हमें चाहने वाले मित्र

02 अगस्त 2017

यही व्यवहार ,विजय शर्मा को अपने दूसरे समकक्ष पुलिस अधिकारियो से बेहतर ,,खुशमिजाज़ ,,कामयाब पुलिस अधिकारी बनाता है

कहावत है ,,एक और एक ,,ग्यारह होते है ,,और जब यह ग्यारह नंबर ,,दिसम्बर में जन्म लेने वाले,, पुलिस इंस्पेक्टर विजयः शर्मा के हो ,,तो मिजाज़ में ,,दिसम्बर की ठंडक ,,लेकिन अपराधियों के खिलाफ जरूरत पढ़ने पर ,,कड़ाके की दिसम्बर की कड़क सर्दी से भी कड़क मिजाज़ ,,बस विजय शर्मा पुलिस निरीक्षक हाल तैनात थानाधिकारी गुमानपुरा कोटा का कुछ ऐसा ही मिजाज़ ,,है ,,,पुलिस का हाथ ,,आम जन के साथ ,,दिसम्बर की सर्दी के ठंडे मिजाज़ की तरह ,,लेकिन अपराधियों में डर के लिए ,,दिसम्बर के कड़ाके की सर्दी से भी ज़्यादा कड़क मिजाज़ , यही आंकड़ा ,,यही व्यवहार ,विजय शर्मा को अपने दूसरे समकक्ष पुलिस अधिकारियो से बेहतर ,,खुशमिजाज़ ,,कामयाब पुलिस अधिकारी बनाता है ,,जहाँ जाइये ,,,हमेशा याद ,,हमेशा उदाहरण बनकर रहे ,,,कुछ काम ऐसा करके आइये ,जो यादगार बन जाए ,,,वाली आदत ,,विजय शर्मा को इनके ट्रांसफर क्षेत्र के लोगो के लिए इन्हे यादगार बनाता है ,,जी हाँ दोस्तों जो इनसे मिले है ,,और जो इनसे नहीं मिले है ,,इनकी कड़क ,,लेकिन आम जन के साथ दोस्ताना पुलिस का अनूठा उदाहरण है ,,,इनके क्षेत्र में हर बीट पर ,,हर कारगुज़ारी पर पेनी नज़र ,,आम जनता से अलग थलग नहीं ,,आम जनता के साथ उनकी आवाज़ बनकर रहना ,उनका रक्षक बनकर उन्हें ,अपराधियों से बचा कर रखना ,,,यह ज़िम्मेदारी निभाने की वजह से ही ,,विजय शर्मा ,,अपराधियों के होसलो ,,सियासी ,,सिफारिशी ,,अपराधियों के लिए विजेता बन जाते है ,,,एक पुलिस थानाधिकारी आम तोर पर उसके क्षेत्र के लोगो की आँख की किरकिरी बन जाता है ,,लेकिन अपने क्षेत्र में क़ानून व्यवस्था लागू करने को लेकर कितने ही सख्त फैसले लेने के बाद भी ,विजय शर्मा का वहां के लोग ज़बरदस्त विदाई समारोह करते है और विदाई देने वालो का बोझिल मन ,,नम आँखों में एक संदेश होता है जैसे उनका रक्षक उन्हें छोड़कर जा रहा ,हो ,विजय शर्मा की ,,उनकी वर्दी की ताक़त ,, उनकी वर्दी की सलाहियत ,,की विजय इसी में है के आम लोग उनसे प्यार करते है ,तो अपराधी लोग उनसे खौफ खाते है ,,अपने क्षेत्र में ज़ीरो वोइलेंस ,,अपराध नियंत्रण में अग्रिम बचाव कार्यवाही ,,,अपराध घटित होने पर त्वरित अनुसंधान ,,और अपराधी तक पहुंचने की कवायद तो इनकी विशेष पुलिसिंग पहचान है ,,लेकिन इनका सुचना तंत्र सभी पुलिस अधिकारियो से बेहतर और विश्वसनीय होने से ,,कई घटनाये घटित होने के पहले ही अपराधियों की धर पकड़ हो जाती है ,,विजय शर्मा ,,राजस्थान के एक मात्र ऐसे पुलिस अधिकारी है जो क़ानूनी संदेश देने ,,अपराधियों के खिलाफ खौफ का वातावरण बनाने ,,आम जनता से सूचनाएं लेकर जनता तक पहुंचने ,,अपनी पुलिसिंग को बेहतर बनाकर ,,आम जनता को सुरक्षित करने ,,पुलिस का इक़बाल बुलंद करने के लिए सोशल मीडिया का खिलकर इस्तेमाल करते है ,,कभी बोझिल वातावरण को सुखद बनाने के लिए हंसी मज़ाक़ भी करते है ,,ज्ञानवर्धक जानकारियां भी देते ,है तो रिश्तो में मिठास भी घोलते है ,,लेकिन पुलिस की हर सुरक्षात्मक कार्यवाही का संदेश ,,आमजनता से सहयोग को लेकर बनाई गई कार्ययोजना का प्रचार प्रसार खुद ही सोशल मीडिया पर कामयाबी के साथ करते है ,,विजय शर्मा एक और एक ग्यारह की तरह ताक़तवर ,, दिसम्बर की ठंडक की तरह आम जनता के लिए विनम्र ,,लेकिन अपराधियों के लिए कड़ाके की सर्दी से भी ज़्यादा कड़क ,,विजय भव के आशीर्वाद के साथ हमेशा कामयाबी से पुलिस का इक़बाल बुलंद करते रहे ,,और सोशल मीडिया का सदुपयोग कर बेहतर से बेहतर पुलिसिंग हो सकती है ,,इसके प्रशिक्षक भी बने ,,रहे ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...