हमें चाहने वाले मित्र

09 अगस्त 2017

आदरणीय नरेंद्र भाई मोदी साहिब ,,आदरणीय अमित शाह साहिब ,,,इतराओ मत ,,जिस स्कूल के तुम छात्र हो ,,अहमद भाई पटेल ,, उनकी पार्र्टी उस स्कूल के प्रिंसिपल साबित हुए हैआदरणीय नरेंद्र भाई मोदी साहिब ,,आदरणीय अमित शाह साहिब ,,,इतराओ मत ,,जिस स्कूल के तुम छात्र हो ,,अहमद भाई पटेल ,, उनकी पार्र्टी उस स्कूल के प्रिंसिपल साबित हुए है

आदरणीय नरेंद्र भाई मोदी साहिब ,,आदरणीय अमित शाह साहिब ,,,इतराओ मत ,,जिस स्कूल के तुम छात्र हो ,,अहमद भाई पटेल ,, उनकी पार्र्टी उस स्कूल के प्रिंसिपल साबित हुए है ,,आधा वोट ही सही ,लेकिन तुम्हारी पूरी कोशिशों के ,बावजूद ,,तुम्हारी पूरी सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग के बावजूद ,,आखिर अहमद भाई पटेल ,,उनके समर्थको ,,कांग्रेस के नेतृत्त्व ने साबित कर ही दिखाया ,,के बच्चे कितनी ही उछल कूद कर ले ,,उस्ताद उस्ताद ही होते है ,और वक़्त आने पर वोह इस उस्तादी को साबित भी कर दिखाते है ,,तुम्हारा घर ,,तुम्हारी रणनीति ,,तुम्हारे करोडो ,,करोड़ अरबो रूपये की डीलिंग ,,तुम्हारे अपने लोग जिन्हे आस्तीन में पाला था ,,उनके पलटने के बाद भी ,,तुम्हारे अपने अपने घर में घुसकर ,सोनिया गांधी के राजनितिक सचिव अहमद भाई पटेल ने राज्यसभा चुनाव में जो पटखनी दी है ,वोह अब तुम्हारे अपने घर से ,,तुम्हारी हार और सोनिया गांधी के जय घोष की शुरुआत हो गयी है ,,तुम क्या समझते थे ,,बाघेला जैसे गद्दारो के बल पर ,,कुछ आस्तीन के सांपो के बल ,पर ,विश्व की सबसे बढ़ी राजनितिक पार्टी की सबसे ताक़त वर राष्ट्रिय अध्यक्ष सोनिया गांधी के ,सर्वाधिक क़ाबिल राजनितिक सचिव ,,बब्बर शेर को ,,तुम तुम्हारे कुत्तो के शिकार की प्रक्रिया से जीत लोगे ,,तुम गलत साबित हुए ,,तुम्हे तुम्हारे अपने घर में घुसकर ,,तुम्हारे अपने ही लोगो के ज़रिये ,,तुम्हारी अपनी चालो के चलते ,,,तुम्हारे धन बल ,,सरकारी मशीनरी दुरूपयोग के बल पर तुम्हे पटखनी देने वाले अहमद भाई ,,गुजरात ,,देश और देशवासियो की हक़ की लड़ाई में अव्वल साबित हुए ,है ,,अमित शाह साहब ,,परिवार वाद का झूंठा विरोध ,,अपने गिरेहबान में झांके बगैर ,,तुम पिता शंकर सिंह बाघेला से गद्दारी करवाकर ,,उन्हें गोद में बिठाते हो ,,फिर उनके विधायक पुत्र जो परिवारवाद का उदाहरण है उनसे चरण छुवा कर ,,चंद गद्दारो के बल पर ,यह चुनाव जीतना चाहते ,,हो ,,अरे कुछ गद्दार ,,कुछ जयचंद ,,थोड़े फायदे के लिए अपना ज़मीर ,,अपना देश अपनी सरकार ,अपने वोटर्स को बेचने वालो के बल पर तुम कब तक देश के लोकतंत्र की हत्या करोगे ,,आज खुद ,,तुम्हे ,,तुम्हारे ही घर में घुसकर ,,तुम्हारे अपने ही हथियारों से ,,एक गाँधीवादी ,,साबरमती के महात्मा ,,गुजरातियों के हीरो ,,देश के आधारभूत ढांचे के विकास के राजनितिक सलाहकार ,अहमद भाई पटेल ने ,,तुम्हे हराकर साबित कर दिखाया है ,,के हाथी के पीछे कुत्ते भोंकते रहते है ,,लेकिन हाथी निकल जाता है ,,,विनम्रता ,,ख़ामोशी ,,धैर्य और संयम को ,,राष्ट्रहित ,राष्ट्रवाद को ,,कायरता ,,समझने की भूल नहीं करना चाहिए अहमद भाई पटेल के चुनाव में तुम्हारी यह हार ,,गुजरात की जीत ,,लोकतंत्र की जीत ,,देश के एक सो सेंतीस करोड़ लोगो के ईमानदारी ,,लोकतंत्र पर विशवास की जीत है ,,फिर से देशवासियो की भ्रष्ट ,,झूंठ ,,फरेब ,,,जुमलों से मुक्ती की शुरुआत है ,शुरआत है ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...