हमें चाहने वाले मित्र

21 अप्रैल 2020

राजस्थान सरकार में संवेदनशील मुख्यमंत्री अशोक गहलोत , यहां पत्रकारों ,खासकर ,छोटे ,मंझोले ,,पत्रकारों के कल्याण कार्यक्रमों के मसीहा रहे है

राजस्थान सरकार में संवेदनशील मुख्यमंत्री अशोक गहलोत , यहां पत्रकारों ,खासकर ,छोटे ,मंझोले ,,पत्रकारों के कल्याण कार्यक्रमों के मसीहा रहे है ,,पत्रकारों को अशोक गहलोत के कार्यकाल में सर्वाधिक विज्ञापन ,सर्वाधिक ,सुख ,सुविधाएं ,संरक्षण मिला है ,लेकिन आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को संकट की इस घडी में एक बार फिर ,राजस्थान के छोटे ,मंझोले पत्रकारों ,उसमे नियमित काम कर रहे पत्रकारों ,कर्मकारों के लिए संवेदनशील कार्ययोजना तैयार कर शीघ्र किर्यान्वित करना ज़रूरी हो गया है ,,,, कोटा सहित राजस्थान में ,हज़ारों हज़ार छोटे ,मंझोले ,क्षेत्रीय दैनिक ,पाक्षिक ,साप्तहिक ,मासिक ,,सांध्य दैनिक ,पत्र पत्रिकाएं है ,,इनके सम्पादक रोज़ कुआ खोदते है ,रोज़ पानी पीते है ,,सांध्य दैनिक अखबारों की स्थिति ,होकर प्रबंधन नहीं होने से और बुरी स्थिति है ,,इस कोरोना संकट काल में बाज़ार बंद है , उद्योग बंद है ,,संस्थान बंद है , सरकारी कामकाज बंद है ,,,ऐसे में यह अख़बार , प्रकाशित तो हो रहे है ,, वितरित भी हो रहे है ,,घर घर ,गली गली ,इंटरनेट ई पेपर के माध्यम से ,सरकार की सकारात्मक खबरों का प्रचार कर ,आम जनता में इस खबरनाक कोरोना वाइरस से लड़ने के लिए उत्साह का संघर्ष कर रहे है , कोरोना एडवाइज़री को तोड़ने वालों की खबरें इन अखबारों में सरकार को चौकन्ना कर व्यवथाये बनाने के लिए लगातार प्रकाशित है ,,यही हाल न्यूज़ चैनल के स्ट्रिंगर पत्रकारों के है ,लोकल न्यूज़ चैनलों के है ,,,,एसे में इन पत्रकारों ,प्रकाशको ,सम्पादकों के समक्ष संकट का दौर आ खड़ा हुआ है ,,अशोक गहलोत मुख्यमंत्री रहे और कोई भी पत्रकार संकट में ,रहे ऐसा कभी भी ,गाँधीवादी अशोक गहलोत के कार्यकाल में नहीं हुआ है ,, इनके कार्यकाल में हर पत्रकार को उम्मीद से ज़्यादा सम्मान ,उम्मीद से ज़्यादा प्राथमिकताएं ,उम्मीद से ज़्यादा कल्याणकारी व्यस्थाएं ,पुरस्कार ,विज्ञापन ,अधिस्वीकरण सुविधाएं , लेबटॉप ,रियायती दर पर भूखंड ,मकान ,निर्धारित सीमा तक विज्ञापन की हर हाल में सुरक्षित व्यवस्थाएं की गयी है ,बीमा की व्यवस्था ,इलाज की , व्यवस्था , पत्रकार कल्याण कोष की व्यवस्था ,पत्रकार पेंशन व्यवस्था सभी में अशोक गहलोत अव्वल रहे है ,वर्तमान हालात में देश के सभी पत्रकार संकट में है ,,राजस्थान में छोटे मंझोले समाचार पत्र हो ,या फिर खुद को सर्वाधिक छपने वाले अख़बार मालिक हो ,सभी परेशानी में है ,,,यह संकट सामान्य संकट से भयंकर संकट है ,ऐसे में ,कोटा सहित राजस्थान के सभी पत्रकारों के नियमित प्रकाशन की एक रिपोर्ट तैयार करवाकर ,इनके अखबारों को निर्धारित विज्ञापन ,,अतिरिक्त सहायता ,व्यवस्थाएं करने के लिए शीघ्र ही कोई ,कल्याणकारी घोषणा कर ,उसकी क्रियान्विति करना आवश्यक हो गया है ,,मुझे राजस्थान की जनता ,राजस्थान के पत्रकारों को ,सम्पादकों ,अखबारों के प्रकाशकों को पूरा भरोसा है ,,,के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इस संकट की घडी में ,,कोरोना संकट पर विजयश्री हांसिल करने की कामयाबी के साथ इस तरफ भी शीघ्र ही सार्थक ,सकारात्मक ,कल्याणकारी घोषणा करेंगे ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...