हमें चाहने वाले मित्र

04 जुलाई 2017

राजस्थान में भाजपा का गढ़ ,,मुख्यमंत्री महारानी का गृहजिला और कोटा संभाग ,,यहां हारी हुई कांग्रेस को ,,फिर से रिचार्ज कर ,,सत्ता में लाने के लिए ,,,भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के सचिव ,,प्रदेश प्रभारी ,,,तरुण कुमार

राजस्थान में भाजपा का गढ़ ,,मुख्यमंत्री महारानी का गृहजिला और कोटा संभाग ,,यहां हारी हुई कांग्रेस को ,,फिर से रिचार्ज कर ,,सत्ता में लाने के लिए ,,,भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के सचिव ,,प्रदेश प्रभारी ,,,तरुण कुमार ने ,,कोटा संभाग के पांच कांग्रेस ज़िले ,, दो लोकसभा ,,सत्राह विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह पैदा कर,,,, यहां कांग्रेस की फिर से ,,,आगामी चुनाव में,,, बेहिसाब वोटो से जीत दर्ज कराने का ,,, कामयाब फार्मूला तय्यार कर लिया है ,,,युवा तुर्क ,,अनुभवी राष्ट्रिय सचिव तरुण कुमार,,, तीन दिन से कोटा संभाग के सियासी समन्वय सफर पर है ,,,तरुण कुमार ,,,,,राजस्थान में तीन दिन ,,,,प्रकोष्ठो की समन्वय ऊर्जासंचार बैठकों के बाद,,, रविवार दो जुळाई की रात्रि ,,,कोटा पहुंचे ,,कोटा रेलवे स्टेशन पर ,,उनका अभूतपूर्व स्वागत हुआ ,,उन्होंने सभी प्रकोष्ठो ,, पदाधिकारियों ,,कांग्रेस के पदाधिकारियों , वरिष्ठ नेताओ ,,ऊर्जावान कार्यकर्ताओं से देर रात्रि तक संभाग के हालात जाने ,,तरुण कुमार अपनी टीम के साथ अल्पसंख्यकों के मन की बात सुनने उनके हालात जानने ,सुबह सवेरे,,, ईद मिलन समारोह में पहुंचे ,,उन्हौने इस ईद मिलन समारोह में दिल से दिल की बात कहते हुए ,,अल्पसंख्यको को भरोसा दिया ,,के किसी भी स्तर पर,,, उनके साथ कोई भी ना इंसाफ़ी नहीं होगी ,,वोह ऊर्जावान कार्यकर्ताओं के ऐतिहासिक काफिले के साथ,,, बूंदी जिला कांग्रेस कार्यालय पहुंचे ,,उन्होंने बूंदी के सभी गुटों ,,सभी वर्ग ,,समुदाय कार्यकर्ताओ से ,,,,,उपेक्षित कहे जाने वाले कार्यकर्ताओं से ,,,उनके हाल जाने ,,उन्हें भरोसा दिया ,,पीठ थपथपाई और ,,उसी दिन भूख ,,प्यास ,,थकान की परवाह किये बगैर ,, कोटा शहर कांग्रेस कमेटी की ऐतिहासिक बैठक में,,,, सभी वर्ग ,,वरिष्ठ और कनिष्ठ कोंग्रेसियो के ,,,बढे धैर्य और संयम से,,, उनके उदगार जाने ,,,सुझाव लिए ,,उन्हें भरोसा दिया ,,,देर रात तक वोह कांग्रेस के हर कार्यकर्ता से मिले ,,तरुण कुमार ने चार जुलाई को सुबह ,,कांग्रेस के बकाया कार्यकर्ताओ से सम्पर्क किया ,,प्रेसकॉन्फ्रेंस में कांग्रेस का पक्ष रखा ,,और इसी दिन ,,दलित ,,एस सी एस टी कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में उनके दिल की बात समझने ,,,,दलितों अल्पसंख्यकों के बीच पहुंचे ,,तरुण कुमार ने वरिष्ठ लोगो का सम्मान ,,छोटे कार्यकर्ताओं को प्रणाम करते हुए उनकी दिल की आवाज़ सुनी ,,उन्हें अपने दिल की बात सुनाई , उनके साथ नाश्ता करके ,उन्हें दोस्ताना माहौल दिया ,,,तरुण कुमार अपनी टीम के साथ ,,देहात कोटा जिला कांग्रेस कमेटी की धुआंधार बैठक में पहुंचे ,,फिर बारां जाकर उन्होंने अलग अलग वर्ग ,,गुट के कोंग्रेसियो से मुलाक़ात की ,,उन्होंने बारां जिला कांग्रेस की ऐतिहासिक बैठक में कार्यकर्ताओं के मन की बात जानी ,, सुझाव लिए ,,,, रात्रि विश्राम के बाद वोह बुधवार को बकाया कार्यकर्ताओं से सुझाव लेकर ,,महारानी वसुंधरा सिंधिया ,मुख्यमंत्री के ग्रह ज़िले के गढ़ को भेदने का संकल्प लेकर कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का संचार करने झालावाड़ पहुंचेंगे ,,फिर रात्रि दिल्ली के लिए रवाना हो जायेंगे ,,अपने तीन दिन के अल्प इस कार्यक्रम में ,,तरुण कुमार अठारह साल के युवाओ सहित ,,अस्सी साल के अनुभवी कोंग्रेसियो से भी मिले ,,उन्होंने सभी जिलाध्यक्षो ,,प्रकोष्ठ के संभागीय अध्यक्षों ,,जिला अध्यक्षों ,,विभागों ,,यूथ कांग्रेस ,,महिला कांग्रेस ,, पदाधिकारियों के कार्यक्रमों को भांपा ,उनका अपनी पारखी निगाहो से जायज़ा लिया ,,मुस्कुराये , सुझाव दिए ,,ओजस्वी भाषण से कार्यकर्ताओं में शक्ती का संचार पैदा किया ,,बूथ वाइज़ ,,कार्यकर्ताओं ,,चुनावी प्रबंधन का जायज़ा लिया ,,और चमत्कारिक तरीके से कोटा संभाग के कार्यकर्ताओं में जीत का एक भरोसा ,,एक फार्मूला ,,एक उत्साह भरकर ,,फिर आऊंगा कहकर चले जाएंगे ,,तरुण कुमार की यह पहली यात्रा ,सभी कार्यकर्ताओं के लिए एक सबक़ ,,एक प्रशिक्षण ,एक चेतानवी साबित हुई ,,लेकिन अगली बार उनके इरादों में अनुशासन ,,क्रियाशील लोगो का जुड़ाव ,,निष्क्रियः लोगो की छटनी ,,का भी रहेगा ,,,तरुण कुमार का कांग्रेस में अपना अनुभव ,है ,,कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के नज़दीकी ,तरुणकुमार ,,छात्र जीवन से ही राजनीती से जुड़े है ,,उन्होंने दिल्ली छात्र संघ विद्यालय का चुनाव लड़ा वोह बेहिसाब वोटो से छात्रसंघ अध्यक्ष बने ,,उन्होंने ऍन एस यू आई को नयी ऊर्जा ,नयी शक्ती दी ,,तरुण कुमार ,ने दिल्ली की छात्रराजनीति में ऐतिहासिक बदलाव किये ,तरुण कुमार के आत्मविश्वास ,,धैर्य ,,संयम का ही नतीजा था ,,के उन्हें यूथ कांग्रेस की ज़िम्मेदारी मिली ,, इसी बीच वर्ष 2007 ,में तरुण कुमार को उत्तरी दिल्ली में कॉर्पोरेटर का चुनाव लड़ाया गया ,,तरुणकुमार की चुनावी रणनीति के चलते ,,भाजपा के गढ़ को ध्वस्त कर ,,तरुणकुमार बेहिसाब वोटों से जीते ,,तरुण कुमार अपने इस वार्ड के हज़ारो हज़ार वोटरों के बीच हर दिल अज़ीज़ है ,,विनम्रता ,हर सुख दुःख में साथी बने रहने की इनकी अपनी पहचान है ,,और इसलिए वर्ष 2012 के विकट हालातों में दिल्ली के कई वार्डो ,,कई चुनावों की ज़िम्मेदारी इन्हे मिलने से इस क्षेत्र में इनकी पत्नी श्रीमती प्रेरणा ,,को टिकिट दिया गया ,,काम बोलता है ,,विनम्रता जीतती है ,,और दूसरी बार फिर इनके इस वार्ड में निर्विवाद रूप से तरुणकुमार की प्रेरणा की जीत हुई ,,वर्तमान हालातो में चुनाव में फिर तरुण कुमार की पत्नी श्रीमती प्रेरणा को 2017 के चुनाव में टिकिट दिया गया ,,एक बार फिर लगातार हेटट्रिक की जयघोष के साथ इनकी रणनीति के आगे विरोधी आप ,,और भाजपा को धूल चाटना पढ़ी ,,फिर से तरुण की प्रेरणा इनके वार्ड में ज़िंदाबाद हुई ,,चौंकाने वाले परिणाम देना ,,,सुनिश्चित जीत की रणनीति ,,विनम्रता और धैर्य संयम से तैयार कर कामयाबी हांसिल करना तरुण का स्वभाव है ,,कोटा संभाग की इस अल्प सियासी यात्रा में तरुण कुमार ने ,कांग्रेस कार्यकर्ताओं में ऊर्जा फूंकी है ,,जीत का बिगुल बजाया है ,,कार्यकर्ताओं को इंसाफ मिलेगा ,,उनके साथ भेदभाव नहीं होगा ,,उन्हें भरोसा जताया है ,,उन्होंने कार्यकर्ताओं में संकेत दिये है के जो कांग्रेस का काम करेगा उसे सम्मान मिलेगा ,,लेकिन जो कार्यकर्ता पद लेकर सिर्फ बैठ जाएगा ,,उसे बाहर का रास्ता भी दिखाया जा सकता है ,,बहरहाल ,,तरुणकुमार की प्रभारी की हैसियत से यह पहली हाड़ोती कोटा संभाग की यात्रा ,,कांग्रेस की जीत की कुंजी ,,,कांग्रेस कार्यकर्ताओं में निराशा ,,गुटबाज़ी खत्मकर उत्साहवर्धन के साथ एक जुटता हाईकमान के प्रति एक भरोसा देने वाली रही है ,,कांग्रेस के परम्परागत वोट ,रूठे हुए दलित ,,अल्पसंख्यक ,,पिछड़े वोटर्स फिर से एक नए ,भरोसे ,नए आत्मविश्वास के साथ ,,तरुण कुमार की इस यात्रा के दौरान कांग्रेस की तरफ कांग्रेस ज़िंदाबाद की शपथ के साथ लोट आये है ,,,,,,तरुण कुमार की विनम्रता ,,मृदुल स्वभाव ,,इन्हे हरदिल अज़ीज़ बनाकर ज़िंदाबाद कर देता है ,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...