हमें चाहने वाले मित्र

23 जुलाई 2017

मेरे झालावाड़ के अमनपसंद मुस्लिम भाइयों ,,एक इल्तिजा ,,यूँ ही आपस में न लड़ो

मेरे झालावाड़ के अमनपसंद मुस्लिम भाइयों ,,एक इल्तिजा ,,यूँ ही आपस में न लड़ो ,,गुटबाज़ी बनाकर ,,एकता को कमज़ोर मत करो ,,लकीर जो निकल गयी उसे पीट पीट कर अपनी लाठी ,अपना वक़्त बर्बाद न करो ,,,एक दूसरे को नीचा दिखाने ,,एक दूसरे के खिलाफ बैठके करने ,,क़ाज़ी ऐ शहर को षड्यंत्र पूर्वक हटाने और किसी दूसरे को क़ाज़ी के ग़ैरक़ानूनी ताजपोशी की कोशिशों में जितना वक़्त हम बर्बाद कर रहे है ,अगर उससे आधा वक़्त भी हम फ़िरक़ों से अलग हठ कर ,,सियासत से अलग हठ कर ,,चमचागिरी ,चापपलूसी से अलग हठ कर ,,यकजहती के साथ अल्लाह हो अकबर ,,अल्लाह ही सबसे बढ़ा है ,,के नारे के साथ ,,एकता का अमन सुकून का परचम बुलंद कर के ,,हमारी अपनी समस्या ,,मज़ारात के अस्तित्व को पुनर्स्थापित करवाने में लगा दे ,,,हमारे अपने प्रभारी मंत्री ,उनके साथ इस अज़ाब भरे काम में शामिल हुए हमारे अपने भाइयो को हम अपना दर्द समझा कर फिर से ,,फातिहा ख्वानी ,,मज़ारात ज़ियारत के हालात बनवाने की कोशिशे कर ले तो,इंशा अल्लल्ह ,, निश्चित तोर पर गुमराह हुए लोगो को अल्लाह राह ऐ रास्ते पर लाएगा और जो गलतियां हो गयी उनमे सुधार होकर आप अगर कोशिश करोगे तो आपकी यकजहती नेकनीयती की कोशिशों को अल्लाह कामयाब कर पहले जैसे हालत ,,पहले जैसे माहौल को अल्लाह पुनर्स्थापित करवाएगा ,लेकिन भड़कावे में न आएं , उकसावे में न आये ,,एक दूसरे को नीचा न दिखाए ,,गुनाहगार अगर माफ़ी मांगकर ,,तौबा कर फिर से आपके खेमे में आ जाए ,,आपके साथ आ जाये उसे माफ़ करके ,,एक जुट होकर अपने काम में अमन और सुकून की दुआओ के साथ लग जाएँ ,इंशा अल्लाह हम होंगे कामयाब ,,हम होंगे कामयाब ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...