हमें चाहने वाले मित्र

04 अगस्त 2019

एक जोमेटो के नाम पर एक नफरत की खबर

एक जोमेटो के नाम पर एक नफरत की खबर ,और पूरे देश के सोशल मीडिया पर उथल पुथल ,तानेबाजी ,नफरतबाज़ी के जुमलों की शुरआत इस देश की संस्कृति ,इस देश में चल रहे ,हिन्दू ,मुस्लिम ,सिक्ख ,ईसाई ,बौद्ध ,जैन धर्म जैसे लोगों की मोहब्बत की विरासत के लिए अच्छी बात नहीं है ,,आज दोस्तों की दोस्ती का दिन है ,इसलिए नफरत के खिलाफ दोस्ती का माहौल बनाने की कोशिशों की आप सभी भाइयों से भी मेरी इल्तिजा है ,क्या रखा है नफरत में ,ज़िल्ल्त ,गुस्सा ,तबाही ,अकेलापन ,,बर्बादी ,,बताओ इसके सिवा है किया ,,चंद लोग बुरे होते है ,,चंद लोग नफरतबाज़ी के सौदेबाज़ बन कर ,नफरत को योजनाबद्ध तरीके से फैलाते है ,,इन मुट्ठीभर देशद्रोहियों ,मज़हब के खिलाफ मज़हब का नाम लेकर काम कर रहे मज़हब विरोधियों के जुमलों इनकी बातों में आप और हम क्यों आते है ,क्या फ़र्क़ पढ़ता है अगर जोमेटो में किसी सिर फिरे ने डिलीवरी लेने से इंकार कर दिया तो ,क्या फ़र्क़ पढ़ता है अगर जोमेटो ने बिजनेज स्टेंडर्ड एथिक्स को ज़िंदा रखते हुए ऐसे सिरफिरे को जवाब दे दिया तो ,मेने ऐसी घटना को तस्दीक़ करने की कोशिश की ,लेकिन घटना सच है या गलत ,कालपनिक है ,या जोमेटो प्रचार के लिए बनाई गयी है ,इस मामले में मेरी तहक़ीक़ कन्फर्म नहीं हो सकी है ,लेकिन एक घटना और उस पर सभी लोग सोशल मिडिया पर आरोप ,प्रत्यारोप ,कहानी क़िस्से ,वोह भी भड़काऊ ,अरे खून एक है ,एक दूसरे को एक दूसरे की मदद की ज़रूरत है ,,लेकिन बुरे लोगों के धोखे ,फरेब ,,मोहब्बत में धोखे ,आपराधिक साज़िशों की वजह से एक दूसरे के लिए एक दूसरे के समाज बुरे होते जा रहे है ,सभी जानते है ,पड़ोसी बीमार हो जाए ,सोशल मीडिया और राजनीतिक मौलवी ,मुल्ला ,पंडित ,साधु ,संत ,योगी महाराज नफरतबाज़ों की भड़काऊ बातें नज़र अंदाज़ कर हिन्दू मुस्लिम एक होकर एक दूसरे के काम आते है ,एक दूसरे के साथ मददगार बनते है ,एक दूसरे के साथ मिलकर पिकनिक पार्टियां बनांते है व्यसाय करते है ,धार्मिक आयोजनों , त्योहारों में एक दूसरे को बधाइयाँ मुबारकबाद देते है ,,, शमशान , क़ब्रिस्तान तक आख़िरत की यात्रा में जाते है ,फिर यह नफरत ,यह बेवकूफियां कहाँ से आयीं ,सोचना दोस्तों ,एक व्यक्ति के आपराधिक कृत्य के लिए समाज को दोष नहीं दिया जा सकता गिनती के भड़काऊ ,उकसाऊ हिन्दू भाइयों के आपराधिकरण को लेकर सभी हिन्दू भाइयों को बुरा नहीं कहा जा सकता ,,कुछ मुस्लिम अपराधियों ,उनकी हरकतों से पुरे मुस्लिम समाज को बुरा नहीं कहा जा सकता ,लेकिन जिन लोगों को पूजा पाठ ,,जंगल में साधु बनकर इबादत करना चाहिए ,मदरसों में पढ़ाना चाहिए ,फतवे देना चाहिए ,नमाज़े पढ़ाकर इबादत की जानकारी देना चाहिए यह सभी लोग अपना मूल काम छोड़कर राजनीति में आ गए है ,किसी को विधायक बनना है ,कोई मुख्यमंत्री ,तो कोई मंत्री बन गए ,तो कोई किसी कॉर्पोरेशन ,बोर्ड के चेरयमैन बन गए ,,कोई बनने की कोशिशों में हुकूमत का गुलाम बना है ,तो सियासत और धर्म के इस आपसी लालच में यक़ीनन नफरत का जन्म हुआ है ,भड़काने की पहल हुई है ,सभी के अपने ,मठ ग्रुप ,मदरसे इदारे है ,,इन्हे चलाने के लिए चंदेबाज़ी ,आर्थिक मदद चाहिए ,,जो लोग धर्म छोड़कर सियासत में आये है ,उनका लक्ष्य अर्जुन की आँख की तरह कुर्सी है ,,ओहदा है ,ऐसे लोग अपने लक्ष्य को हांसिल करने के लिए नफरत का शॉर्टकट अपनाकर ,वाहवाही लूटना चाहते है ,ऐसे लोग अपने सारे मज़हबी अख़लाक़ ,,शिक्षाये ,धार्मिक पुस्तकों के ज्ञान को भुलाकर ऍन केने प्रकारेण ओहदा चाहते है ,वोह तुम में भी है हम में भी है ,और ऐसे ही लोग धर्म के नाम पर अधर्म फैला रहे है ,,देश को बाँट रहे है ,शरारती सियासी लोगों के इशारे पर नफरत का पाठ पढ़ा रहे है ,ऐसे लोगों से बचो ,ऐसे लोगों को बेनक़ाब करो ,,हुकूमत में भी ऐसे लोग है तो उनकी बुराई का मिलकर मुक़ाबला करो ,,,एक भारत जो शक्तिशाली था ,एक इण्डिया जो आई लव इण्डिया था ,एक हिंदुस्तान जो सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा था ,,एक भारत जो ,मेरा भारत महान था ,शाइनिंग इण्डिया था ,,,एक दूसरे की हिफाज़त के लिए मर मिटने वाला देश था ,आज इस देश को तुम्हारी मोहब्बत ,तुम्हारी दोस्ती ,तुम्हारी नफरत के खिलाफ जंग की ज़रूरत है ,उठो तुम आज दोस्ती दिवस है ,,नफरत को भगाओ ,दोस्ती को गले लगाओ ,दिलों से एक दूसरे के लिए ,नफरत ,एक दूसरे के लिए खौफ निकालो ,सिर्फ दो लोगों का हिन्दुस्तान रखो ,एक बुरे लोगों का एक अच्छे लोगों का ,,बुरे लोग किसी भी मज़हब ,जाति के हों उन्हें बुरा कहकर ,उनकी बुराई के खिलाफ समझाइश करो ,नहीं माने तो अच्छे लोग एक जुट होकर ऐसे लोगों का विरोध करे ,ऐसे लोगों के खिलाफ गवाही दे ,ऐसे लोगों को निष्क्षता बताकर जेल पहुंचाए ,,आओ फिर से हम दोस्ती निभाए फिर से हम एक नया हिन्दुस्तान बनाये ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...