हमें चाहने वाले मित्र

16 मई 2017

शलवार बाबा का अनशन

एक शलवार बाबा का अनशन था ,जो यूँ ही टूट गया ,,,एक शलवार वाले बाबा का अनशन का प्रण था जो मजबूरी में तोडना पढ़ा ,,एक कपिल मिश्रा का अनशन है ,,वोह भी ऐसे ही टूट गया ,,केजरीवाल न तो गिरफ्तार हुए ,,न उनकी सरकार गिरी ,,न उन्हें कॉलर पकड़ कर घसीटते हुए ,,तिहाड़ जेल ले जाया गया ,,,,फिर सी बी आई में मुक़दमे कैसे दर्ज होते है शायद ,साहिब और उनके यह कपिल मिश्रा नहीं जानते ,,,उसमे राज्य की सहमति की भी ज़रूरत होती है ,,साहिब ,,खेर जाँच तो जाँच है ,,सभी मामलों की जांच हो जाए ,,,कपिल सर के सभी मोबाइलों ,,लेंड लाइन टेलीफोनो ,,उनके घर के आस पास लगे सी सी टी वी केमरो और उनकी कार के जी पी आर एस ,,मोबाइल के टावरों ,,बातचीत की टेप सुनकर जांच करवाले ,,पोल तो सभी की खुल जायेगी ,,,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...