हमें चाहने वाले मित्र

07 जुलाई 2017

में महिला हूँ

में महिला हूँ ,,में इंद्रा हूँ ,में वीरांगना बनी ,दुर्गा बनी तो मुझे सम्मान मिला ,,फिर भी बेहूदा विचारधारा ने मुझे अपमान दिया ,,में महिला हूँ ,,में मीराकुमार हूँ ,,में अनुशासित निष्पक्ष बनी तो मुझे सम्मान मिला ,,,फिर भी मुझे बेहूदा विचारधारा से अपमान मिला ,,में ममता हूँ ,में महिला हूँ ,,मुझे देश में सम्मान मिला ,,फिर भी बेहूदा विचारधारा से मुझे अपमान मिला ,,में सोनिया हूँ ,,,मेने प्रधानमंत्री पद त्यागा ,,,देश के लिए पति खोया ,,सास खोयी ,,मुझे सम्मान मिला ,,फिर भी बेहूदा विचारधारा से मुझे अपमान मिला ,,में प्रियंका हूँ ,,मेने अपने वालिद को देश के लिए खोया ,,मेने अपनी दादी को देश के लिए खोया ,,देश ने मुझे सम्मान दिया ,,फिर भी बेहूदा विचारधारा से मुझे अपमान मिला ,,,में महिला हूँ ,,जसोदा बेन हूँ ,,मुझे त्याग समर्पण ,पतिव्रत्ता होने से सम्मान मिला ,,फिर भी बेहूदा विचारधारा ने मुझे छोड़ दिया ,,,,में महिला हूँ ,,,मेरे जिस्म को दरिंदो द्वारा नोचा जाता है ,मेरे इन्साफ के लिए लोग आगे आते है ,लेकिन फिर भी बेहूदा विचारधारा के लोग मुझ में मज़हब ढूंढते है ,, ,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...