हमें चाहने वाले मित्र

23 जून 2018

कोटा के पत्रकार सुबोध जैन जिन्हे ब्लड मेन भी कहा जाकर रक्तदान के जागरूकता कार्यकाल के प्रारम्भिक काल का प्रणेता भी कहा जाता है

दोस्तों किसी के पास कितना धन है ,इसकी अहमियत नहीं बस उसके दिल में दूसरों की मदद के लिए क्या जज़्बा है इसी की अहमियत है ,और कोटा के पत्रकार सुबोध जैन जिन्हे ब्लड मेन भी कहा जाकर रक्तदान के जागरूकता कार्यकाल के प्रारम्भिक काल का प्रणेता भी कहा जाता है ,,वोह अपनी हैसियत के हिसाब से ज़रूरत मंदों की इलाज के लिए आर्थिक मदद भी करते रहे है ,हाल ही में मांगरोल बारां में एक बेटी इलाज के लिए आर्थिक तंगी के दौर में थी ,अख़बारों में खबर छपी ,मदद की गुहार हुई ,खुद संबंधित थानाधिकारी ने भी आर्थिक मदद दी ,इलाज अहमदाबाद होना था ,सुबोध जैन को जैसे ही पता चला उन्होंने पहली फुरसत में संबंधित थानाधिकारी क्षेत्रीय पत्रकार साथियों से तस्दीक़ कर तुरंत अख़बार में दिए गए बैंक एकाउंट में अपनी हैसियत के हिसाब से इतनी रक़म तो जमा करा दी के उस बीमार बेटी के इलाज की कुछ ज़रूरते पूरी हूँ ,उनकी प्रेरणा से कई दूसरे लोगो ने भी मदद की और इलाज हो ,गया ,,पत्रकार सुबोध जैन मरीज़ के इलाज मामले में गंभीर है वोह खुद अपना खून देकर तो मरीज़ों की जान बचाने का एक अनूठा रिकॉर्ड बना चुके है ,लेकिन जज़्बा ऐसा संवेदनशील है के एक क़लमकार से किसी मरीज़ की आर्थिक तंगी देखी नहीं जाती और वोह भामा शाह नहीं होने पर भी अपनी हैसियत के मुताबिक़ भामा शाह बन जाते है ,सुबोध जैन पिछले तीस सालों से पत्रिका ,भास्कर ,या किसी भी माध्यम से किसी मरीज़ को इलाज के लिए आर्थिक मदद की अपील देखते है तो वोह तुरंत अपनी ज़रूरतें कम करके एक हैसियत के हिसाब से इस इलाज फंड में मददगार ज़रूर होते है ,एक जानकारी के मुताबिक अब तक वोह सवा सो बार रक्तदान कर चुके है तो सो से भी ज़्यादा ज़रूरत मन्द मरीज़ों के आर्थिक मददगारों में भी शामिल हुए है ,,सुबोध जैन स्थानीय मरीज़ों को तो खुद देखकर उनकी तीमारदारी भी करके आते है ,,ऐसे क़लमकार जिसके सीने में एक रक्तदाता ,रक्तदान महादान के नारे को बुलंद कर मरीज़ों की जान बचाने वाले का दिल हो ,ऐसी संवेदना जो एक क़लमकार एक पत्रकार में ज़रुरत मन्द मरीज़ों के इलाज में मददगार का जज़्बा रखता हो ,ऐसे जज़्बे को सलाम ,सेल्यूट ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...