,इनके साथ ,हेंगिंग ब्रिज का निरीक्षण करने गए ,,,केबिनेट मंत्री शान्ति कुमार धारीवाल सहित,,, कुछ लोगो के खिलाफ मुक़दमा दर्ज किया ,,तो राजेंद्र सांखला के समर्थको ने शहर की गलियों ,चोराहो पर कई हफ्ते तक प्रदर्शन किए ,,,राजेंद्र सांखला आज ,,कोटा कांग्रेस में एक कामयाब ,,संघर्ष शील ,,,युवा क्रांतिकारी नेतृत्व की पहचान बना चुके है ,,,,इनकी टीम ,,,इनकी टीम के संघर्ष के जज़्बे ,,इनकी टीम की निर्भीकता ,,क्रन्तिकारी आंदोलन शैली ,,,कॉग्रेस ज़िंदाबाद की वफादार सिपाही की भूमिका ,,इन्हे कांग्रेस के दूसरे नेताओं से जुदा और मज़बूत बनाती है ,,मेने इनका युवा कार्यकाल का संघर्ष का जज़्बा ,,इनके आंदोलन का तरीक़ा भी देखा है ,,और आज कुशल नेतृत्व में ,,गली ,,गली ,,मोहल्लों ,,वार्डों ,,सभी जगह इनके नेतृत्व में ,,कांग्रेस वफादार कार्यकर्ताओं की टीम ,,इनके हर मुद्दे पर सजग सतर्क होकर ,,आंदोलन ,,प्रदर्शन करने के तरीके से स्पष्ट है ,,के एक छात्र तरुण नेतृत्व जो आंदोलन का एक पौधा था ,आज वोह युवा बनकर ,,कांग्रेस के पक्ष में आंदोलनकारियों की टीम का एक कुशल नेतृत्व ,,कुशल कमांडर ,,एक वटवृक्ष बन गया है ,,राजेंद्र सांखला के इस ,जांबाज़ ,नेतृत्व ,,आंदोलनकारी स्वभाव ,,जनसमस्याओं के प्रति जागरूकता ,,निर्भीकता ,,निष्पक्षता और अपने कार्यकर्ताओं पर मर मिटने के जज़्बे को सलाम ,,सेल्यूट ,,सालगिरह मुबारक हो ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...