हमें चाहने वाले मित्र

30 दिसंबर 2017

*अत्यंत सुकून सा मिलता है*

*अत्यंत सुकून सा मिलता है*
*पेट्रोल* भरवाकर...
*गुप्त दान* दिए जाने का
*सुखद अहसास* मिलता..
आख़िर *31 रुपये* का
*पेट्रोल* 73 मे इसलिए
*खरीदता* हूँ क्योंकि
*कुछ लोगों* को *29 रुपये* का *गेहूँ 2 रुपये* में
*40 रुपये* का
*चावल 1 रुपये* में मिल सके।
*आओ देश के लिए कमाएं* और दें
*30% आयकर*
*28% जीएसटी,*
*पेट्रोल में 10 %,*
*लोकल टैक्स 10%,*
*ताकि देश के गरीब सांसदों, विधायकों के घर रोटी बन सके। उनके बच्चे विदेश में पढ़ सके, उनकी संपत्ति 1 साल में दोगुनी- 4 गुनी हो सके।*
*लोकसभा राज्यसभा के सांसदों को जीवन भर पेंशन मिले सके*!!
*आप आम इंसान हैं आपका घर चले न चले आपका व्यापार चले न चले लेकिन देश के सभी नेताओं के ऐशो आराम में कमी नहीं होना चाहिए।*
*आओ देश के इन महानुभाओं के लिए कमाएं।*

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...