हमें चाहने वाले मित्र

23 जुलाई 2018

बार कौंसिल सदस्य सय्यद शाहिद हसन ने राजस्थान में एडवोकेट एक्ट शीघ्र लागू करने की वकालत की

राजस्थान बार कौंसिल के नवनिर्वाचित बार कौंसिल सदस्य सय्यद शाहिद हसन ने राजस्थान में एडवोकेट एक्ट शीघ्र लागू करने की वकालत की है ,उनका कहना है ,,राजस्थान में वकीलों पर वकालत व्यवसाय को लेकर हो रहे लगातार हमलों को रोकने के लिए इस क़ानून की सख्त ज़रूरत हो गयी है ,,सय्यद शाहिद हसन वकीलों की समस्याओं उनके समाधान को लेकर संवेधनशील है ,हाल ही में रावतभाटा के एक वकील साथी के साथ पुलिस अधिकारी की अभद्रता पर वोह सख्त हुए तो ,छबड़ा में एक वकील साथी पर हुए हमले के बाद उन्होंने तुरंत हम से उनका कॉन्टेक्ट नंबर हांसिल कर उनका दुखदर्द जाना ,उनके साथ हर संकट की घडी रहकर इंसाफ की लड़ाई के लिए संघर्ष का आश्वासन दिया ,,शाहिद हसन का प्रयास है के वकीलों की सनद रिविनल की बेवजह परेशानी बंदिशों से वकीलों को मुक्ति मिले ,,वकीलों के कल्याणकारी कोष का इस्तेमाल वकीलों के कल्याण ,उनकी विधिक शिक्षा के लिए हो ,वकीलों को बीमारी पर पांच लाख ,मृत्यु पर दस लाख क्षतिपूर्ति राशि प्राप्त हो ,सेमिनार ,,प्रशिक्षण शिविर से वकीलों का विधिक ज्ञान बढ़ाया जाए ,नए वकीलों को न्यायिक सेवा में प्रशिक्षण के लिए विशेष सुविधाएं ,उपलब्ध कराई जाए,,सीधी भर्ती मामले में पारदर्शिता रखी जाए ,,सय्यद शाहिद हसन के वालिद सय्यद फ़ारुक़ हासन ,,राजस्थान सरकार में मंत्री , राजस्व बोर्ड के सदस्य ,राजस्थान हाईकोर्ट के न्यायधीश रहे है ,खुद शाहिद हसन ने विरासत में क़ानून सीखा है ,लेकिन वर्ष 1985 में शाहिद हसन ने वरिष्ठ वकील ऍन एल टिबरीवाल ,जो बाद में राजस्थान हाईकोर्ट के नामचीन जज बने उन्हें अपना गुरु बनाया ,,शाहिद हसन राजस्थान न्यायिक सेवा परीक्षा में उत्तीर्ण हुए लेकिन उसमे नहीं गए ,उन्होंने वकालत व्यवसाय ही अपने भविष्य के लिए आदर्श मानकर चुना ,सय्यद शाहिद हसन ,क्रिमनल ,सिविल ,लेबर ,सर्विस मामलात सहित संवैधानिक मुद्दों पर विशेष पकड़ रखते है ,वोह फेमिली प्लानिंग एसोसिएशन में रहकर जनसंख्या नियंत्रण पर विशेष कार्य करते रहे है जबकि सआदत वेलफेयर सोसायटी के तहत सेवा कार्यों से जुड़े है ,,उमंग स्कूल के माध्यम से बच्चो के कल्याण कार्य से जुड़े है जबकि वकीलों की खेल प्रतिभाओ के साथ जुड़कर वकीलों की खेलकूद प्रतियोगिता में लगातर हिस्सेदार रहते है ,,शाहिद हसन अपने निर्वाचन से खुश है ,उनका कहना है ,चुनाव एक संग्राम था ,सब अपने अपने तरीके से चुनाव लड़े है ,लेकिन अब चुनाव खत्म उन सहित पच्चीस सदस्यों का जो निर्वाचन हुआ है ,सब मिलकर बिना किसी भेदभाव के ,,वकीलों के हित में लगातार कल्याणकारी कार्य करेंगे ,आवश्यकता पढ़ी तो सरकार ,न्यायिक व्यवस्था के खिलाफ शालीन संघर्ष भी करेंगे ,लेकिन वकीलों के हितों को प्रभावित नहीं होने देंगे ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...