हमें चाहने वाले मित्र

04 मई 2017

भक्तजनो एक बार ,,अपने दिल पर हाथ रखकर ,राष्ट्रीयता की सोच के तहत ,,अपने आप से पूँछिये

भक्तजनो एक बार ,,अपने दिल पर हाथ रखकर ,राष्ट्रीयता की सोच के तहत ,,अपने आप से पूँछिये ,,पहले की सरकार में जब ,,फौजियों पर हमले होते थे ,,उनके सर काटे जाते थे ,तब एक बहादुर शख्स ,,आम लोगो से कहता था ,,यह लव लेटर लिखना बंद करो ,,जनता से इस बहादुर शख्स ने वायदा किया था ,,हमे चुनो ,,हमारी सरकार बनाओ ,,हम एक सैनिक के बदले ,,पकिस्तान के फौजियों के दस सर लाएंगे ,,मेरे दोस्तों ,,जनता ने इस जुमले को सच समझ कर कांग्रेस के मुक़ाबले में ,,एक बहादुर शख्स को चुना ,,जो पकिस्तान को लव लेटर लिखने के खिलाफ था ,,लेकिन किस उद्योगपति के इशारे पर उस उद्योपति को खुश करने के लिए यह बहादुर शख्सियत अचानक अफगानिस्तान से ,,पाकिस्तान साड़ी देने ,,बधाई देने ,,शरीफ के पास पहुंच गए ,,आखिर आज तक ,,हमारे कई दर्जन जवानो के क्षतविक्षिप्त ,,प्रताड़ित करने के बाद ,,हत्या कर फेंके गए शव मिले है ,,उनके मुक़ाबले में पाकिस्तान के कितने फौजियों को हमने मारा ,,उनक फौजियों के नाम क्या आप पूंछ कर बता सकते है ,,अगर आपने अंधभक्त होकर ,,राष्ट्रभक्ति त्याग कर ,,ऐसे शख्स की इबादत करने की ठान ली है ,,जिसने जो कहा वोह आज तक नहीं किया तो ,ठीक है ,,लेकिन अगर आप में एक फीसदी भी राष्ट्रीयता बाक़ी है तो खुद बिना गुस्से ,,बिना कुतर्क ,,बिना बेहूदगी ,,बिना इल्ज़ामात के ठंडे दिमाग से सोचे ,,और अपने इस बहादुर शख्स से पूंछे के आज तक इतनी पाकिस्तानी बेहूदगियों के बाद भी ,,पाकिस्तान और उसका नाम ,,विश्व के नक़्शे में कैसे है ,,क्यों पाक्सितान में भारत का खौफ नहीं है ,, क्यों पाकिस्तान के इतने हौसले बढे है ,जो हमारे सैनिकों के शवों पर भी वोह अत्याचार कर जानवरो जैसा सुलूक करते है ,आखिर हम पाकिस्तान को तबाह और बर्बाद करने की जगह देश को बिकाऊ मिडिया के ज़रिये ,,गोरक्षा ,आरक्षण ,, ट्रिपल तलाक़ ,,इस्लाम के सिद्धांतो के नाम पर ,,भटकाने की कोशिश कर रहे है ,,क्यों सिर्फ एक राष्ट्रिय मुद्दे पर ,,राष्ट्रभक्त एक जुट होकर ,,इस बहादुर शख्सियत से सवाल नहीं करते ,,,क्यों आखिर क्यों ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...