हमें चाहने वाले मित्र

02 अक्तूबर 2019

यह आंसू,, यह दर्द ,यह तकलीफ,, किसी जम्मूवासी ,किसी कश्मीर वासी , किसी ,हिन्दू ,किसी मुस्लिम , किसी सिक्ख ,, किसी ईसाई के नहीं ,पुरे हिंदुस्तान के है

यह आंसू,, यह दर्द ,यह तकलीफ,, किसी जम्मूवासी ,किसी कश्मीर वासी , किसी ,हिन्दू ,किसी मुस्लिम , किसी सिक्ख ,, किसी ईसाई के नहीं ,पुरे हिंदुस्तान के है ,,, जी हाँ दोस्तों में बात कर रहा हूँ कोटा में जम्मू ,कश्मीर से कोचिंग करने आये लगभग 1600 से भी अधिक छात्र छात्राओं की जिनका सम्पर्क उनके मातापिता से टूटा हुआ है ,बैंक में फूटी कोड़ी भी नहीं बची है ,ऐ टी एम खाली है जबकि हॉस्टल वाले मासिक किराया जमा नहीं होने पर खाली करवाने की धमकियां दे रहे है ,,मेस के रूपये देकर खाने की स्थिति नहीं है ,जबकि दीगर ,फुटकर ज़रूरतों के लिए भी दिक़्क़ते आ रही है ,,यही हालात कश्मीर में देश से सम्पर्क कटने के बाद कोटा के कोचिंग छात्र छात्राओं के है , ,,खुदा का शुक्र है कोटा के कोचिंग गुरु ,कोटा के आम लोग इस दर्द को समझ रहे है और वोह ऐसे बच्चों को दिलासा दे रहे है ,हिम्मत दिला रहे है ,उनके आंसू पोंछ रहे है ,उन्हें पढ़ने ,सिर्फ पढ़ने और पढ़कर उनका लक्ष्य हांसिल करने के लिए मोटिवेट कर रहे है ,इसी मामले में कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद के नेतृत्व वाली टीम ने आज कोटा जंगलीशाह बाबा परिसर महफ़िल खाना वल्लभबाड़ी में कोचिंग गुरुओं से समन्वय स्थापित कर एक मोटिवेशन शिविर रखा ,,इस शिविर में क़रीब पांच सो से भी अधिक कश्मीरी छात्र छात्राये मौजूद थी ,जिन्हे दावत ऐ तुवाम के साथ हिलमिल कर पारिवारिक वातावरण देंने का प्रयास करते हुए उन्हें ढांढस बंधाया ,उनके दुखदर्द जाने और उनके निराकरण की पहल की ,,उक्त कार्यक्रम में कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ,,पुलिस अधीक्षक कोटा नगर दीपक भार्गव ,,रेसोनेंस के आर के वर्मा ,, एलेन के प्रतिनिधि परवेज़ ,मोटिवेशन कोचिंग के डॉक्टर सलीम ,सर्वोदय के गफ्फार मिर्ज़ा ,,रफ़ीक बेलियम ,गुलशेर अहमद ,सिद्दीक़ हुसैन ,शिक्षाविद शफी मोहम्मद ,किफायत शेख ,मुज़फ्फर राहीन ,,ज़हूर अहमद ,खलील इंजीनियर , शोएब खान ,,मोहम्मद शफी ,गुलशेर अहमद ,अज़ीज़ अंसारी ,,अख्तर खान अकेला ,,वाहिद कुरैशी , ज़हूर अहमद ,, आदिल मिर्ज़ा ,अज़हर मिर्ज़ा ,मज़हर मिर्ज़ा , साबिर भाटी ,, नायब क़ाज़ी जुबेर अहमद ,, इमरान कुरैशी , रज़ाक अंसारी ,, इस्लाम खान सी ऐ , सहित सैकड़ों कश्मीरी छात्र छात्राये थी ,, मोटिवेशन कार्यक्रम में कोटा शहर क़ाज़ी ने कश्मीर के छात्र छात्राओं को हिम्मत बंधाते हुए पढ़ाई में दिल लगाने के लिए मोटिवेट करते हुए आश्वस्त किया ,,के आप यहाँ पढ़ने आये हो ,,पढ़ाई में दिल लगाओ ,निराश मत होइए आपकी हर ज़रूरत पूरी होंगी ,, आपको घबराने की ज़रूरत नहीं ,,कोचिंग की फीस भी जमा होगी ,,हॉस्टल का किराया भी जमा ,होगा की दीगर खर्च होगा तो वोह भी पूरा किया जाएगा ,, अल्लाह और कोटा वासियों पर आपको भरोसा रखना होगा ,,कोटा वासी इन हालातों में आपके संरक्षक है ,,कोटा पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने मोटिवेशनल स्पीच में सभी बच्चों को दिल लगाकर पढ़ने का आह्वान करते हुए कहा ,क़ानून व्यवस्था को लेकर कोई भी शिकायत हो तो वोह उसका समाधान करेंगे , जबकि रेज़ोनेंस के आर के वर्मा ने माइनस प्लस की फिजिक्स से ही बच्चों को बहुत कुछ मोटिवेट करते हुए पढ़ाई के लिए समझाइश की ,,एलेन के प्रतिनिधि परवेज़ ने बच्चों को टारगेट एचीव करने का आह्वान किया जबकि ज़हूर अहमद ने सभी छात्र छात्राओं को बेफिक्री से पढ़ने की सलाह दी ,, मोटिवेशन कार्यक्रम के पूर्व सभी जम्मू व् कश्मीरी छात्र छात्राओं जिनमें सभी जाति समाज के छात्र छात्राये शामिल रही ,उनकी समस्याओं को लेकर एक प्रफोर्मा दिया गया ,जिसमे हेल्पलाइन नंबर और छात्र या छात्रा को जो भी परेशानी है ,किसी भी तरह की परेशानी हो ,दूर करने के आश्वासन के साथ दिया गया ,,सभी छात्र छात्राये ,अपने माता पिता से सम्पर्क कट जाने के कारण घबराये हुए लगे ,उन्हें आश्वस्त किया गया के जल्द ही हालात ठीक होंगे ,दुआ कीजिये ,बुरा वक़्त हमेशा नहीं रहता है ,आप लोग सिर्फ पढ़ाई में दिल लगाइये ,,आपको पढ़ाई के खर्च ,ट्यूशन खर्च ,खाने , हॉस्टल सहित किसी भी मामले में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी ,आकस्मिक ज़रूरत के लिए हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया जा सकता है , कुछ कश्मीरी छात्राओं ने जाति समाज के बंधनों से ऊपर उठकर अपनी परेशानियां बनाई ,,उनका दर्द सुनकर कुछ की आँखों में आंसू थे ,तो कुछ स्तब्ध थे ,कुछ लोगों के दिलों से उनकी समस्याओं के समाधान की दुआए थी ,,यह मंज़र कोटा के जम्मू ,कश्मीरी छात्र छात्राओं के साथ है ,लेकिन देश भर के हर कोने में इस प्रांत के भारत के अभिन्न अंग के रहवासियों के साथ अगर कोई दिक़्क़ते है तो ऐसे ही कोटा में जो मोटिवेशन हुआ ऐसा ही मोटिवेशन , दलगत राजनीति ,जातिगत सियासत ,से ऊपर उठकर हर ज़िले में जहाँ जम्मू ,, कश्मीरवासियों के साथ समस्या है ,मोटिवेशनल मदद कार्य करना चाहिए , क्योंकि बुरा वक़्त हमेशा नहीं रहता ,कश्मीर में आज परेशानी है कल से फिर खुशहाली लौटेगी ,, जिनका अपने परिजनों से सम्पर्क टुटा है ,जो ,निराश हताश है वोह फिर अच्छे हालात होने पर अपने परिजनों के साथ हँसेंगे ,,खिलखिलायेंगे ,कामयाबी के साथ ,,टारगेट एचीवर के साथ ,भारत का नाम रोशन करने में कामयाब हालातों के साथ ,हम होंगे कामयाब के नारे को बुलंद करते हुए ,फिर से यह लोग कामयाब होंगे ,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...