हमें चाहने वाले मित्र

02 अप्रैल 2020

मज़हबी हुक्म है , ज़कात ,खैरात ,फितरा ,,तुम और जिसे दिया गया है ,उसके सिवाए किसी को पता हरगिज़ न ,चले यह तुम्हारी ज़िम्मेदारी है

मज़हबी हुक्म है , ज़कात ,खैरात ,फितरा ,,तुम और जिसे दिया गया है ,उसके सिवाए किसी को पता हरगिज़ न ,चले यह तुम्हारी ज़िम्मेदारी है ,,लेकिन इसके अलग ,संकट में ,मदद करना इससे अलग है ,,इसी बीच ,मदद देने वालों का उत्साहवर्धन करने की जगह ,कुछ लोगों ने एक बहस ,,मदद करने के नाम पर फोटो खिंचवाने ,और सोशल मीडिया पर डालने की बहस शुरू कर दी ,,में ,, ज़कात ,, खेरात ,फितरे से अलग हठ कर संकट में ऐसे ,,मददगारों के उत्साहवर्धन ,उनके ग्रुप में और लोगों को शामिल करने के लिए इस तरह के मोटिवेशन के पक्ष में हूँ ,, लेकिन इस बहस बाज़ी के बीच ,,कोटा के एक समाजसेवक ,,भाई आज़ाद हुसैन नागरा ने ,,मदद का नायाब तरीक़ा निकाला है ,कोंग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के पूर्व पदाधिकारी ,रंगरेज़ समाज के ज़िम्मेदार ,,कांग्रेस कार्यकर्ता ,भाई आज़ाद नागरा ,पूर्व सम्भागीय अध्यक्ष अल्पसंख्यक विभाग गुरमीत सिंह टाक ,यूथ कांग्रेस के शोभित जेन ,,गाँधीवादी विचारक वरिष्ठ नेता ,नरेश विजयवर्गीय , जावेद खान सहित कई साथियों के साथ मिलकर ,अपने क्षेत्र के ज़रूरतमंदों की सूचि ,क्रॉस वेरिफाइ कर तय्यार कर रहे है आज़ाद नागरा ,ने छावनी क्षेत्र में दो किराने की दुकानों पर ,पहले से ही अग्रिम राशि जमा करवाकर आवश्यक खाद्य पदार्थों का किराना किट , बनवाकर रखवा दिए है ,,आज़ाद नागरा ने किराना व्यापारी से पूर्व भुगतान के प्रति किराना किट के हिसाब से कूपन ले लिए है ,,आज़ाद नागरा आवश्यक ज़रूरतमंद को ,तलाशते है ,,,चुपचाप उनके घर जाते है ,ज़रूरत के मुताबिक़ कूपन देते ,है और ऐसा ज़रूरतमंद ख़ामोशी से जाकर ,अपने क्षेत्र की किराना दूकान से वोह पैकेट कूपन जमाकर ले लाता है ,न फोटोग्राफी का झंझट ,न प्रचार प्रसार की बहसबाज़ी , लेकिन आज़ाद नागरा की यह अदा एक ज़रूरतमंद को इतनी पसंद आयी के ,एक शख्स ने उनके मददगार ,,आज़ाद नागरा के मदद के इस तरीके को बताया और ,प्रचार प्रसार के लिए उन्हें इस मदद के तरीके का आइकॉन बनाकर ,ऐसे मदद के तरीके को प्रचारित करने की गुज़ारिश की ,,इसीलिए आज़ाद नागरा जो सीक्रेट मदद कर रहे थे ,उनके एक चाहने वाले लाभान्वित हुए शख्स की गुज़ारिश पर ,,सीमित साधनों के बावजूद भी ,सीमित हैसियत से बढ़चढ़कर,, अपने क्षेत्र के ज़रूरत मंद लोगों के लिए ,, मददगार बने भाई आज़ाद नागरा का मदद सीक्रेट में उनकी इच्छा के बगैर शेयर कर रहा हूँ ,अल्लाह उनके मदद का जज़्बा क़ायम रखे ,,दूसरे लोगों में भी मदद का ऐसा नायाब जज़्बा पैदा करे ,आमीन ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...