हमें चाहने वाले मित्र

25 जुलाई 2019

देश में मज़हबी आपराधिक मनोविज्ञान

आदरणीय नरेंद्र मोदी साहिब
प्रधानमंत्री महोदय
भारत सरकार ,,नई दिल्ली
विषय ,,देश में नियमित हो रही हिंसक घटनाओं को रोकने ,भविष्य में ऐसी घटनाओ पर मनोवैज्ञानिक ,विधिक ,तरीके से स्थाई रोक लगाने ,सुझाव के आधार पर कार्य करने के लिए ,,राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार की तर्ज़ पर ,शांती अहिंसा ,प्रकोष्ठ का गठन कर उसे मोबलीचिंग ,नफरत जैसे आपराधिक मामलों में निष्पक्ष कार्यवाही की छूट देने के क्रम में
आदरणीय नरेंद्र मोदी साहिब ,,
जैसा की आपको पूर्व विदित है ,,देश में मज़हबी आपराधिक मनोविज्ञान के तहत ,शॉर्टकट ,सियासी ऊंचाई हांसिल करने ,समाज में कोई भी संगठन बनाकर अपनी पहुँच बढ़ाने ,चंदाखोरी करने की गरज़ से ,,सभी धर्म के लोग एक दूसरे से एक दूसरे धर्म को खतरा बता कर ,देश का माहौल खराब कर रहे है ,ज़ाहिर है ,बहुसंख्यक ,अल्पसंख्यकों पर हावी रहेंगे और ऐसी निर्मम हत्याओं की घटनाये रोज़मर्रा की बात हो गयी है ,,गांय के नाम पर ,मज़हब के नाम पर मोबलीचिंग से आप खुद भी आहत है ,कई बार आपने उपवास रखे ,,कई बार आपने सार्वजनिक मंच से ऐसी घटनाओं की कठोर आलोचना की ,आपका यह सराहनीय क़दम रहा ,लेकिन आपकी आलोचना टी वी पर दिखाई ,अखबारों में छपी ,,इन मोब्लिचिंग जानवर अपराधियों पर कोई भी इसका असर नहीं हुआ ,,घटनाये कम नहीं हुई ,अब रोज़ होने लगी है , सोशल मीडिया पर हिंसक घटनाओं को गलत तरीके से पेश कर हीरो बनने की कोशिशे है ,,खुद कटटरपंथी लोग अपने विडिओ बनाकर उन्माद भड़का रहे है ,,,पुरे देश में मज़हबी मनोविज्ञान में विरोधाभास है ,असुरक्षा भाई ,भरड़काउपन है ,एक दूसरे के प्रति अविश्वास का भाव दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है ,इन सका कारण आपकी चुप्पी ,हमारी चुप्पी ,क़ानून की कमज़ोरी ,,मीडिया की लम्पटगिरी ,,रोज़ मर्रा की मीडिया की बकवास लाइव बहसें ,,नफरत के मुद्दों को भड़काऊ तरीके से पेश करना ,,नफरत बाज़ों ,हिंसा करने वालों को अलग अलग समाज में हीरोगिरी की तरह से सम्मानित करना ,,यह देश के लिए खतरनाक बात है ,,आदरणीय आप देश को शांतिपूर्ण तरीके से विकसित करना चाहते है ,सुरक्षित करना चाहते है ,इस पुनीत कार्य में अगर आप ईमानदारी से पहल करते ,है तो देश का हर मुसलमान आपके साथ है ,देश की कांग्रेस आपके साथ है ,देश के गांधीवादी ,राजस्थान के गांधी आदरणीय अशोक गहलोत साहब आपके साथ है ,,उनके सुझाव ,,उनकी पूर्व जानकारियां ,,उनकी जादूगरी आपके साथ है ,राहुल गांधी ,प्रियंका गांधी ,,सोनिया गांधी ,,मनमोहन सिंह सहित देश का बच्चा बच्चा अगर आपकी ईमानदाराना पहल हुई तो आपके साथ है ,,आदरणीय देश में मोब्लिचिंग ,,नफरत ,हिंसा के कारण क्या है ,इनका निवारण कैसे हो ,,,देश की शिक्षा में नफरत की भाषा क्यों ,,देश में सामूहिक हिंसक घटनाओं का जंगलराज का तांडव क्यों ,नफरत का आपराधिक हिंसक मज़हबी उन्माद मनोविज्ञान क्यों फेल रहा है ,क्यों एक दूसरे के मज़हब को नीचा दिखाने की कवायदे है ,ऐसी घटनाओ पर समाज के लोगों की प्रतिक्रिया , हिंसक घटना के मुखालिफ होने के स्थान पर घटना में शामिल लोगों को हीरो बनाने की प्रवृत्ति उन्हें भाईसाहब बनाकर उनके नाम संगठन ,चन्दाखोरी की ,प्रवृत्ति ऐसे लोगों का राजनीतिकरण ,राजनितिक लोगो द्वारा उनसे चुनावी मदद ,,मीडिया में उनकी ,उनके विचारों की गुणगान वाली प्रवृत्ति सहित कई ऐसे कारण है जिनकी वजह से देश की स्थिति वर्तमान हालातो में ऐसी हो गयी है के खुद प्रधानमंत्री महोदय को भी लगातार खुले मंचो ,,और वैधानिक मंचो से ऐसी घटनाओं की आलोचना कर इन पर रोक लगाने की अपील करना पढ़ रही है ,
आदरणीय अपराधी किसी भी मज़हब के हो ,वोह किसी की नहीं सुनते ,आपकी अपील आज तक बे असर है ,देश में बुद्धिजीवी वर्ग ,,देश के वर्तमान हालातों से आहत है ,देश के भविष्य को लेकर वर्तमान घटनाओं से आशंकित है ,अभी ऐसे अपराधों का शैशव काल है ,आदरणीय ऐसी घटनाये अभी नहीं रोकी तो देश किसी भी व्यवस्थापक को कभी माफ़ नहीं करेगा ,,
आदरणीय राजस्थान के गाँधी ,आपके पुराने मित्र आदरणीय अशोक गहलोत साहब ने इस मामले में पहल की है ,राजस्थान में शान्ति अहिंसा ,प्रकोष्ठ का गठन किया है ,उनसे मशवरा करे ,,देश में अमन सुकून बिगाड़ने वालों को सज़ा देने भयभीत आहत लोगों को बिना किसी पक्षपात के कठोर सजा दिलवाने और वर्तमान हालात के नफरत ,हिंसा के मनोविज्ञान को बदलने के लिए किस तरह से शान्ति ,अहिंसा का पाठ आम जनता तक पहुंचाया जाए ,, क़ानून बनाया जाए ,मीडिया को नफरत बाज़ी से रोका जाए ,ऐसे लोग जो ऐसी घटनाओं में शामिल है उन्हें कठोर क़ानून बनाकर कठोर सजा दिलवाई ,जाए लोकप्रतिनिधीत्व क़ानून के तहत ऐसे नफरत के मनोवैज्ञानिक अपराधियों को जो शॉर्टकट नफरत की सियासत से क्षेत्र के हीरो बनना चाहते है ,उनके चुनाव पर हमेशा रोक लगाई जाए ,,गोष्ठियों के ज़रिये ,,साहित्य के ज़रिये ,देश भर में मोहब्बत और ऐसी घटनाओं के खिलाफ नफरत के खिलाफ एक माहौल बनाया ,जाए ऐसी नफरतबाज़ी घटनाओं में शामिल लोगों को समाज से अलग थलग किया जाए ,क्योंकि सभ्य समाज में ऐसे नफरत बाज़ जगंल का क़ानून चलाने वालों के लिए कोई जगह हो ही नहीं सकती इसलिए ऐसे लोगों को पुलिस के ज़रिये चिन्हित कर उन्हें डिटेन किया जाए ,,
आदरणीय काम कठोर ज़रूर है ,दुश्वारियां आएँगी ,आपके आपने लोग आपसे नाराज़ होंगे ,आपसे समर्थन वापस ले लेंगे ,लेकिन अगर आप सच में सही मायनों में मोब्लिचिंग के समर्थक नहीं है ,ऐसी घटनाओं के खिलाफ है ,तो बोल तो आप बहुत चुके ,अब आप विश्व के सबसे पावरफुल देश के पावरफुल प्रधानमंत्री है ,ऐसी घटनाओं को रोकने ,भविष्य में ऐसी घटनाये न हो ,ऐसी घटनाओ में प्रताड़ित लोगों को सुरक्षा उनके कल्याण की व्यवस्था के लिए एक मार्गदर्शक क़ानून बनवाये ,उसका क्रियान्यवन शीघ्र एक अधिसूचना के माध्यम से करवाए ,लोकसभा में आपका आंकड़ा मज़बूत है ,लोकसभा में इसे पारित करवाए ,राज्य सभा में पारित करवाए ,,मज़बूत क़ानून ,निष्पक्ष कार्यवाही ही इस देश को सुरक्षित रख सकती है ऐसे नफरत बाज़ों से ,,तो आदरणीय आपसे उम्मीद है ,नफरत के इस उन्माद ,नफरत की इस सियासत ,नफरत की इस मोब्लिचिंग हिंसा ,,को रोकने के लिए इस देश को इस ज़हर से बचाने के लिए आप राजस्थान के गांधीवादी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत साहिब से ,शान्ति ,अहिंसा प्रकोष्ठ का कंसेप्ट लेकर ,,इसे और मज़बूती से विशिष्ठ क़ानून बनाकर इसमें कल्याणकारी ,सुरक्षात्मक ,पूर्व सूचनाओं के आधार पर कार्यवाही ,संगठनों को आतंकवादी संगठन घोषित करने की कार्यवाही ,,नफरत बाज़ों की तुरंत गिरफ्तारी ,,उनकी ज़मानत न हो ऐसी कार्यवाही ,ऐसी व्यस्थाएं ,,ऐसे लोगों को उकसाने ,महिमामंडन करवाने ,करने वालों के ख़िलाफ ,चंदा देने वालों के खिलाफ कार्यवाही का क़ानून बना दे साहिब ,क्योंकि जो विधि विरुद्ध क्रिया कलाप अधिनियम बना है उस क़ानून में तो अभी तक विधि विरुद्ध क्रिया कलाप अधिनियम में एक भी अपराधी को गिरफ्तार नहीं किया गया ,,इसलिए साहिब प्लीज़ देश को बचाने के लिए ,आपकी भावना के अनुरूप मोब्लिचिंग ,नफरत फैलाने वाले ,गांय के नाम पर संगठन बनाकर हमले कर अराजकता फैलाने वालों सहित सभी प्रकार के सभी मज़हब के ऐसे लोग जो मज़हब के नाम पर नफरत फैलाते है ,हमले करते है एक क़ानून जल्दी बना ,दीजिए ,उसको लोकसभा ,राज्यसभा में पारित हो तब तक अध्यादेश के माध्यम से पुरे देश में लागू करवा दीजिए ,जो पुलिस कर्मी ऐसे क़ानून की निष्पक्ष क्रियान्विति में कोताही बरते उन्हें घर बिठा दीजिये ,,क्या ऐसा आप करेंगे ,प्लीज़ज़ ,,
भवदीय
एडवोकेट अख्तर खान अकेला
महासचिव ह्यूमन रिलीफ सोसायटी
2 थ 15 विज्ञाननगर कोटा 324005 राजस्थान
मोबाइल 9829086339

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...